लक्ष्मी मूवी रिव्यू: जानिए कैसी है अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी की फिल्म

अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी की फिल्म 'लक्ष्मी' पिछले कई दिनों से लगातार सुर्खियों में रही है। फिर चाहे वो नाम को लेकर विवाद हो या फिर धमाकेदार पार्टी एंथम गानें.. । अब ये मूवी ऑनलाइन रिलीज हो गई है।

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Updated on: November 10, 2020 8:45 IST
laxmii movie review

अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी' रिलीज हो गई है

Photo:TWITTER
  • फिल्म रिव्यू: लक्ष्मी
  • स्टार रेटिंग: 2 / 5
  • पर्दे पर: nov 9, 2020
  • डायरेक्टर: राघव लॉरेंस
  • शैली: हॉरर/कॉमेडी

अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी की फिल्म 'लक्ष्मी' का फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। ये मूवी पिछले कई दिनों से लगातार सुर्खियों में रही है। फिर चाहे वो नाम को लेकर विवाद हो या फिर धमाकेदार पार्टी एंथम गानें.. । अब ये मूवी ऑनलाइन रिलीज हो गई है। आइये जानते हैं कि राधव लॉरेंस द्वारा निर्देशित ये फिल्म कैसी है और दर्शकों की कसौटी पर कितनी खरी उतरी है। 

कहानी

आसिफ (अक्षय कुमार) और रश्मि (कियारा आडवाणी) एक-दूसरे से प्यार करते हैं, लेकिन धर्म अलग होने की वजह से उन्हें मजबूरन भाग कर शादी करनी पड़ती है। दोनों हंसी-खुशी रह रहे होते हैं, लेकिन रश्मि कई सालों से अपने परिवार से नहीं मिली होती है। ऐसे में जब मां-बाप अपनी सिल्वर जुबली एनिवर्सिरी पर दोनों को घर बुलाते हैं तो वो बेहद खुश हो जाती है और यहीं से ही शुरू होती है असली कहानी।

आसिफ अपनी ससुराल जाते समय उस रास्ते पर चला जाता है, जहां उसे नहीं जाना था। इसके बाद उसकी पूरी जिंदगी ही बदल जाती है। आखिर ऐसा क्या होता है कि आसिफ का व्यवहार पूरी तरह से बदल जाता है.. और इसके बाद आसिफ के साथ क्या होता है.. इन सवालों के जवाब के लिए आपको फिल्म देखनी होगी। 

एक्टिंग

अक्षय की परफॉर्मेंस की बात करें तो फिल्म की कहानी उन्हीं के इर्द-गिर्द घूमती है। उन्होंने पहली बार स्क्रीन पर ट्रांसजेंडर का रोल अदा किया है। उनके हाव-भाव असरदार है। कियारा आडवाणी ने भी अपना किरदार सहजता से निभाया है। सबसे ज्यादा छाप शरद केलकर ने छोड़ी है। उन्हें स्क्रीन पर महज 5 मिनट का ही समय मिला होगा, लेकिन उनकी दमदार अदाकारी के आप कायल हो जाएंगे। 

जैसा कि सभी जानते हैं कि 'लक्ष्मी' तमिल फिल्म 'कंचना' की हिंदी रीमेक है। ऐसे में अगर आपने कंचना देखी है तो समझ जाएंगे कि लक्ष्मी में उसी कहानी को दोहराया गया है, लेकिन कुछ नयापन है। इसके बावजूद फिल्म में कई खामियां नज़र आएंगी। एक गाने 'बुर्ज खलीफा' के अलावा कोई दूसरा गाना याद नहीं रहेगा। कहानी कई बार अपने मुद्दे से भटकती नज़र आती है। दमदार डायलॉग्स की कमी खलेगी। 

वैसे तो लक्ष्मी का ट्रेलर देखकर आपको ऐसा लगा होगा कि ये हॉरर मूवी है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। इस फिल्म के जरिए समाज में संदेश पहुंचाने की पूरी कोशिश की गई है। अगर आप अक्षय के फैन हैं तो ही फिल्म देखें।