आज के बाद कभी नहीं फेकेंगे नींबू के छिलके, आर्थराइटिस समेत इन रोगों का छिपा है इलाज

नींबू के छिलकों में नींबू के रस से 10 गुना तक ज्यादा विटामिन C पाया जाना और तो और इसमें कैल्शियम का पाया जाना इसे बेहद खास बनाता है।

Jyoti Jaiswal Written By: Jyoti Jaiswal @@TheJyotiJaiswal
Updated on: August 15, 2022 16:40 IST
नींबू के छिलके के फायदे- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV नींबू के छिलके के फायदे

Highlights

  • नींबू के छिलकों का पाउडर आप हर रोज सेवन कर सकते हैं
  • नींबू के छिलकों को धूप में सुखाकर उसे कूटकर पाउडर बना लें

नींबू के फायदों के बारे में हमने खूब सुना है, लेकिन क्या आप नींबू के छिलकों के फायदे के बारे में जानते हैं। नींबू के जूस में खूब विटामिन C पाया जाता है, ये हम सभी जानते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं नींबू के रस से 10 गुना ज्यादा विटामिन C नींबू के छिलकों में पाया जाता है। हमारे देश के कई ग्रामीण इलाकों में तो बाकायदा नींबू के छिलकों को सुखाकर मुखवास (Mouth Freshener) बनाए जाते हैं, ताज़े छिलकों का अचार भी बेहतरीन बनता है और पारंपरिक तौर से कई स्वास्थ्य समस्याओं में नींबू के छिलकों से बने मुखवास या अचार को खिलाकर रोगी को चंगा किया जाता है। कई हर्बल जानकार तो नींबू के छिलकों को सुखाकर सरसों के तेल में गर्म करके 'नींबू का तेल' बनाते हैं और इस तेल को पिंडलियों के खिंचाव, जोड़ दर्द और कमर दर्द होने पर मालिश के लिए दिया जाता है। वैज्ञानिक और हर्बल मेडिसिन एक्सपर्ट दीपक आचार्य ने नींबू के छिलकों के वैज्ञानिक तथ्यों की जानकारी हमें दी हैं। 

नींबू के छिलकों में नींबू के रस से 10 गुना तक ज्यादा विटामिन C पाया जाना और तो और इसमें कैल्शियम का पाया जाना इसे बेहद खास बनाता है। छिलकों में फाइबर्स, पोटेशियम, मैग्नीशियम और बीटा कैरोटीन भी पाए जाते हैं। विटामिन C की अधिकता और कैल्शियम की वजह से ना सिर्फ हड्डियों की सेहत बेहतर होती है बल्कि आर्थराइटिस, जोड़ दर्द और कमर दर्द कम करने में भी ये काफी मददगार साबित होते हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि नींबू के छिलके रह्यूमेटोइड आर्थराइटिस में काफी असरकारक हैं। एक 'रैट मॉडल' क्लीनिकल स्टडी की बात करनी जरूरी है। जर्नल ऑफ ताईवान इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल इंजीनियर्स में सन 2018 में एक रिसर्च स्टडी छपी और बताया गया कि नींबू के छिलके जैंथाइन ऑक्सीडेज और साइटोकाइन इन्फ्लेमेशन को काफी हद तक रोकने में सफल होते हैं, ये दोनों इस आर्थराइटिस के प्रमुख कारक भी हैं। यह क्लीनिकल स्टडी ये भी बताती है कि यूरिक एसिड के निर्माण को बैलेंस करने में भी नींबू के छिलके बेहद कारगर हैं। ऐसे कई रिसर्च पेपर्स हैं जो नींबू के छिलकों की वाहवाही करते मिलेंगे। हालांकि जिस स्टडी का जिक्र यहां हुआ है वो एक एनिमल मॉडल स्टडी है, लेकिन ये बात तो तय है कि इसको आजमाने में कोई चिंता की बात नहीं। सदियों से हिंदुस्तान नींबू के छिलकों का अचार खा रहा है, छिलकों को कई अलग अलग तरीकों से खाया जाता रहा है। 

Cholesterol Diet: कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर इन हेल्दी चीज़ों को खाएं और इन फ़ूड आइटम से करें परहेज, देखें लिस्ट

नींबू के छिलकों में पाया जाता है विटामिन C

नींबू के छिलकों के फायदे

Image Source : PIXABAY
नींबू के छिलकों के फायदे

Angioplasty: जानें क्यों हुई राजू श्रीवास्तव की तीन बार एंजियोप्लास्टी? आप भी हो जाएं सावधान, रखें इन बातों का ध्यान

कैसे करें नींबू के छिलकों का सेवन

बहुत से हर्बल एक्सपर्ट्स नींबू के छिलकों को जोड़ दर्द के लिए बतौर फॉर्मूला आजमाते हैं। तो अब से आपको छिलकों को डस्टबिन में नहीं डालना है बल्कि इन्हें धूप में सुखा लें, जब ये पूरी तरह से सूख जाएं और नमी दूर हो जाए तो कूटकर पाउडर बना लें। रोज एक-एक चम्मच सुबह शाम पानी के साथ लें। इसे खाने से पहले या बाद में लिया जा सकता है, सिर्फ 20 दिन में आपको इसका फायदा दिखेगा।

Uric Acid: यूरिक एसिड मरीजों के लिए बेहद कारगर हैं तुलसी की पत्तियां, जानें इस्तेमाल का सही तरीका

(ये आर्टिकल विशेषज्ञ की देखरेख में लिखा गया है, लेकिन किसी भी उपाय को अपनाने से पहले अपने चिकित्सिक से बात करें।)

Latest Health News

navratri-2022