1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. 'विधवा महिला समृद्धि योजना' के तहत सरकार दे रही है 5 लाख रुपये? क्या है सच्चाई

'विधवा महिला समृद्धि योजना' के तहत सरकार दे रही है 5 लाख रुपये? क्या है सच्चाई

सरकार ने वायरल हो रही इस वीडियो की सच्चाई के बारे में जानकारी दी है। सरकार के twitter हैंडल PIB Fact Check ने इस वीडियो को फर्जी बताया है और कहा है कि वर्तमान में सरकार ऐसी या इससे मिलती जुलती कोई भी योजना नहीं चला रही है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: December 11, 2020 13:19 IST
pradhan mantri vidhwa samriddhi yojana fake viral youtube video PIB fact check । 'विधवा महिला समृद्ध- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV 'विधवा महिला समृद्धि योजना' के तहत सरकार दे रही है 5 लाख रुपये? क्या है सच्चाई

नई दिल्ली. सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ न कुछ फेक कंटेंट वायरल होता रहता है। जिसपर लोग विश्वास भी कर लेते हैं। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो के स्क्रीन शॉट और इस वीडियो का लिंक जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार 'विधवा महिला समृद्धि योजना' के तहत सभी विधवा महिलाओं के बैंक खाते में 5 लाख रुपये की नकद राशि एवं फ्री सिलाई मशीन दे रही है। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है और लोग इस योजना के बारे में न सिर्फ इंटरनेट पर सर्च कर रहे हैं बल्कि अपने स्थानीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को भी संपर्क कर रहे हैं।

सरकार ने वायरल हो रही इस वीडियो की सच्चाई के बारे में जानकारी दी है। सरकार के twitter हैंडल PIB Fact Check ने इस वीडियो को फर्जी बताया है और कहा है कि वर्तमान में सरकार ऐसी या इससे मिलती जुलती कोई भी योजना नहीं चला रही है।

पढ़ें- Aadhaar Card Center: आप भी खोल सकते हैं आधार कार्ड सेंटर, अच्छी है कमाई, जानिए पूरी प्रक्रिया

PIB Fact Check ने ट्वीट कर कहा, "दावा: एक #Youtube वीडियो में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार 'विधवा महिला समृद्धि योजना' के तहत सभी विधवा महिलाओं के बैंक खाते में 5 लाख रुपये की नकद राशि एवं फ्री सिलाई मशीन दे रही है। #PIBFactcheck: यह दावा फर्जी है। केंद्र सरकार द्वारा ऐसी कोई योजना नहीं चलाई जा रही है।"

पढ़ें- Aadhaar Card Update: आधार कार्ड में अपडेट करवाना है नाम, पता या उम्र? जानिए कौन से documents की पड़ेगी जरूरत

फर्जी खबरों के बारे में जागरुक करता है PIB Fact Check

आपको बता दें कि PIB Fact Check अपने ट्वीट्स के माध्यम से लोगों को इंटरनेट व सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फर्जी खबरों के बारे में जागरुक करता है। कुछ ही दिनों पहले सोशल मीडिया पर हजरत निज़ामुद्दीन रेलवे स्टेशन का नाम बदले जाने से संबंधित पोस्टें जमकर वायरल हुई थीं, जिन्हे पीआईबी फैक्ट चेक ने फर्जी बताया था।

पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट कर कहा, ""सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पोस्ट मे दावा किया जा रहा है कि भारतीय रेलवे ने हज़रत निज़ामुद्दीन रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर अब "महाराणा प्रताप एक्सप्रेशन" कर दिया है। PIBFactCheck: यह दावा फर्जी है। रेल मंत्रालय ने ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया है।"

Click Mania
bigg boss 15