1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. इंडियन नेवी के युद्धपोत INS Ranvir पर ब्लास्ट, नौसेना के 3 कर्मी शहीद, कई घायल

इंडियन नेवी के युद्धपोत INS Ranvir पर ब्लास्ट, नौसेना के 3 कर्मी शहीद, कई घायल

बयान में कहा गया, आईएनएस रणवीर नवंबर 2021 से पूर्वी नौसैन्य कमान से क्रॉस कोस्ट अभियान तैनाती पर था और जल्द ही बेस पोर्ट पर लौटने वाला था।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 18, 2022 23:28 IST
ins ranvir news, ins ranvir mishap, ins ranvir explosion ins ranvir accident- India TV Hindi
Image Source : INDIAN NAVY मुंबई में नौसैन्य डॉकयार्ड में भारतीय नौसेना के जहाज INS Ranvir में हुए ब्लास्ट में नौसेना के 3 कर्मी शहीद हो गए।

Highlights

  • बयान में कहा गया, आईएनएस रणवीर नवंबर 2021 से पूर्वी नौसैन्य कमान से क्रॉस कोस्ट अभियान तैनाती पर था।
  • नौसेना ने कहा कि इस घटना के कारणों की जांच के लिए एक ‘बोर्ड ऑफ इंक्वायरी’ का आदेश दिया गया है।
  • घटना पर दुख जताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने जान गंवाने वाले नौसैनिकों के परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

मुंबई: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में नौसैन्य डॉकयार्ड में भारतीय नौसेना के जहाज INS Ranvir में मंगलवार को हुए ब्लास्ट में नौसेना के 3 कर्मी शहीद हो गए। भारतीय नौसेना ने बयान में कहा, ‘मुंबई नौसैन्य डॉकयार्ड में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में, आईएनएस रणवीर के एक आंतरिक कक्ष में विस्फोट के कारण नौसेना के तीन कर्मियों की मौत हो गई।’ इसमें कहा गया कि जहाज के चालक दल ने तुरंत प्रतिक्रिया दी और जल्दी ही स्थिति को नियंत्रण में कर लिया। बयान में कहा गया है कि किसी बड़े नुकसान की खबर नहीं है।

जल्द ही बेस पोर्ट पर लौटने वाला था आईएनएस रणवीर

बयान में कहा गया, ‘आईएनएस रणवीर नवंबर 2021 से पूर्वी नौसैन्य कमान से क्रॉस कोस्ट अभियान तैनाती पर था और जल्द ही बेस पोर्ट पर लौटने वाला था।’ घटना में जहाज को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा है और अब स्थिति नियंत्रण में है। नौसेना ने कहा कि इस घटना के कारणों की जांच के लिए एक ‘बोर्ड ऑफ इंक्वायरी’ का आदेश दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस विस्फोट में घायल हुए 11 नाविकों का स्थानीय नौसैनिक अस्पताल में इलाज चल रहा है।


घटना पर राहुल गांधी ने जताया दुख
घटना पर दुख जताते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने जान गंवाने वाले नौसैनिकों के परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। राहुल गांधी ने एक ट्वीट में कहा, 'आईएनएस रणवीर में विस्फोट की खबर बेहद दुखद है। अपनी जान गंवाने वाले नौसेना के नाविकों के परिजनों और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदनाएं। मैं घायलों के शीघ्र और पूर्ण स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

1986 में नौसेना में शामिल हुआ था आईएनएस रणवीर
बता दें कि 5 राजपूत श्रेणी के विध्वंसकों में से चौथा आईएनएस रणवीर 28 अक्टूबर 1986 को भारतीय नौसेना में शामिल हुआ था। इस जहाज पर 30 अधिकारी और 310 नाविक तैनात रहते हैं। यह युद्धपोत कई खतरनाक हथियारों और सेंसर्स से लैस है जिनमें सतह से सतह एवं सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें, विमान भेदी एवं मिसाइल रोधी बंदूकें और टारपीडो और पनडुब्बी रोधी रॉकेट लांचर शामिल हैं।

erussia-ukraine-news