1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. गिनती भूल गया हूं, याद नहीं कितनी बार पड़ चुकी है रेड: CBI छापे पर बोले कार्ति चिदंबरम

Raid on Chidambaram home: सीबीआई छापे पर बोले कार्ति चिदंबरम- गिनती भूल गया हूं, याद नहीं कितनी बार पड़ चुकी है रेड

नए मामले में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि कार्ति चिदंबरम को यूपीए सरकार के दौरान 250 चीनी नागरिकों को वीजा दिलाने के लिए कथित तौर पर 50 लाख रुपये की रिश्वत मिली थी।

Khushbu Rawal Written by: Khushbu Rawal @khushburawal2
Published on: May 17, 2022 15:44 IST
Karti Chidambaram - India TV Hindi
Image Source : PTI Karti Chidambaram

Highlights

  • चिदंबरम के 9 ठिकानों पर CBI की छापेमारी
  • बेटे कार्ति चिदंबरम पर रिश्वत लेने का आरोप
  • कार्ति चिदंबरम ने ट्वीट कर कसा सीबीआई पर तंज

Raid on Chidambaram home: मंगलवार सुबह जैसे ही देश भर में कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) के परिसरों पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की छापेमारी शुरू हुई, कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने एजेंसी पर तंज कसते हुए कहा कि अब उन्हें ये याद भी नहीं है कि कितनी रेड पड़ चुकी है, लगता है एक रिकॉर्ड बनाना पड़ेगा। उन्होंने ट्वीट किया, "मैं तो गिनती भी भूल गया हूं, कितनी बार ऐसा हो चुका है? इसका एक रिकॉर्ड होना ही चाहिए।"

चिदंबरम के 9 ठिकानों पर छापा

CBI कांग्रेस नेता कार्ति चिदंबरम और उनके पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम के 9 ठिकानों पर छापेमारी कर रहा है। जानकारी के अनुसार अवैध रिश्वत के लिए जारी चीनी वीजा के ताजा मामले में संघीय जांच एजेंसी ओडिशा, मुंबई, कर्नाटक, दिल्ली और चेन्नई में छापेमारी कर रही है।

'कार्ति चिदंबरम ने ली 50 लाख रुपये की रिश्वत'
एक सूत्र ने कहा कि नया मामला जिसमें छापे मारे जा रहे हैं, विदेशी प्रेषण और कंपनियों से संबंधित है, और कुछ दिन पहले दर्ज किया गया था। सौदा 2010-2014 में हुआ था। इस अवधि के दौरान चिदंबरम के निर्देश पर धन प्राप्त किया गया था और विदेश में भेजा गया था। यह आरोप लगाया गया है कि वरिष्ठ चिदंबरम ने कथित तौर पर नियमों की धज्जियां उड़ाकर कुछ चीनियों को वीजा दिलाने में मदद की। पंजाब में एक प्रोजेक्ट चल रहा था जिसके लिए दिग्गज नेता ने उन्हें वीजा दिलाने में मदद की थी।

नए मामले में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि कार्ति चिदंबरम को यूपीए सरकार के दौरान 250 चीनी नागरिकों को वीजा दिलाने के लिए कथित तौर पर 50 लाख रुपये की रिश्वत मिली थी। आईएनएक्स मीडिया के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) की मंजूरी पाने के लिए वह पहले से ही जांच के दायरे में हैं।