PM Modi's Birthday and Top Decision: पीएम मोदी के वे बड़े फैसले जिसने भारत को बना दिया विश्वगुरु, अब दुनिया ठोक रही सलाम

PM Modi's Birthday and Top Decision: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 72वां जन्म दिन मनाया जा रहा है। आज उनकी गणना देश के सबसे ताकतवर और कड़े निर्णय लेने वाले प्रधानमंत्रियों में सबसे ऊपर होने लगी है। वह अब तक के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री बन चुके हैं।

Dharmendra Kumar Mishra Written By: Dharmendra Kumar Mishra
Updated on: September 18, 2022 6:21 IST
PM Modi's Birthday- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV PM Modi's Birthday

Highlights

  • देश में नोटबंदी, जीएसटी और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर दिखाई ताकत
  • आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया से भारत को बनाया दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था
  • कोरोना महामारी में देश में खुद वैक्सीन बनवाई और दूसरे देशों की भी जान बचाई

PM Modi's Birthday and Top Decision: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 72वां जन्म दिन मनाया जा रहा है। आज उनकी गणना देश के सबसे ताकतवर और कड़े निर्णय लेने वाले प्रधानमंत्रियों में सबसे ऊपर होने लगी है। वह अब तक के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री बन चुके हैं। उनकी लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि लगातार दूसरी बार वह प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बहुमत के साथ बैठे। इतना ही नहीं उन्हें वर्ष 2014 के मुकाबले 2019 में अधिक सीटें हासिल हुईं।

बतौर प्रधानमंत्री अभी उनके कार्यकाल को सिर्फ आठ वर्ष ही हुए हैं, लेकिन इस दौरान उन्होंने कुछ ऐसे फैसले लिए जिससे कि वे भारत के ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के सबसे लोकप्रिय और ताकतवर नेता बन बैठे। अब पूरी दुनिया भारत को फिर से विश्वगुरु के तौर पर देखने लगी है। आइए आपको बताते हैं पीएम मोदी के कुछ चर्चित और साहस भरे फैसले जिसने दुनिया में लिख दिया इतिहास का एक नया अध्याय.... और पूरी दुनिया मानने लगी पीएम मोदी का लोहा।

नोटबंदी

नोटबंदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सबसे बड़ा और सख्त फैसला था। सूत्र बताते हैं कि नोटबंदी से पहले विशेषज्ञों ने उन्हें सुझाया था कि नोटबंदी के बाद अगर हालात नहीं संभले तो जनता सड़क पर आ सकती है और सरकार गिर सकती है। विशेषज्ञों ने यह भी बताया था कि नोटबंदी नहीं हुई तो आने वाले समय में देश बर्बादी की राह पर जा सकता है। इसलिए नोटबंदी करना जितना अधिक कठिन है, उससे कहीं ज्यादा देश के लिए जरूरी भी। इस पर पीएम मोदी का जवाब था कि अगर नोटबंदी से देश को बर्बाद होने से बचाया जा सकता है तो मैं अपनी कुर्सी गवांना पसंद करूंगा। इसके बाद आठ नवंबर 2016 को रात आठ बजे उन्होंने टीवी पर आकर अचानक नोटबंदी का ऐलान कर दिया। इससे पूरे देश में तहलका मच गया। कालेधन की कमर टूट गई। जनता पैसों के लिए कई दिनों तक एटीएम की लाइन में लगने लगी। मगर पीएम मोदी की अपील पर देश संभल गया।

पाकिस्तान पर सर्जिकल और एअर स्ट्राइक
भारत में घुसपैठ करने और आतंकवाद फैलाने के खिलाफ भारतीय सेना ने 29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में बनाए गए आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया। इस दौरान 40 से 60 आतंकवादी मारे गए। वहीं इसके बाद पाकिस्तानी आतंकवादियों ने 14 फरवरी 2019 में कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप पर हमला कर 40 जवानों की जान ले ली। इसके बदले में भारत ने 26 फरवरी की रात करीब तीन बजे फाइटर जेट से बालाकोट स्थित आतंकी ठिकानों पर बमवर्षा करके उसे नष्ट कर दिया। इसमें करीब 300 आतंकी मारे गए।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया
पीएम मोदी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटा दिया गया। इससे कश्मीर को प्राप्त विशेष प्रावधान खत्म हो गए। वह भी भारत के अन्य राज्यों की तरह ही हो गया, जहां केंद्र सरकार के सभी कानून और नियम लागू होने लगे। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग राज्य बना दिया। पाकिस्तान ने अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र से शिकायत करके इस मसले पर भारत पर दबाव बनाना चाहा, लेकिन पीएम मोदी ने इसे आंतरिक मसला बताकर किसी भी देश का हस्तक्षेप मानने से इंकार कर दिया।

कोरोना के खिलाफ वैक्सीन
जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही थी और विश्व स्वास्थ्य संगठन भारत के स्वास्थ्य ढांचे की कमजोरी को देखकर सर्वाधिक मौतों की आशंका को लेकर चिंतित था तो उस वक्त पीएम मोदी ने आनन-फानन में न सिर्फ देश के स्वास्थ्य ढांचे में सुधार किया, बल्कि कोरोना के खिलाफ वैक्सीन तैयार करने के लिए भी वैज्ञानिकों को प्रेरित किया। भारत इस दौरान दूसरे देशों पर निर्भर न रहकर खुद अपनी मुसीबतों से लड़ा। अपने लिए वैक्सीन बनाई और दूसरे देशों की भी इससे जान बचाई। अब तक देश में 200 करोड़ से अधिक डोज वैक्सीन लगाई जा चुकी है। इससे भारत की ताकत का पूरे विश्व को अंदाजा हो गया।

सेना को बनाया ताकतवर
भारत का रक्षा बजट वर्ष 2014 में जहां 2.3 लाख करोड़ था। वह अब बढ़कर दूने से भी अधिक 5.23 लाख करोड़ हो चुका है। सेना को अब राफेल जैसे लड़ाकू विमानों और आइएनएस विक्रांत व विक्रमादित्य जैसे युद्धपोतों से लैस कर दिया गया है। इसके साथ ही लगातार अत्याधुनिक देशी गाइडेड मिसाइलें, रडार इत्यादि सेना में शामिल हो रहे हैं। इससे सेना का हौसला बढ़ा है। तकनीकी में भी भारत दुनिया से कदमताल कर रहा है।

India's Power

Image Source : INDIA TV
India's Power

चीन को दिया मुंहतोड़ जवाब

वर्ष 2020 में पूर्वी लद्दाख के डोकलॉम स्थित गलवान घाटी में जब चीनी सैनिक भारत से भिड़ गए तो देश झुका नहीं। हमारे 20 जवान इस झड़प में शहीद हुए और चीन के करीब 60 जवान। यह बात अलग है कि चीन ने इसे छुपाए रखा। उसके बाद पीएम मोदी ने चीन को यह संदेश दिया कि अगर वह पीछे नहीं हटता है तो भारत इसका कड़ा जवाब देगा। इसके बाद चीन के सैनिक विवादित क्षेत्र से पीछे हट गए।

क्वाड से भारत की बढ़ी अहमियत

भारत ने अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापान के साथ मिलकर क्वाडिलेट्रल सिक्योरिटी डायलॉग (क्वाड) का गठन किया। यह दुनिया के चार सबसे ताकतवर देशों का संगठन है। जो अंतरराष्ट्रीय मामलों सुरक्षा, सहयोग और विकास व आतंकवाद के खिलाफ तैयार किया गया है। देखते ही देखते इस संगठन ने पूरी दुनिया में महत्वपूर्ण मुकाम हासिल कर लिया है। यह पश्चिमी देशों में बने नाटो जैसा ताकतवर संगठन है। इससे चीन और पाकिस्तान को भी जलन हो रही है।

PM Modi's Big Decision

Image Source : INDIA TV
PM Modi's Big Decision

स्वतंत्र विदेश नीति
अपने मजबूत नेतृत्व, दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था के चलते ही पीएम मोदी ने अपने करिश्माई व्यक्तित्व से स्वतंत्र विदेश नीति को अपनाया है। इससे भारत अब पूरी दुनिया को दिशा दे रहा है। आज भारत की छवि ग्लोबल लीडर की बन चुकी है। वह किसी देश का पिछलग्गू नहीं है। बल्कि अपना स्थान अपना फैसला खुद बिना किसी दबाव में आए लेने की क्षमता रखता है। रूस-यूक्रेन युद्ध से पहले चीन को लगता था कि भारत का झुकाव अमेरिका और पश्चिमी देशों की तरफ ज्यादा है। मगर जब रूस से तेल और गैस न लेने का अमेरिका ने दबाव बनाया तो भारत ने साफ कह दिया कि इस मामले में हम रूस के साथ हैं। क्योंकि हमारी अपनी ऊर्जा जरूरतें हैं। यह देख चीन को समझ आ गया कि ऐसा कहने की हिम्मत करके भारत ने खुद को अकेला चलने का साहस दिखला दिया है। जिसकी किसी भी देश पर निर्भरता नहीं है। भारत ने पश्चिम में अमेरिका सहित पूर्व में रूस, ईरान, ईराक जैसे देशों में बेहतर पकड़ और अच्छी छवि बनाई है। अपने इन्हीं संबंधों, फैसलों और नीतियों के चलते भारत आज दुनिया के मजबूत देशों में शुमार है। वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अब मजबूत दावेदार भी हो चुका है।

डिजिटल क्रांति

पीएम मोदी ने अब देश में डिजिटल क्रांति को गति देने के लिए 5 जी सेवा की ओर कदम बढ़ा दिया है। दिवाली तक यह सेवा देश के कई बड़े शहरों से शुरू हो जाएगी। इससे पहले शहर-शहर और गांव-गांव तक ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाकर पूरे देश को डिजिटल क्रांति का हिस्सा बनाया। यही वजह है कि भारत में डिजिटल क्रांति के चलते व्यापार और लेनदेन में सुरक्षा और तेजी का एहसास पूरे देशवासियों को हो रहा है। आने वाले समय में यह डिजिटल क्रांति शिक्षा, चिकित्सा और व्यापार के क्षेत्र में भारत को एक नया आयाम देगी।

वन रैंक वन पेंशन
वन रैंक वन पेंशन फौजियों से जुड़ी ऐसी समस्या और मांग थी, जिस पर 40 वर्षों से कोई फैसला नहीं हुआ था, लेकिन देश में मोदी सरकार बनने के बाद इस समस्या का भी निराकरण कर दिया गया। इसके तहत अब अलग-अलग समय पर सेवानिवृत्त होने वाले एक ही रैंक के फौजियों को पेंशन की राशि भी एक समान मिलेगी।

जीएससटी
प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में टैक्स का सरलीकरण करते हुए जुलाई 2017 में पूरे देश में एक समान वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) कानून को लागू किया गया। इससे व्यापारियों को व्यापार करना आसान हो गया। टैक्स चोरी कम हो गई।

प्रधानमंत्री जनधन योजना
प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 15 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री मोदी ने लालकिले की प्राचीर से देश को पहली बार संबोधित करते हुए इस योजना का एलान किया। इसके तहत सभी परिवारों विशेष रूप से गरीब और आर्थिक रूप से पिछड़ों का बैंक में जीरो बैलेंस खाता खोलवाया। इसके तहत देश भर में अब तक 46 करोड़ से अधिक खाते खोले जा चुके हैं। प्रत्येक जनधन एटीएम कार्ड धारक को दो लाख रुपये का बीमा कवर मुफ्त है।

आयुष्मान भारत योजना
प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना की शुरुआत 23 सितंबर 2018 को किया। इसके तहत गरीब परिवारों को एक वर्ष में पांच लाख रुपये तक का इलाज मुफ्त करवाने की सुविधा है। स्वस्थ भारत की दिशा में यह बहुत बड़ा कदम साबित हो रहा है।  

पीएम किसान सम्मान निधि योजना
पीएम मोदी ने इस योजना की शुरुआत एक दिसंबर 2018 से की। इसके तहत दो हेक्टेयर से कम जमीन वाले किसानों को सरकार प्रति वर्ष तीन किश्तों में छह हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध करवा रही है।

उज्जवला योजना
इस योजना का आगाज पीएम मोदी ने एक मई 2016 से किया। इसके तहत गरीब परिवारों की महिलाओं को मुफ्त गैस सिलिंडर और चूल्हे दिए गए। ताकि उन्हें धुएं से मुक्त किया जा सके। अब तक करोड़ों महिलाओं को इस योजना का लाभ दिया जा चुका है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
कोरोना महामारी के दौरान हुए लॉकडाउन में लोगों का कामकाज तीन से चार महीने तक पूरी तरह ठप हो गया। इसके बाद भी बीच-बीच में लॉकडाउन लगता रहा। इससे गरीब परिवारों के सामने रोटी का संकट आ गया। तब पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना चलाई। इसमें प्रति महीने राशन, तेल, रिफाइंड, चना इत्यादि गरीब परिवारों को मुफ्त दिया जाता है। यह खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आता है। इससे कोई भुखमरी का शिकार नहीं होने पाया।

प्रधानमंत्री आवास योजना
पीएम मोदी ने प्रत्येक देशवासियों को पक्का घर उपलब्ध कराने के इरादे से वर्ष 2015 में इस योजना की शुरुआत की। इसके तहत सभी गरीबों और जरूरतमंदों को पक्का मकान उपलब्ध कराया जा रहा है। पीएम आवास योजना में पंजीकृत फ्लैट खरीदने वाले मध्यम परिवारों को भी 2.67 लाख रुपये की छूट दी जा रही है।

प्रधानमंत्री जीवनज्योति और सुरक्षा बीमा योजना
देश के हर नागरिक को जीवन बीमा के दायरे में लाने के लिए पीएम मोदी ने वर्ष 2015 में ही इस गरीब कल्याणकारी योजना की शुरुआत की। इसके तहत 330 रुपये वर्ष में देकर दो लाख रुपये का सुरक्षा कवर प्राप्त किया जा सकता है। हालांकि अब 436 रुपये पर दो लाख का बीमा कवर है।

पीएम मुद्रा योजना
पीएम मोदी ने इस योजना का आगाज भी वर्ष 2015 में ही आठ मई को किया था। इसके तहत 10 लाख रुपये तक का लोन लघु, कुटीर या सूक्ष्म उद्योग शुरू करने के लिए बिना गारंटी दिया जाता है। इसने देश में स्टार्टअप को बहुत बढ़ावा दिया। इसमें लाभ लेने की कई श्रेणियां हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
पीएम मोदी ने जनवरी 2015 में सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की। इसके तहत 10 वर्ष से कम आयु वाली बच्चियों का खाता खोलवाया जा सकता  है। मामूली प्रीमियम में 18 से 21 वर्ष बाद यह अच्छा रिटर्न देने वाली योजना है। इससे बेटी की शादी और पढ़ाई आसानी से हो सकेगी। साथ ही उन्होंने बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ अभियान को भी देश में गति दी।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना
असंगठित क्षेत्र के कामगारों के जीवन को खुशहाल बनाने के लिए यह योजना शुरू की गई है। इसमें कामगारों को 60 वर्ष बाद 3000 रुपये की मासिक पेंशन देने की योजना है। 18 से 40 वर्ष की उम्र वाले कामगार इस योजना में 55 रुपये से 200 रुपये मासिक तक अंशदान करके इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

वन नेशन वन राशन कार्ड
पीएम मोदी ने देश में राशन कार्ड धारकों की मुश्किलों को देखते हुए वन नेशन वन राशन कार्ड योजना की शुरुआत की। इसके तहत एक ही राशन कार्ड से व्यक्ति देश के जिस भी राज्य में रहे वहीं महीने में एक बार राशन ले सकता है। इस योजना ने गरीबों की जिंदगी को बेहद आसान बना दिया।

PM Modi's Scheme for Nation

Image Source : INDIA TV
PM Modi's Scheme for Nation

राममंदिर की नींव और काशी विश्वनाथ कोरिडोर
पीएम मोदी ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अयोध्या में बहु प्रतीक्षित श्रीराम मंदिर की पांच अगस्त 2020 को नींव रखी। इसके साथ ही वाराणसी में बाबा विश्वनाथ कोरिडोर को वर्ष 2022 में जनता को समर्पित कर शिव भक्तों का दिल जीत लिया।

तीन तलाक कानून
एक बार में तीन तलाक बोलकर प्रतिवर्ष लाखों मुस्लिम महिलाओं की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा था। मगर पीएम मोदी ने 19 सितंबर 2018 को इसके खिलाफ कानून लाकर इसे असंवैधानिक करार दे दिया। इससे मुश्लिम महिलाओं की जिंदगी काफी हद तक बर्बाद होने से बचने लगी।

सीएए-एनआरसी
पीएम मोदी के नेतृत्व में 10 जनवरी 2020 को नागरिकता संशोधन अधिनियम लागू किया गया। इससे भारत के पड़ोसी देश से आने वाले गैर मुस्लिम प्रवासियों को देश की नागरिकता देने का प्रावधान किया गया।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक
पीएम मोदी ने देश के शहीदों को सम्मान देने के लिए इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति के पास राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बनवाया। यहां शहीद जवानों की बीरगाथा लिखी गई है। साथ ही यहां आजादी के नायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण किया। इससे पहले गुजरात में सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंची देश व दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा लगवाई। जो देश में एकता और अखंडता का संदेश दे रही है।

स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत अभियान
पीएम मोदी ने देश में महात्मा गांधी के सपने को पूरा करने के लिए उनके जन्मदिन के मौके पर दो अक्टूबर 2014 से स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत योजना की शुरुआत की। इससे देश में एक नई क्रांति पैदा हो गई। अब देश धीरे-धीरे स्वच्छता और स्वस्थता की ओर बढ़ने लगा है।

स्टार्टअप और मेक इन इंडिया
पीएम मोदी ने 25 सितंबर 2014 को मेक इन इंडिया योजना की शुरुआत की। इसके बाद देश में नए-नए स्टार्टअप शुरू हुए। अब देश में 70 हजार से अधिक स्टार्टअप और 100 सफल यूनिकॉर्न हैं। इससे भारत देखते ही देखते विश्व की पांचवीं बड़ी अर्थ व्यवस्था बन बैठा। मेक इन इंडिया से भारत आत्मनिर्भर होने की देश में आगे बढ़ा। अब भारत सेना की जरूरतों के हथियार तक खुद बनाने लगा है। साथ ही वह दूसरे देशों को एक्सपोर्ट भी करने लगा है। यह देश पाकिस्तान और चीन समेत अमेरिका तक हैरान है।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन