Rajasthan Police: जालोर जा रहे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर को पुलिस ने जोधपुर में हिरासत में लिया

Rajasthan Police: जालोर में कथित रूप से शिक्षक की पिटाई से मरे दलित छात्र के परिजनों से मिलने जा रहे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को मंगलवार शाम पुलिस ने जोधपुर हवाई अड्डे पर रोक लिया और लगभग तीन घंटे तक हिरासत में रखा।

Pankaj Yadav Edited By: Pankaj Yadav
Published on: August 17, 2022 23:42 IST
Chandrashekar Azad- India TV Hindi News
Chandrashekar Azad

Rajasthan Police: जालोर में कथित रूप से शिक्षक की पिटाई से मरे दलित छात्र के परिजनों से मिलने जा रहे भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को मंगलवार शाम पुलिस ने जोधपुर हवाई अड्डे पर रोक लिया और लगभग तीन घंटे तक हिरासत में रखा। पुलिस के अनुसार, जालोर नहीं जाने का आश्वासन देने के बाद आजाद को शाम 7.30 बजे हवाई अड्डे से निकलने की अनुमति दी गई। हालांकि, आजाद ने हवाई अड्डे से निकलते समय संवाददाताओं से कहा कि वह परिवार से मिले बगैर नहीं लौटेंगे। डीसीपी अमृता दुहन ने कहा, "बातचीत के बाद, उन्होंने (आजाद) आश्वासन दिया कि वह जालोर नहीं जाएंगे, जिसके बाद उन्हें सड़क मार्ग से जाने दिया गया।" आजाद अपने एक अन्य साथी के साथ दिल्ली से विमान से आए थे, लेकिन हवाई अड्डे के अंदर ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया। पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि वह जालोर जाने पर अड़े थे लेकिन उन्हें अनुमति नहीं दी गई क्योंकि उनकी यात्रा से वहां कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो सकती थी। 

भीम आर्म चीफ चंद्रशेखर को पुलिस ने रोका

पुलिस ने हालांकि इस बात का ब्योरा नहीं दिया कि आजाद हवाई अड्डे से कहां गये। पुलिस ने कहा, ‘‘यह उनकी इच्छा है कि वह कहाँ जाना चाहते हैं, लेकिन वह जालोर नहीं गये।’’ जब वह हवाई अड्डे से निकल रहे थे, तो पत्रकारों ने उनसे योजना के बारे में पूछा। उन्होंने कहा, ‘‘मैं (पीड़ित दलित) परिवार से मिलने जाना चाहता हूं, अकेले जाना चाहता हूं, लेकिन गहलोत बताएं कि मुझे वहां क्यों नहीं जाने दिया जा रहा है। जब सरकार वहां जा सकती है, विपक्ष वहां जा सकता है तो उसका भाई वहां क्यों नहीं जा सकता?” जालोर जाने के उनके प्रयासों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मैं बिना मिले नहीं लौटूंगा।" वहीं जालोर में भीम सेना के नेता सतपाल तंवर ने मृतक छात्र के परिवार से मुलाकात की। उन्होंने परिवार को सांत्वना दी और छात्र के पिता और उसके परिवार के अन्य सदस्यों से घटना की जानकारी ली। 

स्कूल में मटके को छूने के आरोप में एक शिक्षक ने छात्र को पीटकर मार डाला था

जालोर के सुराणा गांव में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि भीम आमई नेताओं के दौरे के दौरान कानून व्यवस्था नियंत्रित रहे। उल्लेखनीय है कि नौ वर्षीय दलित छात्र इंद्र कुमार को 20 जुलाई को स्कूल में मटके को छूने के आरोप में एक शिक्षक ने पीटा था। उसकी शनिवार को अहमदाबाद के एक अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी। आरोपी शिक्षक छैल सिंह (40) को गिरफ्तार कर लिया गया है और राज्य सरकार ने पीड़ित परिवार के सदस्यों के लिये पांच लाख रुपये की राहत की घोषणा की है।

navratri-2022