Neem Karoli Baba: 15 जून को मनाया जाएगा कैंची धाम आश्रम का 59वां स्थापना दिवस, जानें नीम करोली बाबा से जुड़ी मान्यताएं

Neem Karoli Baba: 15 जून 2023 को कैंची धाम आश्रम का 59वां स्थापना दिवस मनाया जाएगा। इस मौके पर भव्य मेले का आयोजन किया जाता है। इस आयोजन में शामिल होने के लिए दूर-दूर से भक्त यहां पहुंचते हैं।

Vineeta Mandal Written By: Vineeta Mandal
Updated on: June 14, 2023 12:20 IST
Kainchi Dham Neem Karoli Baba- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Kainchi Dham Neem Karoli Baba

Kainchi Dham Neem Karoli Baba: नीम करोली बाबा के भक्त आज पूरी दुनिया में फैले हुए हैं। आम जनता से लेकर नेता, अभिनेता, विदेश की जानी-मानी हस्तियां करोली बाबा के भक्तों में शामिल हैं। कैंची धाम को लेकर लोगों में कई मान्यताएं प्रचलित हैं। इसी वजह से यहां हर दिन श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है। कहा जाता है कि यहां जो भी भक्त अपनी मुराद लेकर आता है वो खाली हाथ नहीं लौटता है। उसकी झोली में एक दिन खुशियां जरूर आ जाती है। अगर आप भी नीम करोली बाबा के भक्त हैं तो 15 जून का दिन आपके लिए बेहद खास होगा। दरअसल, 15 जून 1964 में कैंची धाम आश्रम की स्थापना की गई थी। उसी दिन से हर 15 जून को कैंची धाम का स्थापना दिवस मनाया जाता है। तो आइए जानते हैं इस पावन धाम से जुड़ी मान्यता और नीम करोली बाबा के बारे में। 

कैंची धाम का इतिहास

दिव्य कैंची धाम उत्तराखंड के नैनीताल जिले में स्थित है।  प्रचलित मान्यताओं के अनुसार, साल 1961 में नीम करोली बाबा पहली बार यहां आए थे। करोली बाबा ने अपने मित्र पूर्णानंद के साथ मिलकर कैंची धाम में आश्रम बनाने पर विचार किया था। इसके बाद 15 जून 1964 के दिन इस आश्रम की स्थापना की गई। हर साल भव्य तरीके से आश्रम का स्थापना दिवस मनाया जाता है। इसके लिए कई दिन पहले से तैयारियां शुरू हो जाती है। स्थापना दिवस पर नीम करोली बाबा को मालपुए का भोग लगाया जाता है। इसके बाद इसी को भक्तों के बीच इसे प्रसाद के रूप में वितरण किया जाता है। आपको बता दें कि इस साल कैंची धाम आश्रम का 59वां स्थापना दिवस मनाया जाएगा। कहा जाता रहा है कि इस बार आश्रम के स्थापना दिवस के अवसर पर लाखों की संख्या में भक्तगण के आने की संभावना है।

कैंची धाम आश्रम से जुड़ी मान्यताएं

नीम करोली बाबा हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त माने जाते थे। लोग उन्हें बजरंबली का अवतार मानते हैं। यही वजह है कि आश्रम में पूरे दिन हनुमान चालीसा का पाठ किया जाता है। कैंची धाम को लेकर लोगों की गहरी आस्था है। कहा जाता है कि नीम करोली बाबा से मांगी गई हर मनोकामनाएं जरूर पूरी होती है। यही वजह है कि बाबा के आश्रम में फकीर से लेकर अरबपति लोग तक आते हैं। नीम करोली बाबा के दर पर अब तक  एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स और फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग जैसी हस्तियां भी आ चुके हैं। वहीं क्रिकेट विराट कोहली भी पत्नी अनुष्का शर्मा और बेटी वामिका के साथ कैंची धाम आश्रम आ चुके हैं। बता दें कि नीम करोली बाबा का कैंची धाम आश्रम उत्तराखंड के नैनीताल जिले के अलावा उत्तर प्रदेश के वृंदावन में भी स्थित है। विराट अपने परिवार के साथ वृंदावन स्थित कैंची धाम आश्रम पहुंचे थे। 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं। इंडिया टीवी इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है। इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है।)

ये भी पढ़ें-

Astrology Tips: कौन सा कछुआ घर के लिए शुभ होता है? यहां जानिए इसे घर में रखने के फायदे और सही दिशा के बारे में

अचानक रात में 3 बजे नींद खुलना किस बात का देता है संकेत? छिपा होता है गहरा दैवीय रहस्य

Neem Karoli Baba: अच्छे दिनों को लेकर मिलते हैं ये संकेत, नीम करोली बाबा की इन बातों का जरूर रखें ध्यान

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन