Saturday, June 22, 2024
Advertisement

भूल जाएंगे ChatGPT से दोस्ती, Elon Musk का TruthGPT बदलकर रख देगा Artificial Intelligence का सारा गेम

Artificial Intelligence TruthGPT: AI की दुनिया में जल्द क्रांति आने जा रही है। एलन मस्क ने अपना नया AI लॉन्च करने को कहा है। आइए जानते हैं कि इससे कितना कुछ बदल जाएगा।

Written By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Updated on: April 18, 2023 12:26 IST
Elon Musk TruthGPT- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Elon Musk TruthGPT

Elon Musk TruthGPT: कहा जाता है कि 21वीं सदी टेक्नोलॉजी की है, डिजिटलाइजेशन की है, लेकिन ChatGPT के आने से पहले कम ही लोग इस बात का दावा करते हुए दिखाई देते थे कि भविष्य AI यानि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस होगा। हालांकि अब इस बात पर मुहर लग चुकी है कि इंसान AI को या तो कंट्रोल करना सीख लेगा या फिर उसे कंट्रोल करने वाला AI उसपर राज करेगा। खैर! ये सब भविष्य की बातें हैं जो समय के साथ सही-गलत साबित होंगी, लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि AI के मार्केट में एक और कंपीटिटर पैदा हो गया है। उस व्यक्ति का नाम एलन मस्क है। उन्होंने सोमवार को कहा कि वह माइक्रोसॉफ्ट की ChatGPT और Google की Bard को चुनौती देने के लिए एक AI प्लेटफॉर्म लॉन्च करेंगे, जिसका नाम "TruthGPT" होगा। मस्क के इस ऐलान के बाद से AI को लेकर लोगों के मन में कई तरह के विचार आने लगे।

एलन मस्क ला रहे TruthGPT

एलन मस्क ने माइक्रोसॉफ्ट की ओपनएआई की आलोचना की और कहा कि चैटबॉट इस चैटजीपीटी को पीछे से झूठ बोलने का प्रशिक्षण दे रहा है। कंपनी का उद्देश्य इससे जनता की भलाई नहीं बल्कि पैसा कमाना बन है। उन्होंने Google के सह-संस्थापक लैरी पेज पर AI सुरक्षा को गंभीरता से नहीं लेने का भी आरोप लगाया। एक टीवी इंटरव्यू के दौरान मस्क ने कहा कि मैं कुछ ऐसा शुरू करने जा रहा हूं, जिसे मैं 'ट्रुथजीपीटी' या अधिकतम सत्य की खोज करने वाला एआई कहता हूं, जो ब्रह्मांड की प्रकृति को समझने की कोशिश करता है।" उन्होंने कहा कि TruthGPT सुरक्षा का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है, जो मनुष्यों का विनाश करने की संभावना नहीं होगा।

AI की मदद से टेक्नोलॉजी समझना कितना आसान?

AI और क्लाउड कंप्यूटिंग में एक्सपर्ट शाशांक दूबे इंडिया टीवी से बताते हैं कि AI भविष्य है। इसकी मदद से आम जनता को टेक्नोलॉजी समझने में काफी आसानी होगी। उदाहरण के तौर पर आप ऐसे समझ सकते हैं कि बड़े-बड़े कंप्यूटर्स से हमने खुद को बेहतरीन मोबाइल फ़ोन के तरफ ट्रांसफर किया, उसके कुछ समय बाद वह सभी कार्य आधुनिक स्मार्टवॉच से अब संभव हैं तो कहीं न कहीं टेक्नोलॉजी की समझ लोगों के लिए जरूरी है। और रही बात AI की, तो वह काफी पहले से हमारे जीवन को आसान बना रही है। आधुनिक चैटबॉट अब चर्चा में आया है, क्योंकि ये ओपेन सोर्स प्लेटफार्म पर आधारित है। उन्होंने TruthGPT को लेकर कहा कि इसके आने से AI का बाजार किसी एक कंपनी के कंट्रोल में आने से बच सकेगा।

क्या है ChatGPT?

ChatGPT एक एआई है, जिसने लॉन्च के पांच दिन के भीतर ही 1 मिलियन से अधिक यूजर्स तक अपनी पहुंच बना ली थी। इस एआई का काम लाखों वेबसाइटों पर उपलब्ध जानकारी को संशोधित कर और उसे एक आसान भाषा में बदलकर यूजर्स को जवाब देना है। इसकी मदद से किसी विषय पर आर्टिकल लिखा जा सकता है। बशर्ते की उस विषय के बारे में गूगल पर पहले से जानकारी उपलब्ध हो। यह दुनिया के अलग-अलग भाषाओं में काम कर रही है। 

चैटजीपीटी का उपयोग कैसे करें?

जबकि चैटजीपीटी एंड्रॉइड और आईओएस दोनों यूजर्स के लिए खुला है, इसका उपयोग केवल ब्राउजर के माध्यम से किया जा सकता है, अभी चैटबॉट का एक मोबाइल ऐप लॉन्च नहीं हुआ है। सबसे पहले किसी भी डिवाइस के वेब ब्राउजर पर जाकर आधिकारिक पोर्टल chat.openai.com पर जाएं और साइन अप करें। आप पहले से लॉगइन मेल से भी सीधी साइन अप कर सकते हैं।

  1. लैपटॉप या वेब ब्राउजर पर किसी पोर्टेबल डिवाइस पर chat.openai.com पर जाएं और लॉगिन करें।
  2. स्क्रीन के टॉप पर दिखाई देने वाले ट्राई चैटजीपीटी बैनर पर क्लिक करें।
  3. नए यूजर्स होने के चलते आपको फोन नंबर या ईमेल आईडी का उपयोग करके एक नया अकाउंट बनाना होगा। उसके बाद ओटीपी से अपनी आईडी वेरिफाई करनी होगी। 
  4. एक बार अकाउंट वेरिफाइड हो जाने के बाद से आप OpenAI के निर्देशों का पालन कर ChatGPT का उपयोग शुरू कर सकते हैं।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement