1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पश्चिम बंगाल
  4. दीदी को एक और बड़ा 'झटका', बड़े नेता ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा

दीदी को एक और बड़ा 'झटका', बड़े नेता ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा

ममता बनर्जी सरकार में मंत्री राजीव बनर्जी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि आने वाले दिनों में वो टीएमसी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में जा सकते हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 22, 2021 14:08 IST
दीदी को एक और बड़ा...- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV दीदी को एक और बड़ा 'झटका', बड़े नेता ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा

कोलकाता. पश्चिमी बंगाल से बड़ी खबर है। बंगाल चुनाव से पहले 'दीदी' को बड़ा झटका लगा है। कई महीनों से बागी मूड में लग रहे बंगाल के बड़े नेता और ममता बनर्जी सरकार में मंत्री राजीव बनर्जी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि आने वाले दिनों में वो टीएमसी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में जा सकते हैं। कहा जा रहा है कि टीएमसी में कई बड़े नेता राजीव बनर्जी के साथ भाजपा में जा सकते हैं। टीएमसी को ये झटका पीएम नरेंद्र मोदी के बंगाल दौरे से पहले लगा है।

राजीव बनर्जी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर सूचित किया कि वह कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने इस्तीफा देने का कोई कारण नहीं बताया। उन्होंने पत्र में लिखा, "पश्चिम बंगाल के लोगों की सेवा करना बड़े सम्मान की बात है। यह अवसर देने के लिए मैं दिल से आभार व्यक्त करता हूं।" डोमजूड़ का प्रतिनिधित्व करने वाले बनर्जी पिछले कुछ सप्ताह से सत्तारूढ़ पार्टी के एक धड़े के खिलाफ अपनी आवाज उठा रहे थे।

पढ़ें- इन जगहों पर आज शाम से भीषण ठंड पड़ने की संभावना, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

पढ़ें- Kisan Andolan: सोनिया गांधी का बड़ा हमला, बोलीं- सरकार ने असंवेदनशीलता और अहंकार दिखाया

मौलाना अब्बास सिद्दीकी पहले ही बढ़ा चुके हैं TMC की मुश्किलें!
पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में फुरफुरा शरीफ दरगाह के एक प्रभावशाली मौलाना अब्बास सिद्दीकी ने आगामी विधानसभा चुनावों से पहले बृहस्पतिवार को एक नया राजनीतिक संगठन ‘इंडियन सेकुलर फ्रंट’ (आईएसएफ) बनाया। पीरजादा सिद्दीकी ने कहा कि नव गठित संगठन राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में सभी 294 सीटों पर चुनाव लड़ सकता है। कोलकाता प्रेस क्लब में अपने राजनीतिक संगठन की शुरूआत के मौके पर सूफी मजार के प्रमुख सिद्दीकी ने कहा, "हमने इस पार्टी का गठन यह सुनिश्चित करने के लिए किया है कि संवैधानिक लोकतंत्र की रक्षा हो, सभी को सामाजिक न्याय मिले और हम सभी सम्मान के साथ रहें।"

पढ़ें- कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड में बर्फबारी का अनुमान, मैदान में चार डिग्री तक गिर सकता है पारा, IMD ने जताया अनुमान
पढ़ें- जब नोएडा पुलिस को मिली अस्पताल के बाहर बम रखे होने की सूचना, मच गया हड़कंप

उन्होंने कहा, "आने वाले दिनों में, हम जनता तक पहुंचने के लिए कई कार्यक्रम आयोजित करेंगे।"

पढ़ें- कब होंगे यूपी बोर्ड के प्रैक्टिकल एग्जाम? ये रही पूरी जानकारी
पढ़ें- Kisan Andolan: हरियाणा पुलिस ने छुट्टियां रद्द की, ट्रैक्टर रैली को देखते हुए लिया गया फैसला

जब उनसे पूछा गया कि नया राजनीतिक संगठन बनाने और चुनाव लड़ने से क्या अल्पसंख्यक वोटों का बंटवारा होगा, जिससे तृणमूल कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ सकता है, सिद्दीकी ने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी की चुनाव संभावनाओं के बारे में चिंता करना उनका काम नहीं है। तृणमूल कांग्रेस के साथ एक गठबंधन की संभावना के बारे में किये गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, "भाजपा के मार्च को रोकने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में सभी को साथ लेकर चलने की जिम्मेदारी ममता बनर्जी की है।" पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए अप्रैल-मई में चुनाव होने की संभावना है। 

पढ़ें- उत्तर रेलवे ने दी सौगात, इन रूट पर चलेंगी नई स्पेशल ट्रेनें, यहां है पूरी जानकारी
पढ़ें- भारत-अमेरिका संबंधों पर बायडेन सरकार की तरफ से की कही गई अहम बात

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। दीदी को एक और बड़ा 'झटका', बड़े नेता ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा News in Hindi के लिए क्लिक करें पश्चिम बंगाल सेक्‍शन
Write a comment