1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को 3 साल की सजा, जज को रिश्वत देने की कोशिश पड़ी भारी

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को 3 साल की सजा, जज को रिश्वत देने की कोशिश पड़ी भारी

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को भ्रष्टाचार के एक मामले में तीन साल की सजा हुई है। उनके साथ-साथ उनके पूर्व के दो सहयोगियों को भी तीन साल की सजा सुनाई गई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 01, 2021 23:49 IST
फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को 3 साल की जेल, जज को रिश्वत देने की कोशिश पड़ी भारी- India TV Hindi
Image Source : AP फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को 3 साल की सजा, जज को रिश्वत देने की कोशिश पड़ी भारी

पेरिस (फ्रांस): फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को भ्रष्टाचार के एक मामले में तीन साल की सजा हुई है। उनके साथ-साथ उनके पूर्व के दो सहयोगियों को भी तीन साल की सजा सुनाई गई है। 66 साल के निकोलस सरकोजी 2007 से 2012 तक फ्रांस के राष्ट्रपति रहे थे। 

पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी को 2014 में एक आपराधिक जांच की जानकारी के बदले में मजिस्ट्रेट को मोनाको में प्रतिष्ठित नौकरी देने की पेशकश करने के मामले में सजा सुनाई गई है। सरकोजी के पूर्व वकील थिएरी हर्ज़ोग और एज़िबर्ट को भी समान सजा मिली है।

निकोलस सरकोजी की सजा में दो साल का निलंबन शामिल है। उनके जेल जाने की संभावना कम है। उनके खिलाफ़ कोई गिरफ्तारी वारंट जारी नहीं किया गया है। वह अभी ऊपरी अदालत में अपील कर सकते हैं। अदालत ने कहा कि सरकोजी इलेक्ट्रॉनिक ब्रेसलेट के साथ घर में नजरबंद होने के अनुरोध के हकदार हैं। 

सरकोजी के खिलाफ अभियोजन पक्ष का दावा किया था कि उन्होंने जज को नौकरी की पेशकश की थी, जिसके बदले में वह सरकोजी ने अवैध पैसों के लेन-देन के एक मामले की जांच के बारे में जज से गुप्त जानकारी मांगी। यह मामला 2007 में चुनावी कैंपेन के दौरान का था। हालांकि, सरकोजी ने इस मामले में खुद को निर्दोष बताया है।

अभियोजन पक्ष के वकीलों ने सुनवाई के दौरान दावा किया था कि सरकोजी को लीबिया के पूर्व तानाशाह गद्दाफी ने नोटों से भरा बैग दिया था। यह बात तब सामने आई थी जब सरकोजी और उनके वकील थिएरी हरजॉग के बीच की बातचीत को टैप करके सुना गया था।

गौरतलब है कि सरकोजी इस महीने के अंत में 13 अन्य लोगों के साथ एक और मुकदमे का सामना करेंगे। यह मामला उनके 2012 के प्रेसिडेंशियल कैंपेन के अवैध वित्तपोषण से जुड़ा है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X