अब अमेरिकन यूनिवर्सिटी में भी सिख छात्र पहन सकेंगे कृपाण, विश्वविद्यालय ने किया ऐलान

अमेरिका के एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ने घोषणा की है कि वह सिख स्टूडेंट्स को कैंपस में कृपाण पहनने की इजाजत देगा।

Akash Mishra Edited By: Akash Mishra @Akash25100607
Published on: November 20, 2022 13:05 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : PTI प्रतीकात्मक फोटो

न्यूयॉर्क| अमेरिका में पढ़ने वाले सिख छात्र अब यूनिवर्सिटी कैंपस में कृपाण पहन सकेंगे। दरअसल, अमेरिका के एक प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ने घोषणा की है कि वह सिख स्टूडेंट्स को कैंपस में कृपाण पहनने की इजाजत देगा। जानकारी के लिए बता दें कि सिख धर्म में कृपाण एक धार्मिक वस्तु है। आपको बता दें कि यूनिवर्सिटी ने यह कदम लगभग दो महीने पहले कृपाण रखने की वजह से चार्लोट में यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलाइना के एक स्टूडेंट को हथकड़ी लगाए जाने की घटना का वीडियो वायरल होने के बाद उठाया है।

इन शर्तों के साथ पहन सकेंगे कृपाण

यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलाइना ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि स्टूडेंट्स को परिसर में कृपाण धारण करने की इजाजत दी जाएगी बशर्ते कृपाण के ब्लेड की लंबाई तीन इंच से ज्यादा न हो और ‘इसे हर वक्त कपड़ों के अंदर शरीर से चिपकाकर रखा जाए।’ बयान में कहा गया है, ‘‘विविधता तथा समावेशन कार्यालय ने इंस्टिट्यूशनल इंटीग्रिटी के सहयोग से हमारे पुलिस विभाग में इस सप्ताह अतिरिक्त जागरूकता प्रशिक्षण भी दिया और परिसर में सभी को कल्चरल शिक्षा तथा ट्रेनिंग के अवसर देने के लिए काम किया जाता रहेगा।’’ 

सितंबर में कृपाण रखने को लेकर एक छात्र की हुई थी गिरफ्तारी

विश्वविद्यालय ने इस कदम में मदद देने के लिए गैर लाभकारी संगठन ‘द सिख कोलिशन’ और ‘ग्लोबल सिख काउंसिल’ समेत सिख नेताओं का आभार व्यक्त किया। बता दें कि शौर्य और पराक्रम की निशानी समझए जाने वाले कृपाण को सिख ज्यादातर कमर पर लटकाते हैं।  आपको बता दें कि सितंबर माह में नॉर्थ कैरोलिना विश्वविद्यालय में एक सिख कृपाण पहनकर (सिरी साहिब) पहुंचा था, लेकिन वहां पर उसे सिरी साहिब उतारने के लिए कहा गया। और जब उसने ऐसा नहीं किया तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन