1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. बाइडन के पुतिन पर दिए बयान पर मची हलचल, व्हाइट हाउस ने कहा- उनका ये मतलब नहीं था, जानें पूरा मामला

बाइडन के पुतिन पर दिए बयान पर मची हलचल, व्हाइट हाउस ने कहा- उनका ये मतलब नहीं था, जानें पूरा मामला

अमेरिकी राष्ट्रपति ने शनिवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बारे में कहा था कि यह व्यक्ति सत्ता में नहीं रह सकता। बाइडन के इस बयान के बाद व्हाइट हाउस ने फौरन कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति रूस में नई सरकार के गठन की बात नहीं कर रहे थे।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 27, 2022 8:41 IST
joe biden us president- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO/ANI joe biden us president

Highlights

  • बाइडन के पुतिन पर दिए बयान पर मची हलचल
  • व्हाइट हाउस ने कहा-बाइडन सरकार बदलने के लिए नहीं कह रहे
  • यूक्रेन पर पुतिन के आक्रमण से दशकों तक लंबे युद्ध का खतरा- बाइडन

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर दिए गए बयान को लेकर हंगामा हो गया है। इसके बाद व्हाइट हाउस ने इस मामले में स्पष्टीकरण दिया है। दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति ने शनिवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बारे में कहा था कि यह व्यक्ति सत्ता में नहीं रह सकता।

बाइडन के इस बयान के बाद व्हाइट हाउस ने फौरन कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति रूस में नई सरकार के गठन की बात नहीं कर रहे थे। दरअसल व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि बाइडन पुतिन के रूस की सत्ता में बने रहने या सरकार बदलने के बारे में नहीं कह रहे थे, उनका मतलब तो ये था कि पुतिन को अपने पड़ोसियों या क्षेत्र पर ताकत का इस्तेमाल नहीं करने दिया जा सकता।

बाइडन ने तो पोलैंड की राजधानी वारसॉ में अपने भाषण का इस्तेमाल उदार लोकतंत्र और नाटो सैन्य गठबंधन का बचाव करने के लिए किया। उन्होंने यह भी कहा कि यूरोप को रूसी आक्रामकता के खिलाफ लंबे संघर्ष के लिए खुद को तैयार करना चाहिए। व्हाइट हाउस ने बाइडन के संबोधन को एक प्रमुख संबोधन बताया। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने रॉयल कैसल के सामने बोलने के दौरान पोलैंड में जन्मे पोप जॉन पॉल द्वितीय के कहे शब्दों का जिक्र किया और चेतावनी दी कि यूक्रेन पर पुतिन के आक्रमण से दशकों तक लंबे युद्ध का खतरा है। 

बाइडन ने कहा कि हमें इस लड़ाई में स्पष्ट नजर रखने की जरूरत है। यह लड़ाई दिनों या महीनों में नहीं जीती जाएगी। लगभग एक हजार लोगों की भीड़ में कुछ यूक्रेनी शरणार्थी भी शामिल थे, जो यूक्रेन पर हमले के बीच वहां से भागकर पोलैंड और अन्य जगहों पर आ गए हैं। 

(इनपुट: एजेंसी)