1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. बिहार
  4. जहांगीरपुरी में बुलडोजर चलने पर तेजस्वी ने कहा- चीन पर तो 2 शब्द बोलने की भी हिम्मत नहीं हुई

चीन पर बुलडोजर तो दूर 2 शब्द बोलने की भी हिम्मत नहीं हुई: तेजस्वी यादव

तेजस्वी ने कहा कि चीन ने हमारी सीमा में 2 गांव बसा लिए लेकिन बुलडोजर तो दूर इनकी हिम्मत नहीं उसके बारे में दो शब्द भी बोल सकें।

Vineet Kumar Edited by: Vineet Kumar @JournoVineet
Updated on: April 20, 2022 19:49 IST
Jahangirpuri, Jahangirpuri Tejashwi Yadav, Jahangirpuri Bulldozer- India TV Hindi
Image Source : PTI Rashtriya Janata Dal leader Tejashwi Yadav.

Highlights

  • तेजस्वी यादव ने चीन द्वारा सीमा पर कथित तौर पर 2 गांव बसा लिए जाने का हवाला देते हुए सरकार को निशाने पर लिया।
  • चीन ने हमारी सीमा में दो गांव बसा लिए लेकिन बुलडोजर तो दूर इनकी हिम्मत नहीं उसके बारे में दो शब्द भी बोल सके: तेजस्वी
  • तेजस्वी ने पूछा कि बुलडोजर सिर्फ जाति धर्म देख कर ही चलायेंगे या राष्ट्र की एकता, अखंडता व संविधान की भी चिंता करेंगे?

पटना: राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को दिल्ली के हिंसा प्रभावित जहांगीरपुरी इलाके में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाए जाने को लेकर केंद्र सरकार और बीजेपी पर निशाना साधा है। तेजस्वी यादव ने चीन द्वारा सीमा पर कथित तौर पर 2 गांव बसा लिए जाने का हवाला देते हुए सरकार को निशाने पर लिया। बता दें कि बीजेपी शासित उत्तरी दिल्ली नगर निगम (NDMC) ने जहांगीरपुरी में 2 दिवसीय अतिक्रमण विरोधी अभियान बुधवार को शुरू कर दिया था, हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा यथास्थिति बरकरार रखने के आदेश के बाद कार्रवाई रोक दी गई।

‘बुलडोजर तो दूर, दो शब्द बोलने की भी हिम्मत नहीं हुई’

RJD नेता तेजस्वी यादव ने जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाए जाने पर भड़कते हुए सवाल किया कि अगर अवैध निर्माण था तो इतने सालों तक शासन/प्रशासन क्या कर रहा था? तेजस्वी ने ट्विट किया, ‘चीन ने हमारी सीमा में दो गांव बसा लिए लेकिन बुलडोजर तो दूर इनकी हिम्मत नहीं उसके बारे में दो शब्द भी बोल सकें। बुलडोजर सिर्फ जाति धर्म देख कर ही चलायेंगे या राष्ट्र की एकता, अखंडता व संविधान की भी चिंता करेंगे? अगर अवैध निर्माण है तो इतने वर्षों तक शासन/प्रशासन क्या कर रहा था?’


अतिक्रमण रोधी अभियान पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को जहांगीरपुरी में अतिक्रमण रोधी अभियान पर रोक लगा दी। कोर्ट ने दंगे के आरोपियों के खिलाफ कथित तौर पर लक्षित नगर निकायों की कार्रवाई को चुनौती देने वाली याचिका भी सुनवाई के लिए स्वीकार कर ली। चीफ जस्टिस एनवी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने मौजूदा हालात में यथास्थिति बनाए रखने के निर्देश दिए। उसने कहा कि याचिका को उचित पीठ के समक्ष सूचीबद्ध किया जाएगा। बता दें कि जहांगीपुरी में बीते शनिवार को हुनमान जयंती के जुलूस के दौरान 2 समुदायों के बीच हिंसक झड़कें हुई थीं। इस दौरान 8 पुलिसकर्मी और एक स्थानीय निवासी घायल हो गया था।