1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. क्राइम
  4. पहले अश्लील चैट करते थे फिर ब्लैकमेल कर पैसे वसूलते थे, 5 गिरफ्तार

पहले अश्लील चैट करते थे फिर ब्लैकमेल कर पैसे वसूलते थे, 5 गिरफ्तार

एक अधिकारी ने बताया कि बीकेसी साइबर पुलिस थाने ने नागपुर, उत्तर प्रदेश और ओडिशा में अभियान चलाने के बाद पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 29, 2021 21:17 IST
Obscene Video Chat Public, Obscene Video Chat, Obscene Video Chat Extortion- India TV Hindi
Image Source : PIXABAY REPRESENTATIONAL अश्लील वीडियो चैट को सार्वजनिक करने की धमकी देकर जबरन वसूली करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह में शमिल 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।

मुंबई: मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने लोगों को ब्लैकमेल करने और उनकी अश्लील वीडियो चैट को सार्वजनिक करने की धमकी देकर जबरन वसूली करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह में शमिल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने गुरुवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में एक किशोर भी शामिल है। उन्होंने बताया कि इन आरोपियों ने पिछले कुछ महीनों में बड़ी संख्या में लोगों को ब्लैकमेल किया और उनसे पैसे ऐंठे। अधिकारी ने कहा कि आरोपियों ने लोगों को फंसाने के लिए सोशल मीडिया पर 12 फर्जी अकाउंट और 6 फर्जी ईमेल आईडी बनाए थे।

‘कई पीड़ितों की अश्लील वीडियो बेचकर कमाए पैसे’

अधिकारी ने बताया कि बीकेसी साइबर पुलिस थाने ने नागपुर, उत्तर प्रदेश और ओडिशा में अभियान चलाने के बाद पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच से पता चला है कि गिरोह के सदस्यों ने पिछले कुछ महीनों में कथित तौर पर कई लोगों को ब्लैकमेल किया था और विभिन्न राज्यों में 80 लोगों को कम से कम 250 पीड़ितों की अश्लील वीडियो क्लिप बेचकर पैसे कमाए थे। उन्होंने कहा कि प्रथमदृष्टया यह पता चला है कि आरोपियों ने पैसे के लेन-देन के लिए नेपाल स्थित बैंक के खाते का इस्तेमाल किया।

‘आमतौर पर अमीर लोगों को बनाते थे अपना शिकार’
अधिकारी ने कहा कि आरोपी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लड़कियों के रूप में फर्जी अकाउंट बनाते थे और पुरुषों को लुभाते थे, जिनमें से ज्यादातर हाई-प्रोफाइल पृष्ठभूमि वाले अमीर लोग होते थे। उन्होंने कहा कि आरोपियों ने 12 फर्जी अकाउंट और 6 फर्जी ईमेल आईडी बनाए। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर खुद लड़कियों के रूप में प्रस्तुत करते हुए आरोपी पीड़ितों को विश्वास में लेकर अश्लील वीडियो चैट शुरू करने पर जोर देते और फिर इसे रिकॉर्ड कर लेते। उन्होंने कहा कि वे पीड़ितों को रिकॉर्ड किए गए वीडियो के जरिए ब्लैकमेल कर उनसे पैसे वसूल करते थे।

Click Mania
Modi Us Visit 2021