जेल में मसाज वीडियो पर सियासत तेज, भाजपा ने सत्येंद्र जैन को बर्खास्त करने की मांग की, 'आप' को बताया फितरती रूप से बेईमान

जेल में बंद सत्येंद्र जैन का मसाज कराते हुए वीडियो सामने आया है। जिसके बाद भाजपा के सांसद मनोज तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस कर आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार पर जोरदार हमला बोला।

Pankaj Yadav Edited By: Pankaj Yadav @ThePankajY
Published on: November 20, 2022 12:08 IST
मनोज तिवारी (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : PTI मनोज तिवारी (फाइल फोटो)

मनी लॉन्ड्रिंग केस में जेल में बंद सत्येंद्र जैन का मसाज कराते हुए एक वीडियो सामने आया है। जिसके बाद भाजपा आम आदमी पार्टी पर लगातार निशाना साध रही है। भाजपा के सांसद मनोज तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए सत्येंद्र जैन को मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि तिहाड़ जेल से जो तस्वीरें सामने आई है उन्हें देखने के बाद ये निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि सत्येंद्र जैन, अरविंद केजरीवाल और पूरी आम आदमी पार्टी फितरती रूप से बेईमान है।

वीडियो पर सफाई के तौर पर जो जवाब इन्होंने दिया है उसे सुनकर मुझे इन पर हंसी आती है। क्या जेल में ऐसी व्यवस्था होती है? मैंने तो कभी ऐसी व्यव्स्था नहीं देखी। सतेंद्र जैन पर हवाला के आरोप सिद्ध हो चुके हैं। जो व्यक्ति जेल मिनिस्टर था वह उसी जेल में बंद है और जो भी वीडियो सामने आया है वह उसी के कमरे की वीडियो है। आप सबने वह वीडियो देखा होगा, हमने भी देखा है और अब ये लोग उल्टा यह कह रहे हैं कि यह वीडियो किसने लीक किया? 

'आप' से मनोज तिवारी का सवाल

सत्येंद्र जैन के मसाज वीडियो पर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सफाई देते हुए कहा था कि भाजपा को ऐसी बातें करते हुए शर्म आनी चाहिए। जेल में बंद एक मरीज जिसकी फिजियोथेरेपी चल रही थी उसे स्पा बताकर सत्येंद्र जैन के बीमारी का भाजपा मजाक बना रही है। भाजपा नीचता पर उतर आई है। सिसोदिया के इस बयान पर मनोज तिवारी निशाना साधते हुए आम आदमी पार्टी से कुछ सवाल किए:

उन्होंने कहा कि अगर जेल में फिजियोथेरेपी चल रही थी तो किस डॉक्टर ने यह सलाह दी थी? जबकि डॉक्टर का कहना है कि फिजियोथेरेपी जेल में नहीं हो सकती। जिसकी याद्दाश्त जा चुकी है वह कागज पढ़ कर सलाह दे रहे थे। उनके हाथ में जो कागज था वह कौन सा कागज था? जो व्यक्ति मसाज कर रहा था वह ड्रेस से फिजियोथैरेपिस्ट नहीं लग रहा था? पूरा माहौल देखकर लग रहा था कि वह जेल की कोठरी नहीं बल्कि मंत्री का कार्यालय है? जो लोग सत्येंद्र जैन के साथ पेपर डिस्कस कर रहे हैं वह कौन हैं? क्या वह जेल में पहले से रह रहे अपराधी हैं? वे लोग हो सकता है मनी लांड्रिंग पर ही डिस्कस कर रहे हों, उन तीन चार लोगों की एजेंसी को जांच करनी चाहिए। भाजपा सतेंद्र जैन की बर्खास्तगी के साथ-साथ उन लोगों की आइडेंटिटी को भी आगे लाए जाने की मांग करती है।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें दिल्ली सेक्‍शन