1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पाकिस्तान ने आतंकी हमला किया तो जवाब देने के लिए जगह भी हम चुनेंगे और समय भी: सेना प्रमुख

पाकिस्तान ने आतंकी हमला किया तो जवाब देने के लिए जगह भी हम चुनेंगे और समय भी: सेना प्रमुख

अगर पाकिस्तान की ओर से कोई आतंकी गतिविधि होती है, तो हमें अपनी मर्जी के स्थान और समय पर जवाब देने का पूरा अधिकार है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 12, 2021 12:47 IST
Army Chief General Manoj Mukund Naravane- India TV Hindi
Image Source : ANI Army Chief General Manoj Mukund Naravane

भारत के सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief General Manoj Mukund Naravane) ने पाकिस्तान (Pakistan)  की नापाक हरकतों को लेकर भारत की नीति को एक बार​ फिर से स्पष्ट कर दिया है। नरवणे ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान लगातार अपनी स्टेट पॉलिसी के तहत आतंकवाद (Terrorism) को बढ़ावा दे रहा है, हालांकि हम बहुत स्पष्ट हैं कि हम आतंक के खिलाफ हमारा जीरो टॉलरेंस है। उन्होंने साफ किया कि अगर पाकिस्तान की ओर से कोई आतंकी गतिविधि होती है, तो हमें अपनी मर्जी के स्थान और समय पर जवाब देने का पूरा अधिकार है।

सेना प्रमुख ने कहा कि हमने सीमापार यह साफ संदेश भेज दिया है कि हम किसी तरह की आतंकी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर हमारी नीति जीरो टॉलरेंस की है। हम भारत के भूभाग पर पाकिस्तान द्वारा समर्थित आतंकवाद की एक भी नापाक हरकत को बर्दाश्त नहीं कर सकते। यदि कुछ ऐसा हुआ तो इसका खामियाजा पाकिस्तान को भुगतना ही पड़ेगा।

चीन को आर्मी चीफ की दो टूक

सेना प्रमुख ने पाकिस्तान के साथ ही चीन को भी आड़े हाथ लिया। नरवणे ने कहा कि हम सभी बॉर्डर एरिया पर अलर्ट हैं सिर्फ लद्दाख में नहीं। हम हर जगह चौकस हैं। किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं। चीन के साथ हमारी 8 दौर की बात हो चुकी है 9वें दौर की बात होगी और उम्मीद है कि उसमें बात बन सकती है। हमें हमेशा से ही सकारात्मक स्थिति की उम्मीद है।  बातचीत से समाधान निकलने की उम्मीद है।

पाकिस्तान और चीन का बढ़ा गठजोड़ 

सेना प्रमुख ने कहा कि चीन और पाकिस्तान के बीच सैन्य और गैर-सैन्य दोनों क्षेत्रों में सहयोग बढ़ा है। सामने दोहरा खतरा खड़ा है। यह कुछ ऐसा है जिससे निपटने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए।

जवानों में तनाव घटाने की कोशिश

जवानों में तनाव पर हाल में आई यूएसआई की रिपोर्ट पर नरवणे ने कहा, मैं कहूंगा कि 400 का नमूना आकार पर्याप्त नहीं है। 99% सटीकता के लिए, कम से कम 19,000 नमूने लिए जाने चाहिए थे। जवानों में तनाव से निपटने के लिए हमने कई उपाय किए हैं। आत्महत्याओं की संख्या में साल-दर-साल कमी आई है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment