1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Exclusive: वुहान में अभी-भी फंसे हैं कुछ भारतीय, वापसी के लिए सरकार से की अपील

Exclusive: वुहान में अभी-भी फंसे हैं कुछ भारतीय, वापसी के लिए सरकार से की अपील

चीन की सरकार ने घर से बाहर निकलने पर पबांदी लगा रखी है। वहां फंसे इन लोगों के पास अब खाने-पीने की कमी है

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: February 13, 2020 23:57 IST
Exclusive: Some Indians still trapped in Yuhan, China appeal to govt for evacuation- India TV
Image Source : INDIA TV Exclusive: Some Indians still trapped in Yuhan, China appeal to govt for evacuation

नई दिल्ली: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का खौफ पसरता जा रहा है वहीं कोरोना वायरस के एपीसेंटर चीन के वुहान में अभी भी 70 भारतीय फंसे हुए हैं। ये लोग सरकार से उन्हें वापस भारत लाने की गुहार लगा रहे हैं। वुहान से 23 भारतीयों ने इंडिया टीवी के एडिटर इन चीफ रजत शर्मा को मैसेज भेजकर उनकी बात सरकार तक पहुंचाने का आग्रह किया है। ये लोग बहुत ज्यादा डरे हुए हैं और इनका कहना है कि उन्हें घऱ से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। भारत सरकार...चीन की सरकार से बात करके उन्हें एयरपोर्ट तक पहुंचाने का पास मुहैया कराए जिससे वो वापस भारत आ सकें। ये लोग बहुत ज्यादा डरे हुए हैं क्योंकि चार हफ्ते से वो कमरे से नहीं निकले हैं। जिस बिल्डिंग में रहते हैं, वो बिल्डिंग खाली हो चुकी है। 

चीन की सरकार ने घर से बाहर निकलने पर पबांदी लगा रखी है। वहां फंसे इन लोगों के पास अब खाने-पीने की कमी है और ऊपर से कोरोना वायरस का डर। हालांकि जब सरकार से इंडिया टीवी के प्रतिनिधि ने बात की तो पता लगा कि सरकार ने जब वुहान में फंसे भारतीयों को लाने के लिए प्लेन भेजा था उस वक्त ज्यादातर लोग वापस आ गए लेकिन साठ लोगों ने वापस आने से इंकार कर दिया। वहीं 10 लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण थे..इसलिए चीन की सरकार ने उन्हें ट्रैवल करने की इजाजत नहीं दी थी। चीन से वापस आने के लिए जिन लोगों ने मुझसे संपर्क किया..इनमें से कोई प्रोफेसर है तो कोई डॉक्टर। इनमें से एक आशीष यादव हैं जो वुहान की टेक्सटाइल यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर हैं। आशीष ने मुझे वीडियो मैसेज भेजा। उनका कहना है कि सरकार से कई बार रिक्वेस्ट कर ली..लेकिन अभी तक उन्हें यहां से नहीं निकाला गया..

चीन के अलावा दुनियाभर के 26 देशों में कोरोना वायरस के 445 और केस कनफर्म हुए हैं। चीन के बाद सबसे ज्यादा जापान में 218 लोग इस वायरस के शिकार हैं। और इनमें से एक महिला की आज मौत हो गई। हालांकि जापान में जिन लोगों को इनफेक्शन है। उनमें से ज्यादातक योकोहामा में उस क्रूज शिप पर मौजूद है। जिसे समंदर किनारे आइसोलेट किया गया है इस क्रूज शिप का नाम डायमंड प्रिंसेज है और इसमें 3 हजार से ज्यादा लोग मौजूद हैं। इनमें 150 से ज्यादा भारतीय भी हैं। हालांकि दुख की बात ये है कि इस शिप में मौजूद दो भारतीय नागरिक भी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

इस शिप पर मौजूद लोग परेशान हैं।कई भारतीय वीडियो मैसेज के जरिए मदद की गुहार लगा रहे हैं और वहां से निकालने की अपील कर रहे है। इस मामले पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया है। उन्होंने शिप में मौजूद दो इंडियन्स को कोरोना वायरस होने की बात कनफर्म की साथ ही ये भी कहा कि जापान में मौजूद भारतीय अधिकारी हर भारतीय को सुरक्षित निकालने की कोशिश कर रही है। जो लोग शिप पर मौजूद हैं वे थोड़ा संयम बरतें। जापान के प्रशासन से लगातार बात हो रही है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment