1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Book Review: प्यार के महीने में प्यार वाली किताब

Book Review: प्यार के महीने में प्यार वाली किताब

प्यार के महीने में ये प्यार वाली बात निकली है ‘मिर्च मोहब्बत’ से। ‘मिर्च मोहब्बत’ एक ई-बुक जो जगरनॉट एप पर उपलब्ध है। ये ई-नॉवेल युवाओं की कहानी है। मौजूदा दौर का टेक्नोसेवी युवा आखिर कैसे तकनीक और जिंदगी में तालमेल बैठाता है?

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: February 23, 2018 13:35 IST
Book-Review- India TV Hindi
Book Review: प्यार के महीने में प्यार वाली किताब

’प्यार का पक जाना भी खतरनाक है लेकिन अधपका प्यार सबसे घातक है। चाहत एक झटके में खत्म होने का नाम नहीं है। मोहब्बत का अंत झटका नहीं बल्कि हलाल है। धीरे धीरे तड़प तड़प के खत्म होता है ये खुमार।’

प्यार के महीने में ये प्यार वाली बात निकली है ‘मिर्च मोहब्बत’ से। ‘मिर्च मोहब्बत’ एक ई-बुक जो जगरनॉट एप पर उपलब्ध है। ये ई-नॉवेल युवाओं की कहानी है। मौजूदा दौर का टेक्नोसेवी युवा आखिर कैसे तकनीक और जिंदगी में तालमेल बैठाता है? ये ई नॉवेल जनरेशन एक्स का फलसफा बयां करती है। ये वो कहानी है जो हर कॉलेज जाने वाले स्टूडेंट की हो सकती है। ये उन लोगों की भी कहानी हो सकती है जो वर्तमान में रहकर अतीत को खंगालने की कोशिश करते हैं।

इस नॉवेल के हर पन्ने में किसी को अपना अतीत नजर आ सकता है तो किसी को अपना वर्तमान। ये नॉवेल मौजूदा दौर में डिस्टेंस लव को डिफाइन करने की कोशिश करती है। कोई युवा सिर्फ और सिर्फ प्यार के लिए नहीं बना होता..उसके साथ उसका नेचर होता है..उसका परिवार होता है..उसकी बोझिल रातें होती हैं..उसका बोझिल अतीत और उस पर पड़ने वाला घरवालों का दबाब भी...ये कहानी इन सभी मोड़ों से आगे गुजरती है और दर्शकों को एक ऐसे चौराहे पर लाकर छोड़ती है जहां यादों के जुगनू टिमटिमाते नजर आते हैं। ये उस प्यार की कसक आपके दिलों में पैदा करता है, जो प्यार तब पैदा होता है जब हम जवानी में पैर रखकर कॉलेज की दहलीज पर पहुंचते हैं।

ई-नॉवेल ‘मिर्च मोहब्बत’ का कंटेट युवा है, इसलिए इसे ई-बुक की शक्ल दी गई ताकि नए दौर का युवा मोबाइल, टैबलेट में इस प्रेम कहानी को पढ़ सके। ई नॉवेल ‘मिर्च मोहब्बत’ को पढ़ने के लिए  लिंक https://www.juggernaut.in/books/1e4903c329c1460db35d8426dfa5a1f4 को क्लिक किया जा सकता है। यहां आपको अपने मेल आईडी से साइन अप करना होगा। सिर्फ 30 रुपये के पेमेंट से बुक ऑटोमेटिकली आपके लॉग इन से सेफ हो जाएगी और आप मोबाइल,लैपटॉप में  e book पढ़ सकते हैं। दूसरा सरल तरीका ये भी है कि आप Juggernaut एप डाउनलोड कर सकते हैं और वहां से किताब पढ़ सकते हैं। Juggernaut की वेबसाइट पर जाकर भी ई बुक पढ़ी जा सकती है।

इस ई-बुक के राइटर हैं संजय बिष्ट। संजय पेशे से पत्रकार हैं। संजय के लिखे आर्टिकल अलग अलग मैगजीन, न्यूजपेपर, वेबसाइट में छपते रहते हैं। इस ई नॉवेल के बाद संजय कहानियों की किताब को पाठकों तक लाने में जुटे हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X