1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Rajat Sharma Blog | गौरवशाली क्षण: शहीद की बहन की शादी में वायुसेना के गरुड़ कमांडोज ने निभाया भाई का फर्ज

Rajat Sharma Blog | गौरवशाली क्षण: शहीद की बहन की शादी में वायुसेना के गरुड़ कमांडोज ने निभाया भाई का फर्ज

एक शहीद का इससे बड़ा सम्मान क्या हो सकता है कि उसकी बहन अपनी शादी में शहीद भाई के साथियों की हथेलियों पर चलकर वरमाला के लिए जाए.. डोली में बैठे।

Rajat Sharma Rajat Sharma
Updated on: June 15, 2019 17:08 IST
Proud moment as IAF Garud commandos perform brother's duties for martyr's sister at her wedding- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Rajat Sharma Blog: Proud moment as IAF Garud commandos perform brother's duties for martyr's sister at her wedding

यह बेहद गर्व की बात है कि हमने शुक्रवार रात को इंडिया टीवी पर 'आज की बात' में शहीद कॉर्पोरल की बहन की शादी की स्टोरी दिखाई जिसमें भारतीय वायुसेना के गरुड़ कमांडोज की एक टीम ने शिरकत की। यह शादी बिहार के रोहतास जिले के बादलाडीह गांव में संपन्न हुई। 

कॉर्पोरल ज्योति प्रकाश निराला वर्ष 2017 में आंतकवादियों के साथ कश्मीर में हुए एक एनकाउंटर में शहीद हुए थे। पिछले साल गणतंत्र दिवस परेड में राष्ट्रपति द्वारा उन्हें मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया। किसी भारतीय वायुसेना के जवान को दिया गया यह सबसे बड़ा सम्मान है। हाल में शहीद ज्योति प्रकाश निराला के दोस्तों और साथी जवानों ने उनकी बहन की शादी में हाथ बंटाने का फैसला किया। 

निराला का परिवार गरीब है, और भारतीय वायुसेना के जवानों ने डोनेशन से कुछ पैसे जमा किये और शादी में शामिल होने पहुंचे। उन्होंने शादी की तमाम रस्मों में हिस्सा लिया और शहीद की बहन को भाई की कमी का अहसास नहीं होने दिया। इन जवानों ने शादी में भाई का फर्ज निभाया और शहीद की बहन के पांव को अपनी हथेलियों पर रखकर विदा किया। इस दृश्य ने शादी में मौजूद लोगों की आंखों में आंसू ला दिए।

शहीद ज्योति प्रकाश निराला की बहन शशिकला की शादी वाले दिन उसके करीब 100 भाई, भारतीय वायुसेना के गरुड़ टीम के रूप में उसके गांव पहुंचे। हर जवान ने अपनी तरफ से 500-500 रुपये का योगदान दिया और इस तरह से उन्होंने शादी के लिए 5 लाख रुपये इकट्ठे किये थे। ज्योति प्रकाश निराला के पिता तेज नारायण सिंह ने भारतीय वायुसेना के कमांडोज के प्रति अपना आभार व्यक्त किया।

ज्योति प्रकाश गरुड़ कमांडोज के साथ 18 नवंबर 2017 को जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में एक भीषण मुठभेड़ में शामिल थे। इस मुठभेड़ में उन्होंने दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया था। इस बीच आतंकवादियों की तरफ से भी भारी फायरिंग हुई और ज्योति प्रकाश शहीद हो गए। उन्होंने राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान दिया। 

एक शहीद का इससे बड़ा सम्मान क्या हो सकता है कि उसकी बहन अपनी शादी में शहीद भाई के साथियों की हथेलियों पर चलकर वरमाला के लिए जाए.. डोली में बैठे। अगर हमारा कोई साथी देश के लिए बलिदान दे तो उसका परिवार, उसकी बहन या मां अपने आपको अकेला न समझे। एकजुटता के इस भावनात्मक प्रदर्शन के लिए हमें अपनी सेना और उनके जवानों पर गर्व होना चाहिए। 

एक देशभक्त भारतीय के रूप में हमें अपनी ओर से सभी जवानों के लिए सार्वजनिक रूप से सम्मान देने के लिए हर वक्त तैयार रहना चाहिए, जो हमारे देश की सेवा में दिन-रात काम कर रहे हैं। जय हिन्द! (रजत शर्मा)

देखें, 'आज की बात' रजत शर्मा के साथ, 14 जून 2019 का पूरा एपिसोड

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
coronavirus
X