Saturday, June 22, 2024
Advertisement

राष्ट्रपति मुर्मू के हेलीकॉप्टर के साथ फार्मासिस्ट ने क्लिक की तस्वीर, हुआ सस्पेंड

फार्मासिस्ट जशोबंत बेहरा को 5 मई को राष्ट्रपति के सिमिलीपाल नेशनल पार्क के भ्रमण के दौरान उनके चिकित्सा दल में तैनात किया गया था। बेहरा ने कहा, मैंने केवल याद रखने और आनंद के लिए कुछ तस्वीरें मेरे फेसबुक अकाउंट पर लगा दी थीं।

Edited By: Khushbu Rawal @khushburawal2
Published on: May 08, 2023 14:55 IST
राष्ट्रपति द्रौपदी...- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हेलीकॉप्टर के साथ तस्वीर खींचने पर फार्मासिस्ट निलंबित

भुवनेश्वर: ओडिशा के बारिपदा में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के एक कार्यक्रम में बिजली के व्यवधान को लेकर विवाद अभी जारी है, इस बीच मयूरभंज के मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी (CDMO) ने राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर के साथ तस्वीर खींचने के मामले में एक फार्मासिस्ट को सस्पेंड कर दिया है। सीडीएमओ डॉ. रूपभानु मिश्रा ने राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर के साथ तस्वीर खींचने और उसे फेसबुक पर डालने के मामले में फार्मासिस्ट जशोबंत बेहरा को सस्पेंड कर दिया है।

फार्मासिस्ट ने बताया, क्यों क्लिक की तस्वीर

बेहरा को 5 मई को राष्ट्रपति के सिमिलीपाल नेशनल पार्क के भ्रमण के दौरान उनके चिकित्सा दल में तैनात किया गया था। बेहरा ने कहा, ‘‘मैंने केवल याद रखने और आनंद के लिए कुछ तस्वीरें मेरे फेसबुक अकाउंट पर लगा दी थीं। मेरा ऐसा करने के पीछे कोई और इरादा नहीं था। हालांकि, मैंने हेलीकॉप्टर की सुरक्षा में लगे वायु सेना के कुछ कर्मियों से इसकी मौखिक अनुमति ली थी। राष्ट्रपति महोदया जैसी महान हस्ती जिले में आई थीं और मैं हैलीपैड पर ड्यूटी में था तो तस्वीरों को स्मृति के तौर पर रखना चाहता था।’’ उन्होंने दावा किया कि फेसबुक खाते से उन्होंने तस्वीरें हटा ली हैं। ये तस्वीरें हेलीकॉप्टर के पास से मोबाइल फोन कैमरे से खींची गई थीं।

राष्ट्रपति मुर्मू के संबोधन के दौरान चली गई थी बिजली
इस बीच महाराजा श्रीरामचंद्र भांजा देव विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति की उपस्थिति में बिजली आपूर्ति में व्यवधान से जुड़े मुद्दे ने राजनीतिक रंग ले लिया है और विपक्षी बीजेपी ने मांग की है कि देश की प्रथम नागरिक को दीक्षांत समारोह में उनके संबोधन के दौरान करीब 9 मिनट तक अंधेरे में रखने के लिए मुख्यमंत्री को माफी मांगनी चाहिए। केंद्रीय जलशक्ति राज्य मंत्री बिशेश्वर टुडु ने मयूरभंज के जिलाधिकारी और विश्वविद्यालय के कुलपति को इस मामले में तत्काल बर्खास्त किये जाने की भी मांग की।

'राष्ट्रपति को अपमानित करने के लिए ऐसा किया गया'
भाजपा की मयूरभंज जिला इकाई ने भी राज्य सरकार पर निशाना साधा। भाजपा ने इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। भाजपा ने यह संदेह भी जताया कि राष्ट्रपति को अपमानित करने के लिए ऐसा किया गया। संबंधित घटनाक्रम में मयूरंभज जिले के स्थानीय संगठन ‘भांजा सेना’ ने कहा कि राष्ट्रपति के कार्यक्रम में बिजली चली जाने के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर वे बंद का आयोजन करेंगे।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement