1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने राम मंदिर के लिए इकट्ठा किए जा रहे चंदे को लेकर दिया बड़ा बयान

कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने राम मंदिर के लिए इकट्ठा किए जा रहे चंदे को लेकर वीएचपी से पूछे सवाल

कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर उनकी अंतरात्मा की आवाज स्पष्ट है तो BJP नेता या VHP नेता फिर क्यों परेशान हो रहे हैं?

IANS IANS
Published on: February 20, 2021 21:13 IST
Siddaramaiah Ram Temple, Siddaramaiah Ram, Siddaramaiah VHP Fund, Siddaramaiah- India TV Hindi
Image Source : PTI सिद्धारमैया ने कहा कि मुझे कोई समस्या नहीं है कि कोई राम मंदिर बनाता है या नहीं।

मैसुरु: कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने शनिवार को कहा कि न केवल उन्हें, बल्कि सभी को यह जानने का अधिकार है कि अयोध्या में राम मंदिर के नाम पर जुटाए गए चंदे का इस्तेमाल किस तरह किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे यह भी जानना चाहेंगे कि उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) द्वारा शुरू किए गए धन जुटाने के अभियान में उन्होंने खुद भी योगदान दिया है या नहीं। इसके अलावा कितना धन एकत्र किया जा रहा है।

सिद्धारमैया ने कहा, ‘मुझे कोई समस्या नहीं है कि कोई राम मंदिर बनाता है या नहीं। लेकिन इस देश के नागरिक के रूप में, मुझे देशभर में धन जुटाने के अभियान शुरू करने वाले किसी भी व्यक्ति से स्पष्टीकरण मांगने का पूरा अधिकार है।’ विपक्ष के नेता ने कहा कि उसी VHP ने 1990 के दशक की शुरुआत में भी लोगों से संपर्क कर धन एकत्र किया था। यह वह समय था, जब BJP ने मंडल आयोग की सिफारिशें लागू करने का विरोध करने के लिए अपनी रथयात्रा शुरू की थी।

पढ़ें: पाकिस्तान की सेना को बड़ा झटका, सैनिकों पर कहर बनकर टूटे विद्रोही, 5 की मौत

पढ़ें: CM योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद यूपी में आने वाली है 50 हजार सरकारी नौकरियां

कर्नाटक के पूर्व सीएम ने कहा, ‘यह तब था, जब मंडल बनाम कमंडल की राजनीति इस देश में आकार लेने लगी थी। उसी बीच विहिप ने राम मंदिर निर्माण के लिए धन एकत्र किया था। इस संगठन ने तत्कालीन अभियान के बारे में भी कोई विवरण देश को नहीं दिया है। उन्हें उस फंड (एकत्र धनराशि) के बारे में और मौजूदा फंड कलेक्शन के बारे में जानकारी देनी चाहिए।’ विपक्षी नेता ने स्थिति स्पष्ट करने पर जोर देते हुए कहा कि यह तो एक राष्ट्रीय अभियान है और इसमें किसी भी प्रकार को कोई विवाद का कारण नहीं बचना चाहिए।

पढ़ें: चीन के डिटेंशन कैंप्स में उइगर महिलाओं के साथ होता है ये ‘गंदा काम’
पढ़ें: 2024 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगे? जानें, इस सवाल के जवाब में ट्रंप ने क्या कहा

कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर उनकी अंतरात्मा की आवाज स्पष्ट है तो BJP नेता या VHP नेता फिर क्यों परेशान हो रहे हैं? उन्होंने कहा, ‘अगर वे धन इकट्ठा करने में स्वतंत्र और निष्पक्ष हैं, तो उन्हें बताएं कि उन्होंने कितना संग्रह किया है, किस उद्देश्य के लिए उन्होंने कितना उपयोग किया और मंदिर बनाने के लिए कितना आवश्यक है।’ उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वह राम मंदिर के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन ये प्रश्न उन लोगों पर इंगित किए जाते हैं, जो धन एकत्र कर रहे हैं।

पढ़ें: नीतीश का चिराग को बड़ा झटका, LJP के 200 से ज्यादा नेता JDU में हुए शामिल
पढ़ें: बीजेपी सांसद के विधायक बेटे का खुला ऐलान, कहा- मैं थामने जा रहा हूं कांग्रेस का हाथ

सिद्धारमैया ने कहा, ‘भाजपा और विहिप राम मंदिर की आड़ में इन तथ्यों को छिपाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। मैंने राम मंदिर का विरोध नहीं किया है, बल्कि मैं भाजपा और विहिप की मंशा पर सवाल उठा रहा हूं।’ एक सवाल का जवाब देते हुए, उन्होंने कहा कि वह VHP को योगदान नहीं देना चाहेंगे, बल्कि इसके बजाय वे अपने गांव सिद्धारमनहुंडी, जहां वे पैदा हुए थे, वहां राम मंदिर बनाकर खुश होंगे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X