किसी भी कीमत पर रोहिंग्याओं को दिल्ली में नहीं बसने देंगे: आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी।

Vineet Kumar Edited By: Vineet Kumar @JournoVineet
Published on: August 17, 2022 21:40 IST
Rohingya, Rohingya Muslims, Rohingya Muslims Delhi, Rohingya Muslims AAP- India TV Hindi News
Image Source : PTI दिल्ली के कालिंदी कुंज इलाके में एक बच्चे के साथ रोहिंग्या शरणार्थी।

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने रोहिंगया शरणार्थियों के मुद्दे को लेकर बुधवार को बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। बता दें कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ऐलान किया था कि रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली के विभिन्न अपार्टमेंट में ट्रांसफर किया जाएगा। मंत्री का बयान सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी ने इस कदम को राष्ट्रीय सुरक्षा और दिल्लीवासियों के लिए ‘एक बड़ा खतरा’ करार दिया और कहा कि वह किसी भी कीमत पर रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली में नहीं बसने देगी।

हरदीप सिंह पुरी के ट्वीट के बाद मचा बवाल

आम आदमी पार्टी की ओर से यह प्रतिक्रिया केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी के यह कहने के बाद आयी कि रोहिंग्या शरणार्थियों को बाहरी दिल्ली स्थित बक्करवाला के कुछ अपार्टमेंट में भेजा जाएगा। पुरी ने कहा था कि रोहिंग्या शरणार्थियों को मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ पुलिस सुरक्षा भी मुहैया करायी जाएगी। मंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि EWS फ्लैट नयी दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) द्वारा बनाए गए हैं और टिकरी सीमा के पास बक्करवाला इलाके में स्थित हैं।


‘हम रोहिंग्याओं को दिल्ली में नहीं बसने देंगे’
आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुरी के ट्वीट पर प्रतिक्रिया में कहा, ‘मंत्री की घोषणा के साथ ही, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार आज बेनकाब हो गई है। यह राष्ट्रीय सुरक्षा और दिल्लीवासियों के लिए भी एक बड़ा खतरा है। हम देशवासी और दिल्लीवासी, कम से कम उन्हें यहां किसी भी कीमत पर बसने नहीं देंगे। केंद्र सरकार चाहे कुछ भी करे, हम सरकार को उन्हें फ्लैट आवंटित नहीं करने देंगे।’

‘हम रोहिंग्याओं को दिल्ली फ्लैट नहीं देने देंगे’
भारद्वाज ने कहा कि प्रधानमंत्री चाहें तो उन्हें बीजेपी शासित किसी भी राज्य में बसाने पर विचार कर सकते हैं। उन्होंने कहा, ‘EWS फ्लैट, बंगला या जो कुछ भी आप चाहते हैं उन्हें दें। हम उन्हें दिल्ली में फ्लैट आवंटित नहीं करने देंगे।’ वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली में रोहिंग्या मुसलमानों को आर्थिक रूप से कमजोर (EWS) श्रेणी के फ्लैटों में ट्रांसफर करने के किसी भी कदम से बुधवार को इनकार किया और दिल्ली सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि ‘अवैध विदेशियों’ को उनके देश वापस भेजे जाने तक डिटेंशन सेंटर्स में रखा जाए।

पुरी के ट्वीट के बाद आया गृह मंत्रालय का बयान
गृह मंत्रालय का यह स्पष्टीकरण केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी द्वारा एक ट्वीट करने के कुछ घंटे बाद आया, जिसमें कहा गया था कि भारत ने हमेशा उन लोगों का स्वागत किया है जिन्होंने देश में शरण मांगी है और घोषणा की थी कि सभी रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली के बक्करवाला क्षेत्र में EWS फ्लैटों में ट्रांसफल किया जाएगा। इस ऐलान के साथ ही सोशल मीडिया पर केंद्र सरकार और बीजेपी के खिलाफ कई ट्रेंड्स चलने लगे थे। गृह मंत्रालय ने एक बयान जारी करके अपनी स्थिति स्पष्ट की।

‘रोहिंग्याओं को डिटेंशन सेंटर्स में रखा जाना है’
एक प्रवक्ता ने ट्विटर पर एक बयान में कहा, ‘अवैध विदेशियों को उनके देश वापस भेजे जाने तक कानून के अनुसार डिटेंशन सेंटर्स में रखा जाना है। दिल्ली सरकार ने वर्तमान स्थान को डिटेंशन सेंटर घोषित नहीं किया है। उसे तुरंत ऐसा करने का निर्देश दिया गया है। अवैध विदेशी रोहिंग्याओं के संबंध में मीडिया के कुछ वर्गों में आये समाचार के संबंध में, यह स्पष्ट किया जाता है कि गृह मंत्रालय ने बक्करवाला में रोहिंग्या अवैध प्रवासियों को EWS फ्लैट प्रदान करने का कोई निर्देश नहीं दिया है।’

Latest India News

navratri-2022