1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. बच्चों का करना है दिमाग तेज, जो करें ये काम

बच्चों का करना है दिमाग तेज, जो करें ये काम

इस शोध में पता चला है कि संगीत शिक्षा की एक श्रृंखला नौ महीने की उम्र तक के शिशुओं के मस्तिष्क में संगीत और नई ध्वनियों के वाणी प्रसंस्करण को सुधार सकती है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: April 27, 2016 10:19 IST
child- India TV Hindi
child

हेल्थ डेस्क: हर माता-पिता चाहते है कि उनका बच्चा सबसे तेज और बुद्धिमान हो। इसके लिए उसे कई तरह की चीजें खिलाते है जैसे कि बादाम, घी आदि। जिससे दिमाग तेज हो।  लेकिन आप जानते है कि म्यूजिक से भी आप अपने बच्चें का दिमाग तेज कर सकते हैं। एक शोध में ये बात सामने आई कि अगर बच्चों को संगीत का प्रशिक्षण जल्द ही दिया जाने लगे, तो उनमें हर चीज सीखने की क्षमता में बढ़ोत्तकी होती है।

ये भी पढ़े-

संगीत केवल मनोरंजन का ही साधन नहीं है, बल्कि इसके प्रभाव वयस्कों के साथ ही बच्चों के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। संगीत और शिशुओं से जुड़े एक नए अध्ययन से पता चला है कि शिशुओं को संगीत का जल्द प्रशिक्षण देने से संगीत के प्रति न केवल उनकी धारणा का विकास होता है, बल्कि उनकी सीखने की क्षमता भी बेहतर होती है।

 

इस शोध में पता चला है कि संगीत शिक्षा की एक श्रृंखला नौ महीने की उम्र तक के शिशुओं के मस्तिष्क में संगीत और नई ध्वनियों के वाणी प्रसंस्करण को सुधार सकती है।

युनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट फॉर लर्निग एंड ब्रेन साइंसेस (आई-लैब्स) से इस अध्ययन की मुख्य लेखिका क्रिस्टीना झाओ ने बताया, "अपने आप में पहला यह अध्ययन बताता है कि भाषा के अलावा अन्य ध्वनि प्रसंस्करण भी अनुभव का एक प्रकार है, जो शिशुओं की बोलचाल क्रियातंत्र को प्रभावित कर सकता है।"

झाओ ने बताया, "हम जानते हैं कि शिशु अनुभवों की एक विस्तृत श्रंखला को तेजी से सीखते हैं। इसलिए हमें लगता है कि संगीत भी एक महत्वपूर्ण अनुभव है, जो बच्चों के मस्तिष्क विकास को प्रभावित कर सकता है।"

इस शोध के लिए अध्ययनकर्ताओं ने 39 शिशुओं का आकलन किया था। इस दौरान अध्ययनकर्ताओं ने शिशुओं को उनके अभिभावकों के साथ 12 से 15 मिनट के संगीत सत्र का अनुभव कराया था। यह शोध अमेरिकी पत्रिका 'प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेस' में प्रकाशित हुआ है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment
X