1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. मध्य-प्रदेश
  4. ग्वालियर में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, अमेरिकियों को कर्ज देने के बहाने करते थे ठगी

ग्वालियर में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, अमेरिकियों को कर्ज देने के बहाने करते थे ठगी

मध्यप्रदेश पुलिस ने ग्वालियर में एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है, जो कथित तौर पर अमेरिकी नागरिकों को कर्ज देने के बहाने धोखा दे रहा था। इस संबंध में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ग्वालियर में इस कॉल सेंटर का संचालन गुजरात के अहमदाबाद से एक व्यक्ति द्वारा किया जा रहा था।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 10, 2022 17:26 IST
Fake call center busted in Gwalior- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIVE PHOTO Fake call center busted in Gwalior

Highlights

  • मध्यप्रदेश के ग्वालियर में चल रहा था कॉल सेंटर
  • अमेरिकी नागरिकों को कर्ज देने के बहाने ठगी
  • छह युवक और एक युवती किए गए गिरफ्तार

भोपाल: मध्यप्रदेश पुलिस ने ग्वालियर में एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है, जो कथित तौर पर अमेरिकी नागरिकों को कर्ज देने के बहाने धोखा दे रहा था। इस संबंध में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ग्वालियर में इस कॉल सेंटर का संचालन गुजरात के अहमदाबाद से एक व्यक्ति द्वारा किया जा रहा था। 

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश दंडोतिया ने रविवार को बताया कि पुलिस की साइबर सेल को सूचना मिली थी कि ग्वालियर के आनंद नगर इलाके में फर्जी अंतरराष्ट्रीय अमेरिकन कॉल सेंटर संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस सूचना के आधार पर स्थानीय थाने के साथ क्राइम ब्रांच की टीम ने आनंद नगर के एक मकान पर छापा मारा। 

मकान के अंदर छह युवक और एक युवती लैपटॉप के जरिए विदेशी ग्राहकों से बात कर रहे थे। दंडोतिया ने बताया कि इनसे पूछताछ में मालूम हुआ कि इस कॉल सेंटर का संचालन अहमदाबाद (गुजरात) निवासी व्यक्ति द्वारा अपने साथी के साथ मिलकर किया जाता है। उनके द्वारा ही इस मकान को कॉल सेंटर के संचालन के लिए किराये पर लिया गया है। ये सभी लोग जूम एप के माध्यम से खुद को ‘‘लेंडिंग क्लब अमेरिकन कंपनी’’ (कर्ज देने वाला क्लब अमेरिकन कंपनी) का एजेंट बताकर विदेशी ग्राहकों से बात किया करते थे। 

उन्होंने कहा कि कॉल सेंटर के मालिक ने विदेशियों के फोन नंबर दिए थे, जिन पर फोन करके उनको लोन दिलवाने का झांसा देकर उनका सिक्योरिटी नंबर और बैंक संबंधी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं और उसको वेरिफाई करने के नाम पर उनसे कमीशन के रूप में इंटरनेशनल गिफ्ट वाउचर जैसे गूगल प्ले कार्ड, अमेरिकन एक्सप्रेस, बेस्ट बाई, एप्पल, बनीला बीजा आदि) ले लिया करते हैं। 

इन गिफ्ट वाउचर्स को बाद में कैश/शॉपिंग में परिवर्तित कर लिया जाता है। दंडोतिया ने बताया कि पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर पर काम करने वाले छह लड़कों और एक लड़की के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 419, 420, 34 और आईटी कानून 66 डी के तहत मामला दर्ज करके उनको गिरफ्तार कर लिया। 

उन्होंने कहा कि इस फर्जी कॉल सेंटर से नौ लैपटॉप, सात हेडफोन, 12 मोबाइल फोन, अमेरिकी नागरिकों से ठगी के लिए बात करने की लिखित सामग्री, विदेशी ग्राहकों के ब्योरे और दूसरे दस्तावेज जप्त किये गये हैं। दंडोतिया ने बताया कि फिलहाल कॉल सेंटर के संचालक की तलाश की जा रही है। 

erussia-ukraine-news