Rajasthan Politics: 'पहले अशोक गहलोत की ताजपोशी, फिर होगा CM के नाम पर फैसला', खाचरियावास का बड़ा खुलासा

राजस्थान में मचे सियासी खींच-तान के बीच गहलोत सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास का बड़ा बयान सामने आया है। मीडिया से बात करते हुए मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि पहले सीएम अशोक गहलोत पार्टी अध्यक्ष बनेंगे उसके बाद ही फैसला होगा कि राजस्थान में मुख्यमंत्री कौन होगा।

Sushmit Sinha Edited By: Sushmit Sinha @sushmitsinha_
Published on: September 25, 2022 20:30 IST
Minister Pratap Singh Khachariyawas- India TV Hindi
Image Source : ANI Minister Pratap Singh Khachariyawas

Highlights

  • पहले अशोक गहलोत की ताजपोशी, फिर होगा CM के नाम पर फैसला
  • मंत्री खाचरियावास ने दिया बड़ा बयान
  • कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू होने वाली है

Rajasthan Politics: राजस्थान में मचे सियासी खींच-तान के बीच गहलोत सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास का बड़ा बयान सामने आया है। मीडिया से बात करते हुए मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि पहले सीएम अशोक गहलोत पार्टी अध्यक्ष बनेंगे उसके बाद ही फैसला होगा कि राजस्थान में मुख्यमंत्री कौन होगा। उन्होंने कहा, ''सीएम अशोक गहलोत के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद राज्य में सीएम बदलने की बात होगी। 102 विधायकों में से कोई भी मुख्यमंत्री बन सकता है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अशोक गहलोत इस पर फैसला करेंगे।

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू होने वाली है

राजस्थान में गहलोत की जगह कौन बनेगा सीएम, इस पर फैसला होने वाला है। गहलोत गुट के 50 विधायकों ने शांति धारीवाल के घर पर बैठक की है। उधर दूसरी ओर पायलट गुट के विधायक अलग रणनीति बनाए हुए हैं। कह रहे हैं कि अगर उनके यानी पायलट गुट के विधायकों के अनुरूप फ़ैसला नहीं हुआ तो गहलोत सरकार गिर भी सकती है। वहीं दूसरी ओर सचिन पायलट या उनके ख़ेमे के किसी भी नेता को गहलोत गुट मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार करने के लिये तैयार नहीं है।

गहलोत क्या कह रहे हैं

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को कहा आज शाम होने वाली विधायक दल की बैठक के दौरान एक लाइन का प्रस्ताव पारित किये जाने की संभावना है जिसमें लिखा होगा, कांग्रेस के सभी विधायकों को पार्टी अध्यक्ष के फैसले पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि पार्टी के सभी नेता आम सहमति पर पहुंचने के लिए चर्चा करेंगे और यही कांग्रेस की ताकत रही है। गहलोत ने जैसलमेर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि ‘‘कांग्रेस में शुरू से ही यह परंपरा रही है कि चुनाव के समय या मुख्यमंत्री के चयन के लिए जब भी विधायक दल की बैठक होती है, तो कांग्रेस अध्यक्ष को सभी अधिकार देने के लिए एक लाइन का प्रस्ताव जरूर पारित किया जाता है, मैं समझता हूं कि यह आज भी होगा।"

‘एक व्यक्ति, एक पद’

गहलोत शुक्रवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए उम्मीदवारी की घोषणा करने वाले पहले व्यक्ति बने थे। उन्होंने दावा किया था कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उनसे कहा है कि पार्टी का अगला प्रमुख गांधी परिवार से नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा था कि उनके उत्तराधिकारी के बारे में फैसला सोनिया गांधी और माकन करेंगे। गहलोत का यह बयान राहुल गांधी द्वारा ‘एक व्यक्ति, एक पद’ की अवधारणा का समर्थन करने के मद्देनजर आया था।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन