Sunday, July 21, 2024
Advertisement

भारत ने UAE भेजा 8 टन अनानास, संयुक्त अरब के साथ रिश्तों में घुलेगी मिठास

भारत ने यूएई के साथ अपने रिश्तों में और अधिक मिठास घोलने का प्रयास शुरू कर दिया है। भारत ने यूएई के साथ रिश्तों और व्यापार को बढ़ाने के लिए 8 टन से अधिक मीठे अनानास की पहली खेप भेजी है। इसे भारतीय कृषि के लिए भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: June 13, 2024 15:58 IST
भारतीय अनानास। - India TV Hindi
Image Source : ANI भारतीय अनानास।

नई दिल्लीः भारत ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के साथ अपने व्यापार का दायरा काफी बढ़ा दिया है। अब भारत ने फल निर्यात को बढ़ावा देने के लिहाज से यूएई के साथ नए तरीके से व्यापारिक गतिविधियों में तेजी लाना शुरू किया है। भारत ने फल निर्यात को बढ़ावा देने के मकसद से संयुक्त अरब अमीरात को उच्च गुणवत्ता वाले 8.7 टन अनानास की पहली खेप निर्यात की है। वाणिज्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। माना जा रहा है कि इससे भारत और यूएई के रिश्तों में काफी मिठास आएगी। यह अनानास उच्च गुणवत्ता वाले और काफी मीठे हैं।

यूएई भेजे गए अनानास की इस खेफ को एमडी2 किस्म का अनानास कहा जाता है। इसको ‘गोल्डन रिप’ या ‘सुपर स्वीट’ के नाम से भी पहचाना जाता है। यह अपनी असाधारण मिठास और गुणवत्ता के लिए प्रसिद्ध है। महाराष्ट्र के कोंकण क्षेत्र के सिंधुदुर्ग जिले में इसकी खेती की जाती है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अंतर्गत कृषि एवं प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) द्वारा इन खेपों को भेजा गया।

भारतीय कृषि के लिए अहम पल

भारतीय कृषि क्षेत्र के लिहाज से यूएई को भेजे गए अनानास की यह खेप काफी अहम है। बयान के अनुसार, ‘‘ यह भारत के कृषि निर्यात इतिहास में एक महत्वपूर्ण क्षण है, जो वैश्विक बाजारों में उच्च गुणवत्ता वाले अनानास का उत्पादन तथा आपूर्ति करने की हमारी क्षमता को दर्शाता है।’’ एमडी2 अनानास को डेल मोंटे ने 1980 के दशक में चुनिंदा (कृत्रिम) तरीके से इसकी पैदावार की। तभी से यह अनानास उद्योग में स्वर्ण मानक बन गया है, जिसकी कोस्टा रिका, फिलीपींस और थाईलैंड जैसे देशों में महत्वपूर्ण खेती की जाती है। (भाषा) 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement