Pakistan Imran: पाकिस्तान में 1000 लोगों की मौत से इमरान को कोई मतलब नहीं, जारी रखेंगे अपनी 'हकीकी आजादी' की लड़ाई, क्या है इसका मतलब?

Pakistan Imran: पाकिस्तान में जून के मध्य से अब तक बाढ़-जनित घटनाओं में 1,000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ से गांवों में पानी भर गया और फसलें बर्बाद हो गईं।

Shilpa Edited By: Shilpa
Updated on: August 29, 2022 18:17 IST
Pakistan Imran Khan- India TV Hindi News
Image Source : PTI Pakistan Imran Khan

Highlights

  • इमरान खान ने कहा कि वह रैली जारी रखेंगे
  • विपक्षी सरकार के खिलाफ लगातार बोल रहे खान
  • उन्होंने कहा कि वह हकीकी आजादी की लड़ाई लड़ रहे

Pakistan Imran: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि वह विरोधियों के खिलाफ अपनी राजनीतिक रैली जारी रखेंगे। उन्होंने दावा किया कि उनकी लड़ाई ‘हकीकी आजादी’ (वास्तविक स्वतंत्रता) के लिए है। खान का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब पाकिस्तान बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। डॉन अखबार की खबर के मुताबिक, पंजाब प्रांत के झेलम जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए 69 वर्षीय खान ने शनिवार को आरोप लगाया कि वह उन ‘चोरों’ के खिलाफ युद्ध छेड़ रहे हैं, जिन्होंने 30 साल तक पाकिस्तान को लूटा। साथ ही उन्होंने कहा कि वह कानून की सर्वोच्चता स्थापित करने के लिए भी लड़ रहे हैं।

खान ने कहा कि उनकी रैली के खिलाफ व्यापक स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। लगातार रैली आयोजित करने के लिए हाल में खान की आलोचना की गई थी क्योंकि पाकिस्तान भीषण बाढ़ की चपेट में है, जिसके चलते अब तक 1,000 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। खान ने इस आरोप को खारिज किया कि वह संकट के समय राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने इसे ‘हकीकी आजादी की लड़ाई’ करार दिया। 

 
एक हजार से अधिक लोगों की मौत

पाकिस्तान में जून के मध्य से अब तक बाढ़-जनित घटनाओं में 1,000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ से गांवों में पानी भर गया और फसलें बर्बाद हो गईं। सैनिकों और बचावकर्मियों ने प्रभावित क्षेत्रों से फंसे हुए लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया और हजारों विस्थापित लोगों को भोजन मुहैया कराया। पाकिस्तान के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि इस साल मॉनसून का मौसम शुरू होने के बाद से 1,033 लोगों की मौत हुई है। खैबर पख्तूनख्वा और दक्षिणी सिंध प्रांतों में बाढ़-जनित घटनाओं में कई लोगों के जान गंवाने के मामले सामने आने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ी है। पाकिस्तान में इस बार मॉनसून तय समय से पहले आया था।

कहां कितने लोगों ने गंवाई जान?

सिंध में अब तक 347, बलूचिस्तान में 238, खैबर पख्तूनख्वा में 226, पंजाब में 168, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में 38, गिलगित बल्टिस्तान में 15 और इस्लामाबाद में एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। बाढ़ से 3451.5 किलोमीटर सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं। इसके अलावा 147 पुल बह गए, 170 दुकानें नष्ट हो गई और 9,49,858 मकान आंशिक रूप से या पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र 30 अगस्त को पाकिस्तान को 16 करोड़ डॉलर की सहायता जारी कर सकता है। ब्रिटेन ने भी सहायता के लिए 15 लाख पौंड देने की घोषणा की है। मुस्लिम देशों में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), तुर्की और ईरान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ से टेलीफोन पर बात कर सहायता देने की पेशकश की है।

Latest World News

navratri-2022