1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. मोडर्ना ने अमेरिका और यूरोपीय रेगुलेटर्स से कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति मांगी

मोडर्ना ने अमेरिका और यूरोपीय रेगुलेटर्स से कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति मांगी

मोडर्ना इंक ने सोमवार को घोषणा कर कहा कि वह कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन प्रयोग की इजाजत के लिए अमेरिकी और यूरोपीय नियामकों से अनुमति की प्रक्रिया के लिए आगे बढ़ रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 30, 2020 23:04 IST
मोडर्ना ने अमेरिका और यूरोपीय रेगुलेटर्स से कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति मांगी- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO मोडर्ना ने अमेरिका और यूरोपीय रेगुलेटर्स से कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति मांगी

न्यूयार्क: मोडर्ना इंक ने सोमवार को घोषणा कर कहा कि वह कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन प्रयोग की इजाजत के लिए अमेरिकी और यूरोपीय नियामकों से अनुमति की प्रक्रिया के लिए आगे बढ़ रहा है। मोडर्ना कोविड-19 वैक्सीन 94 प्रतिशत तक प्रभावी है। कंपनी ने हाल ही में अपनी वैक्सीन mRNA-1273 के तीसरे चरण के ट्रायल से जुड़े आंकड़े जारी किए थे।

गौरतलब है कि मोडर्ना ने यूएस नेशनल इंटिस्यूट ऑफ हेल्थ के साथ समझौता कर रखा है और बीते सप्ताहांत में इसके अंतिम बैच का परिणाम आया, जिससे पता चला की यह वैक्सीन 94 प्रतिशत तक प्रभावी है। 2020 के अंत तक, मोडर्ना को उम्मीद है कि उसके पास उपलब्ध mRNA-1273 वैक्सीन का करीब 20 मिलियन डोज उपलब्ध होगी। 

इससे बमुश्किल एक सप्ताह पहले फाइजर और इसके जर्मन सहयोगी बायो एन टेक ने अमेरिकी नियामक के समक्ष स्वीकृति के लिए आवेदन दाखिल किया था। वहीं, कोरोना वायरस के खिलाफ रूस द्वारा विकसित स्पुतनिक-5 टीका भी 95 प्रतिशत से ज्यादा असरदार पाया गया है। रूसी डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड के सीईओ किरिल दिमित्रिव ने 24 नवंबर को यह कहा था।

इनके अलावा ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा एस्ट्राजेनेका कंपनी की मदद से विकसित किये जा रहे कोविड-19 के टीके के तीसरे चरण के परीक्षण के अंतरिम परिणाम 23 नवंबर को प्रस्तुत किये गए थे, जिसमें यह संक्रमण की रोकथाम में 'प्रभावी' पाया गया है। दो बार की खुराक के सामूहिक आंकड़ों को देखें तो टीके का प्रभाव 70.4 प्रतिशत देखा गया। 

वहीं, दो अलग-अलग खुराकों में इसका प्रभाव एक बार 90 प्रतिशत और दूसरी बार 62 प्रतिशत रहा। शुरुआती संकेतों से लगता है कि यह टीका बिना लक्षण वाले संक्रमण के मामलों में वायरस के प्रसार को कम कर सकता है।

(इनपुट- IANS और भाषा)

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment