Donald Trump : अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के घर पर एफबीआई का छापा, दस्तावेजों की तलाश

Donald Trump : उन्होंने कहा कि मेरे घर पर इस तरह का अघोषित छापा उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि छापे की यह कार्रवाई न्याय प्रणाली का गलत इस्तेमाल है।

Niraj Kumar Edited By: Niraj Kumar
Updated on: August 09, 2022 15:16 IST
Donald Trump - India TV Hindi News
Image Source : FILE Donald Trump

Highlights

  • मेरे घर की घेराबंदी कर रखी है-ट्रम्प
  • न्याय प्रणाली का गलत इस्तेमाल-ट्रम्प

Donald Trump : अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के घर पर एफबीआई (FBI) का छापा पड़ा है। डोनाल्ड ट्रम्प ने खुद बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी है। ट्रम्प ने बताया कि सोमवार को फ्लोरिडा के पाम बीच में उनके मार-ए-लागो घर पर एफबीआई ने छापा मारा। उन्होंने बताया कि इस घर एफबीआई ने सीज कर लिया है। यहां बड़ी तादाद में एजेंसी के लोग हैं और उन्होंने इस घर की घेराबंदी कर रखी है। बताया जा रहा है कि एफबीआई की ये कार्रवाई राष्ट्रपति के आधिकारिक कागजात की तलाशी  के सिलसिले में की गई है जिसे ट्रम्प के व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद फ्लोरिडा लाया गया था।

अमेरिका के लिए काला वक्त

वहीं ट्रम्प ने कहा कि यह अमेरिका के लिए काला वक्त है। एफबीआई के कर्मचारियों ने देश के 45 वें राष्ट्रपति के घर में जबरन दाखिल होकर जांच की कार्रवाई की है। उन्होंने कहा कि मेरे घर पर इस तरह का अघोषित छापा उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि छापे की यह कार्रवाई न्याय प्रणाली का गलत इस्तेमाल है। उन्होंने इसे रेडिकल लेफ्ट डेमोक्रेट्स का हमला बताया और कहा कि वो नहीं चाहते हैं कि 2024 में राष्ट्रपति पद के लिए दावेदारी पेश करें। उन्होंने इस घटना को एक हमले के तौर बताया है।

दरअसल, अमेरिका का न्याय मंत्रालय इस बात की तफ्तीश कर रहा है कि क्या ट्रंप ने 2020 में व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद अपने फ्लोरिडा स्थित आवास पर गोपनीय रिकॉर्ड छिपाए हैं। ट्रंप ने कहा, ‘उन्होंने मेरी तिजोरी तक तोड़ दी। इसमें और वाटरगेट में क्या फर्क।’ एफबीआई ने ट्रंप के घर पर ऐसे वक्त में छापा मारा है जब वह 2024 में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए अपनी दावेदारी पेश करने की तैयारी कर रहे हैं। ट्रंप (76) ने आरोप लगाया कि ऐसा हमला केवल तीसरी दुनिया यानी गरीब और विकासशील देशों में ही हो सकता है।

अमेरिकी लोगों के लिए लड़ाई लड़ता रहूंगा-ट्रम्प

उन्होंने कहा, ‘दुखद रूप से अमेरिका उन देशों में से एक बन गया है, पहले इस स्तर का कदाचार नहीं देखा गया।’ उन्होंने आरोप लगाया कि यह राजनीतिक रूप से निशाना बनाने की कार्रवाई है। उन्होंने कहा, ‘मैं अमेरिकी लोगों के लिए लड़ाई लड़ता रहूंगा।’ गौरतलब है कि ट्रंप अमेरिकी संसद भवन पर छह जनवरी 2021 को हमला करने वाली भीड़ को कथित तौर पर भड़काने के एक अन्य मामले में भी जांच का सामना कर रहे हैं।

Latest World News