1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर

मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने इसरो के चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की लैंडिंग साइट की तस्वीर ट्वीट की है। तस्वीर में नासा ने उस स्पॉट को दिखाया है जहां पर लैंडर की हार्ड लैंडिंग हुई थी। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: December 03, 2019 6:47 IST
मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर- India TV Hindi
मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर

नई दिल्ली: अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने इसरो के चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की लैंडिंग साइट की तस्वीर ट्वीट की है। तस्वीर में नासा ने उस स्पॉट को दिखाया है जहां पर लैंडर की हार्ड लैंडिंग हुई थी। इस तस्वीर को नासा के लूनर लूनर रिकनैसैंस ऑर्बिटर के जरिए लिया गया है। तस्वीर में लैंडर के बिखरे टुकड़ों को दिखाया गया है। इसके साथ-साथ लैंडर की हार्ड लैंडिंग से चांद की मिट्टी पर इम्पैक्ट को भी दिखाया गया है। बता दें कि 6 सितंबर को इसरो ने चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण किया था लेकिन आखिरी वक्त में तकनीकी गड़बड़ी की वजह से ये कामयाब नहीं रहा था।

इससे पहले अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने विक्रम के बारे में सूचना देने की उम्मीद जताई थी, क्योंकि उसका लूनर रिकनैसैंस ऑर्बिटर उसी स्थान के ऊपर से गुजरने वाला था, जिस स्थान पर भारतीय लैंडर विक्रम के गिरने की संभावना जताई गई थी।

नासा ने एक बयान में कहा, "शनमुगा शानमुगा द्वारा मुख्य दुर्घटनास्थल के उत्तर-पश्चिम में लगभग 750 मीटर की दूरी पर स्थित मलबे को पहले मोज़ेक (1.3 मीटर पिक्सल, 84 डिग्री घटना कोण) में एक एकल उज्ज्वल पिक्सेल पहचान थी। नवंबर मोज़ेक सबसे अच्छा दिखाता है। मलबे के तीन सबसे बड़े टुकड़े 2x2 पिक्सेल के हैं।''

मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर

मिल गया चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर, NASA ने ट्वीट की तस्वीर

गौरतलब है कि इससे पहले नासा के लूनर रिकनैसैंस ऑर्बिटर कैमरा की टीम को लैंडर की स्थिति या तस्वीर नहीं मिल सकी थी। उस दौरान नासा ने कहा था, “जब लैंडिंग क्षेत्र से हमारा ऑर्बिटर गुजरा तो वहां धुंधलका था और इसलिए छाया में अधिकांश भाग छिप गया। संभव है कि विक्रम लैंडर परछाई में छिपा हुआ है। एलआरओ जब अक्टूबर में वहां से गुजरेगा, तब वहां प्रकाश अनुकूल होगा और एक बार फिर लैंडर की स्थिति या तस्वीर लेने की कोशिश की जाएगी।“

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X