UP News: IIT BHU में स्वतंत्रता दिवस पर शर्मनाक वाकया, तिरंगा फहराने के बाद 'अश्लील' भोजपुरी गाने पर डांस

UP News: आईआईटी बीएचयू में आजादी के अमृत महोत्सव पर जिमखाना ग्राउंड में तिरंगा फहराया गया। इस दौरान करीब 200 से ज्यादा छात्र-छात्रा बेफिक्र होकर अश्लील गानों पर नाच-गाना करने लगे। डांस का वीडियो वायरल होते ही लोगों ने कहा यह कि यह आजादी के अमृत महोत्सव में भद्दा मजाक है।

Khushbu Rawal Edited By: Khushbu Rawal
Published on: August 16, 2022 17:35 IST
IIT BHU Campus- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV IIT BHU Campus

Highlights

  • IIT BHU में तिरंगा फहराने के बाद अश्लील गानों पर डांस
  • म्यूजिक सिस्टम को मोबाइल से जोड़ा और बजा दिए भोजपुरी गाने
  • NSUI ने जताया कड़ा ऐतराज, दी विरोध प्रदर्शन की धमकी

UP News: काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद ‘‘अश्लील’’ भोजपुरी गाना बजाए जाने के मामले की जांच के आदेश दिए हैं। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर सार्वजनिक होने के बाद इसकी काफी आलोचना हुई, जिसके बाद आईआईटी प्रशासन ने मामले की जांच के लिए एक समिति का गठन किया है।

जानें, क्या है पूरा मामला

बता दें कि आजादी के अमृत महोत्सव पर सोमवार को जिमखाना ग्राउंड में तिरंगा फहराया गया। यूनिवर्सिटी के छात्रों ने झंडे के नीचे भोजपुरी सॉन्ग 'लॉलीपॉप लागेलू' और 'पल-पल न माने टिंकू जिया' पर डांस किया। करीब 200 से ज्यादा छात्र-छात्रा बेफिक्र होकर अश्लील गानों पर नाच-गाना करने लगे। यह काफी देर तक चलता रहा। इस दौरान वहा मौजूद लोगों में से किसी ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया जिसके बाद हड़कंप मच गया।

डांस का वीडियो वायरल होते ही लोगों ने कहा यह कि यह आजादी के अमृत महोत्सव में भद्दा मजाक है। लोग छात्रों के इस कृत्य की कड़ी निंदा कर रहे हैं।

‘म्यूजिक सिस्टम’ को अपने मोबाइल फोन से जोड़ा और बजा दिए भोजपुरी गाने
IIT जनसंपर्क कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी आईआईटी के जिमखाना ग्राउंड में ध्वजारोहण का कार्यक्रम आयोजित किया गया था। कार्यक्रम के समापन के बाद अध्यापक और कर्मचारीगण वहां से चले गए, तभी कुछ युवाओं ने ‘म्यूजिक सिस्टम’ को अपने मोबाइल फोन से जोड़ लिया, भोजपुरी गाने बजाए और नाचने लगे। उन्होंने बताया कि ‘‘अश्लील’’ गीत सुनते ही विभाग के कर्मचारियों ने तुरंत गीत बंद करवा दिया और युवकों को मैदान से बाहर कर दिया।

संयुक्त रजिस्ट्रार राजन श्रीवास्तव ने बताया कि संस्थान ने घटना का संज्ञान लिया है और जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है। जांच की रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पूर्व प्राध्यापक अनिल उपाध्याय ने कहा कि आजादी के पर्व पर इस तरह से ‘‘अश्लील’’ गाने पर नाचना उचित नहीं है। उपाध्याय ने कहा, ‘‘बीएचयू का अपना एक गौरवपूर्ण इतिहास रहा है और बीएचयू प्रशासन को इस तरह की घटना नहीं होने देनी चाहिए थी।’’

NSUI ने दी विरोध प्रदर्शन की धमकी
वहीं, NSUI की बीएचयू इकाई के अध्यक्ष राणा रोहित ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर आईआईटी परिसर में अश्लील गानों पर डांस किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने धमकी दी कि अगर जिम्मेदार छात्रों पर सख्त कार्रवाई नहीं होती तो एनएसयूआई कार्यकर्ता संस्थान के निदेशक कार्यायल का घेराव करेंगे।

Latest Uttar Pradesh News

navratri-2022