1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. Vastu Tips: नवरात्रि में घी का दीपक जलाएं या तेल का? कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलतियां

Vastu Tips: नवरात्रि में घी का दीपक जलाएं या तेल का? कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलतियां

 आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए वास्तु के अनुसार नवरात्रि में दीपक कहां और किस चीज पर रखना चाहिए।

India TV Lifestyle Desk Written by: India TV Lifestyle Desk
Published on: April 03, 2022 6:34 IST
Navratri 2022- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Navratri 2022

Highlights

  • आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए नवरात्रि के लिए वास्तु टिप्स
  • वास्तु के हिसाब से पूजा करने से मिलता है सही फल

वास्तु शास्त्र वास्तुकला की पारंपरिक भारतीय प्रणाली पर ग्रंथ हैं। ये ग्रंथ डिजाइन, लेआउट, जमीन की तैयारी और स्थानिक ज्यामिति के सिद्धांतों का वर्णन करते हैं। अगर आप वास्तु के हिसाब से अपनी साज-सज्जा करते हैं तो ये हमें अच्छा फल देता है। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए वास्तु के अनुसार नवरात्रि में दीपक कहां और किस चीज पर रखना चाहिए।

वास्तु टिप्स: नवरात्रि का कलश स्थापना करते वक्त रखें इन बातों का ध्यान, वरना हो सकती है दिक्कत

नवरात्रि के लिए वास्तु टिप्स

नवरात्रि के वास्तु शास्त्र में आज चर्चा करेंगे कि दीपक कहाँ और किस चीज का रखना चाहिये। दीपक या तो घी का होना चाहिये या तिल के तेल का। घी का दीपक देवता के दाहिने हाथ यानि अपने बायें हाथ की तरफ रखना चाहिये और तिल के तेल का दीपक देवता के बायें हाथ यानि आपके दाहिने हाथ की ओर होना चाहिये। घी के दीपक में सफ़ेद खड़ी बत्ती लगानी चाहिये जबकि तिल के तेल में लाल और पड़ी बत्ती लगानी चाहिये। घी का दीपक देवता के लिये समर्पित होता है जबकि तिल के तेल का दीपक आपकी कामनाओं की पूर्ती के लिये होता है। आप आवश्यकतानुसार एक या दोनों दीपक जला सकते हैं। इससे घर के वास्तु का अग्नि तत्व मजबूत होता है।

चैत्र नवरात्र 2022: मां के नौ स्वरूपों को लगाएं नौ तरह के भोग, यहां जानिए हर दिन का भोग

वास्तु शास्त्र आज बात हुई नवरात्र के दौरान दीपक कहाँ और किस चीज का रखना चाहिए। उम्मीद है आप इस वास्तु टिप्स को अपना कर जरुर लाभ उठायेंगे। 

Chaitra Navratri 2022: पूजा करते वक्त इन बातों का रखिए ध्यान, बनी रहेगी मां दुर्गा की कृपा

Gudi Padwa 2022: 2 अप्रैल को है गुड़ी पड़वा, जानें शुभ मुहूर्त, कथा और तोरण और पताका लगाने का नियम

Chaitra Navratri 2022: नवरात्रि के दूसरे दिन होती है मां ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त, भोग, विधि