Saturday, June 22, 2024
Advertisement

अमेरिका ने नहीं की इजराइल की परवाह, गाजा में राहत सामग्री पहुंचाने के लिए बना डाला Floating Pier

गाजा में मानवीय संकट गहरा गया है। लोगों के पास खाने और पीने की चीजें तक नहीं पहुंच रही हैं। इस बीच अमेरिका ने गाजा में राहत सामग्री की पहुंच बनानमे के लिए तैरते पोतघाट का निर्माण किया है।

Edited By: Amit Mishra @AmitMishra64927
Published on: May 17, 2024 18:37 IST
US built Floating Pier to help gaza- India TV Hindi
Image Source : AP US built Floating Pier to help gaza

वाशिंगटन: युद्धग्रस्त गाजा पट्टी में अमेरिका की तरफ से हाल में बनाए गए एक तैरते पोतघाट के जरिए राहत सामग्री लेकर ट्रक पहली बार शुक्रवार को संकटग्रस्त इलाके में पहुंचे। इजराइल ने गाजा में जारी भीषण युद्ध के बीच जमीनी सीमा पर प्रतिबंध लगा दिए हैं जिसके कारण लोगों तक खाद्य एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बाधित हो गई थी। अमेरिकी सैन्य अधिकारियों का अनुमान है कि इस पोतघाट के जरिए गाजा पट्टी में एक दिन में 150 ट्रक ले जाए जा सकते हैं। 

इजराइल ने तेज की लड़ाई 

इस बीच, इजराइल ने दक्षिणी शहर रफह में हमास के खिलाफ सात महीने से जारी लड़ाई को और तेज कर दिया है। अमेरिका और सहायता समूहों ने साथ ही इस बात को लेकर सचेत किया कि इस पोतघाट परियोजना को जमीनी मार्ग से आपूर्ति पहुंचाए जाने का विकल्प नहीं माना जा सकता। उनका कहना है कि जमीनी मार्ग के जरिए ही गाजा में आवश्यक भोजन, पानी और ईंधन पहुंचाया जा सकता है। युद्ध से पहले, औसतन प्रतिदिन 500 से अधिक ट्रक गाजा में प्रवेश करते थे। 

हमास ने किया था हमला 

हमास की ओर से पिछले साल सात अक्टूबर को इजराइल में घुसकर किए गए हमले के बाद से इजराइल ने गाजा की नाकेबंदी कर दी है। इसकी वजह से ट्रकों का परिचालन करने के लिए ईधन की कमी, आतंकवादी हमले, सामरिक बाधाएं बनी हुई हैं। हमास ने सात अक्टूबर को इजराइल पर हमला किया था और इस हमले में 1,200 लोग मारे गए थे तथा 250 लोगों को बंधक बना लिया गया था। इस हमले के जवाब में इजराइल ने भी गाजा में हमास पर हमला किया। 

गाजा में अकाल जैसे हालात 

स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि इजराइल के हमले में गाजा पट्टी में 35,000 से अधिक फलस्तीनी मारे गए हैं। सहायता एजेंसियों का कहना है कि दक्षिणी गाजा में खाने-पीने की चीजें खत्म हो रही हैं और ईंधन का भंडार तेजी से कम हो रहा है, जबकि अमेरिकी अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी और विश्व खाद्य कार्यक्रम का कहना है कि गाजा के उत्तर में पहले ही अकाल की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है। 

पूरी तरह से मानवीय प्रयास 

सैनिकों ने बृहस्पतिवार को तैरते पोतघाट स्थापित करने का काम पूरा कर लिया और अमेरिकी सेना की मध्य कमान ने कहा कि शुरुआती सहायता शुक्रवार सुबह नौ बजे गाजा पहुंची। इसमें कहा गया है कि ऑपरेशन में कोई भी अमेरिकी सैनिक तट पर नहीं गया। कमान ने कहा, ‘‘ समुद्री गलियारे के माध्यम से गाजा में फलस्तीनी नागरिकों को अतिरिक्त सहायता देने का यह एक सतत, बहुराष्ट्रीय प्रयास है जो पूरी तरह से मानवीय है, और इसमें कई देशों और मानवीय संगठनों द्वारा दान की गई सहायता वस्तुएं शामिल होंगी।’’ 

ईंधन की सख्त जरूरत

पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) ने कहा कि वितरण प्रक्रिया में उसकी ओर से किसी प्रकार की सहायता की उम्मीद नहीं है। इसका समन्वय संयुक्त राष्ट्र द्वारा किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र के उप प्रवक्ता फरहान हक ने कहा, ‘‘हमें ईंधन की सख्त जरूरत है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि राहत सामग्री समुद्र के रास्ते आ रही है या जमीन के, लेकिन बिना ईंधन यह लोगों तक नहीं पहुंचेगा।’’ 

मानवीय सहायता पर रोक नहीं लगाएगा इजराइल

पेंटागन की प्रवक्ता सबरीना सिंह ने कहा कि अमेरिका, इजराइल से की जाने वाली हर बातचीत में ईधन का मुद्दा उठाता है। इजराइल को आशंका है कि ईंधन का इस्तेमाल हमास लड़ाई में कर सकता है लेकिन उसने कहा है कि मानवीय सहायता पर वह कोई रोक नहीं लगाएगा। इजराइल ने गाजा पहुंच रही सामग्री के वितरण में देरी के लिए संयुक्त राष्ट्र को जिम्मेदार ठहराया है। अमेरिका के दबाव में इजराइल ने पिछले सप्ताह मुश्किल का सामना कर रहे गाजा के उत्तरी हिस्से में मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए दो रास्ते खोले थे। 

खतरे में कर्मचारियों की सुरक्षा

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती आपूर्ति में 500 टन राहत सामग्री पहुंचाई जाएगी। अमेरिका इजराइल के साथ पोत और तट पर काम कर रहे लोगों की सुरक्षा के लिए समन्वय कर रहा है। यूएसएड के मानवीय सहायता ब्यूरो की सहायक प्रशासक सोनाली कोरदे ने कहा कि अब भी खाद्य सामग्री का वितरण करने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर सवाल है। (एपी)

यह भी पढ़ें: 

गाजा में जान गंवाने वाले कर्नल को अंतिम सम्मान, भारत लाया जा रहा है काले का पार्थिव शरीर

गाजा में नरसंहार को लेकर ICJ में चल रहा मुकदमा, दुनिया कर रही इजराइल के जवाब का इंतजार

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement