1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. इलेक्‍शन न्‍यूज
  5. यूपी चुनाव 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को ऊंचाहार से नहीं मिला टिकट, इस सीट से लड़ने की संभावना

यूपी चुनाव 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को ऊंचाहार से नहीं मिला टिकट, इस सीट से लड़ने की संभावना

सपा की ओर से जारी उम्मीदवारों की लिस्ट की सबसे खास बात ये है कि हाल ही में बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को पार्टी ने टिकट नहीं दिया है। सपा ने रायबरेली की ऊंचाहार सीट से मनोज पांडेय को ही टिकट दिया है।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 24, 2022 19:40 IST
यूपी चुनाव 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को ऊंचाहार से नहीं मिला टिकट, इस सीट से लड़ने की संभावन- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV यूपी चुनाव 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को ऊंचाहार से नहीं मिला टिकट, इस सीट से लड़ने की संभावना

Highlights

  • सपा ने रायबरेली की ऊंचाहार सीट से मनोज पांडेय को दिया टिकट
  • अखिलेश यादव मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे

Uttar Pradesh Vidhan Sabha Chunav 2022: समाजवादी पार्टी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपने 159 और उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। सपा की ओर से जारी उम्मीदवारों की लिस्ट की सबसे खास बात ये है कि हाल ही में बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे को पार्टी ने टिकट नहीं दिया है। सपा ने रायबरेली की ऊंचाहार सीट से मनोज पांडेय को ही टिकट दिया है। खुद पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे। वहीं अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव इटावा की जसवंतनगर सीट से ताल ठोक रहे हैं।

वहीं रामपुर सीट से सपा सांसद आजम खां को पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है। इसके साथ ही स्वार विधानसभा सीट से आजम के बेटे अब्दुल्ला को टिकट दिया गया है। हालांकि इस सूची में हाल ही में बीजेपी छोड़कर सपा में आए स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे का नाम नहीं है, जिसके बाद चर्चाएं तेज हो गई हैं। इधर, बीते कई दिनों से सुर्खियों से आए कैराना से सपा ने नाहिद हसन को मैदान में उतारा है। गौरतलब है कि, नाहिद हसन गैंगस्टर एक्ट के तहत में जेल में बंद हैं।

बता दें कि, रायबरेली की ऊंचाहार सीट पर 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव में दोनों बार सपा उम्मीदवार के तौर पर पूर्व कैबिनेट मंत्री मनोज पांडेय ने ही जीत दर्ज की है। ऊंचाहार रायबरेली जिला मुख्यालय से 38 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस विधानसभा सीट पर सबसे अधिक दलित मतदाता हैं, खासकर पासी समुदाय के। इसके बाद यादव, मौर्या, ब्राह्मण, राजपूत, मुस्लिम, एससी,  लोध, कुर्मी समेत ओबीसी जातियां भी निर्णायक स्थिति में रहती हैं।

बताया जा रहा है कि, योगी सरकार में श्रम एवं सेवायोजन मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने बेटे के चुनावी सीट को लेकर ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) से इस्तीफा दे दिया है। स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे उत्कृष्ट मौर्य को सपा फाफामऊ विधानसभा से चुनाव लड़ा सकती है। बता दें कि, बीजेपी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में स्वामी प्रसाद के बेटे उत्कृष्ट मौर्य को रायबरेली के ऊंचाहार से चुनाव लड़वाया था, लेकिन वे सपा प्रत्याशी मनोज पांडेय से हार गए थे।  

सपा ने 30 स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की

समाजवादी पार्टी ने विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 30 स्टार प्रचारकों की लिस्ट भी जारी कर दी है। इसमें हाल में भाजपा सरकार में मंत्री पद छोड़ कर आए स्वामी प्रसाद मौर्य भी शामिल हैं। सूची में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, अध्यक्ष अखिलेश यादव, उपाध्यक्ष किरनमय नंदा, प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव, महासचिव रामलाल जी सुमन, सांसद जया बच्चन भी शामिल हैं। इसके अलावा पूर्व सांसद डिंपल यादव, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम, नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, राष्ट्रीय सचिव रमेश प्रजापति के अलावा फ्रंटल संगठनों के पदाधिकारियों को भी स्टार प्रचारकों की सूची में रखा गया है।

 

erussia-ukraine-news