1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. एक शख्स ने पूरे शहर को बना दिया हॉटस्पॉट, नागपुर के अब्दुल ने बीमारी छिपाई, 200 की जान पर बन आई

एक शख्स ने पूरे शहर को बना दिया हॉटस्पॉट, नागपुर के अब्दुल ने बीमारी छिपाई, 200 की जान पर बन आई

कोरोना वायरस से लड़ाई पूरा देश, सरकार, आप और हम सभी लड़ रहे हैं लेकिन इस लड़ाई में हर रोज नए खलनायक सामने आ रहे हैं। इस लड़ाई में महाराष्ट्र के नागपुर से एक ऐसा खलनायक सामने आया है जिसकी वजह से संतरे के शहर में हर ओर दहशत है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 23, 2020 10:58 IST
coronavirus in nagpur - India TV Hindi
coronavirus in nagpur 

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से लड़ाई पूरा देश, सरकार, आप और हम सभी लड़ रहे हैं लेकिन इस लड़ाई में हर रोज नए खलनायक सामने आ रहे हैं। इस लड़ाई में महाराष्ट्र के नागपुर से एक ऐसा खलनायक सामने आया है जिसकी वजह से संतरे के शहर में हर ओर दहशत है। दुबई से लौटे एक शख्स के चलते शहर के कम से कम 44 लोग कोरोना वायरस के जानवेला जबड़े में फंस गए हैं जबकि 144 लोगों की रिपोर्ट का अभी इंतजार है। सोचकर देखिए इनमें से आधे लोग भी अगर संक्रमित पाए गए तो एक शख्स की लापरवाही से पता नहीं कितने लोगों की जान खतरे में होगी।

5 अप्रैल को 68 साल के अब्दुल लतीफ की मौत हो गई लेकिन अपने परिवार और रिश्तेदार और पड़ोसियों को वो मुफ्त में कोरोना बांट गए। एक व्यक्ति के जरिए सिर्फ पूरे परिवार को ही कोरोना नहीं हुआ है, रिश्तेदारों और पूरे मोहल्ले को कोरोना हो गया। अब्दुल लतीफ का परिवार बहुत बड़ा है। पहले अब्दुल के बेटे को कोरोना हुआ, उससे पहली बहू को इन्फेक्शन फैला। बहू से उसके भाई और भाभी को भी कोरोना हो गया। अब्दुल लतीफ की तीन बेटियों को भी इन्फेक्शन हुआ। सोचिए कैसा चेन रिएक्शन हुआ कि दूसरी बेटी की दो बेटियों और एक बेटे को भी ये बीमारी लग गई। पूरे परिवार में अब तक 26 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं।

कुल मिलाकर एक अब्दुल लतीफ की वजह से पूरा कुनबा जानलेवा वायरस का शिकार हो गया। अब्दुल लतीफ तीन अप्रैल को अस्पताल पहुंचे थे, टीबी के मरीज थे लेकिन मौत के बाद जब कोरोना टेस्ट हुआ तो वो पॉजिटिव निकले। इसके बाद जांच शुरू हुई तो पता चला दुबई से लौटे थे और उन्होंने इसकी जानकारी किसी को नहीं दी थी। पूछताछ शुरू हुई तो पता चला कि अब्दुल लतीफ 19 ऐसे लोगों के लगातार संपर्क में थे जिनकी नागपुर में दुकानें हैं।

नागपुर म्युनिसिपरल कॉर्पोरेशन ने सबसे पहले हार्डवेयर शॉप के दस लोगों की पहचान की जिसके बाद सबकी जांच हो रही है। उसके बाद जिस जांच घर में अब्दुल लतीफ जांच कराने गए थे, वहां जांच हुई तो एक नर्स कोरोना पॉजिटिव मिली। अब नर्स के संपर्क में कितने लोग आए उनकी जांच हो रही है। अच्छी बात सिर्फ ये है कि किराना स्टोर और मेडिकल स्टोर के कर्मचारियों की जांच हुई तो पता चला रिपोर्ट निगेटिव हैं। अब्दुल लतीफ के संपर्क में एक दो नहीं नागपुर के दो दर्जन से ज्यादा परिवार आए हैं। दूध वाले, अखबार वाले, मिठाई वाले, किराना वाले, दवाई वाले सबको ढूंढा जा रहा है और इनमें से सिर्फ और सिर्फ 200 लोगों तक ही जांच अधिकारी पहुंचे हैं।

अब तक परिवार के 89 लोगों का सैंपल लिया गया, 42 पॉजेटिव मिले हैं, 36 लोगों की रिपोर्ट आने वाली है। परिवार से बाहर 110 लोगों का सैंपल लिया गया, दो पॉजिटिव मिले हैं जबकि 108 लोगों की रिपोर्ट आज आ सकती है। यानी एक शख्स के चलते 199 लोगों का टेस्ट हुआ है, 44 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए और 144 लोग अभी टेंशन में हैं।

bigg boss 15