1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. आखिर क्यों इस बार तेजी से फैल रहा है कोरोना और कैसे बचा जा सकता है? ICMR के पूर्व चीफ से जानिए

आखिर क्यों इस बार तेजी से फैल रहा है कोरोना और कैसे बचा जा सकता है? ICMR के पूर्व चीफ से जानिए

देश में कोरोना की सुनामी हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है तो मौत का सबसे बड़ा अटैक भी कर रही है। पिछले 24 घंटे में सारे आंकड़े पीछे छूट गए हैं। कोरोना का कांटा 2 लाख को भी पार कर गया है...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 16, 2021 12:19 IST
आखिर क्यों इस बार...- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO आखिर क्यों इस बार तेजी से फैल रहा है कोरोना और कैसे बचा जा सकता है? ICMR के पूर्व चीफ से जानिए

नई दिल्ली: देश में कोरोना की सुनामी हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है तो मौत का सबसे बड़ा अटैक भी कर रही है। पिछले 24 घंटे में सारे आंकड़े पीछे छूट गए हैं। कोरोना का कांटा 2 लाख को भी पार कर गया है जबकि क़रीब 1200 ज़िंदगी 24 घंटे में ख़त्म हो गई है। आखिर क्यों इस बार कोरोना तेजी से फैल रहा है और इससे कैसे बचा जा सकता है? आइए जानते हैं इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के पूर्व चीफ डॉ आर गंगाखेडकर इस पर क्या कहते हैं-

ICMR के पूर्व चीफ ने कहा, ''हमें याद रखना पड़ेगा कि यह दूसरी लहर है, हम पुराने समय में बोलते थे कि क्या कम्युनिटी ट्रांसमिशन है क्या, अब यह तो चारों तरफ फैला हुआ ट्रांसमिशन है और इस ट्रांसमिशन में बहुत तेजी से बढ़ता नजर आएगा। हर जगह इसके सीड पहुंच चुके हैं, लोगों को यह जो लग रहा था कि हम पहली लहर में जीत चुके हैं और हमारे देश ने इसे झुकाकर दिखाया, यह तो गलत था। जबतक यह संक्रमण सारी दुनिया में कहीं से गया नहीं तबतक हमें कोरोना नियमों का पालन करना है और इसे याद रखना है, जब भी कोई संक्रमण को हम पूरी तरह खत्म करने की सोचते हैं और वह कम होने लगता है, तो हमें प्रिवेंटिम मेजर कम करने के बजाय बढ़ाना होता है। हमें इसपर खुश नहीं होना है कि हम जीत गए लेकिन यह कल्पना भर थी।''

उन्होंने कहा, ''अब इसका रिफ्लेक्शन कम्युनिटी में भी दिखाई दिया और कम्युनिटी ने भी नियम फॉलो करना छोड़ दिए लेकिन हमारा मानना है कि जहां भी चाहिए कोविड नियमों का पालन करें, जल्द से जल्द वैक्सीन लेने का प्रयास करें, जिस तेजी से बढ़ रहा है उस तेजी से नहीं बढ़ेगा और शायद जल्द मामले घटेंगे। हम तो वेरिएंट को ब्लेम कर रहे हैं लेकिन पहले खुद के अंदर झांकने की जरूरत है, अगर मैंने नियमों का पालन नहीं किया तो मुझे संक्रमण का खतरा रहेगा ही चाहे वेरिएंट कोई भी हो। लापरवाही छोड़नी होगी और खुद से नियमों का पालन शुरू कर दीजिए।''

आगे उन्होंने कहा, ''हमारे यहां पहला वायरस वुहान से आया था उसके बाद पहला म्युटेशन दिखा था, अब हमको वायरस के बारे में एक चीज समझना पड़ेग कि जब वायरस की सेकेंड जेनरेशन पैदा होगी तो उस समय वह उतना मजबूत नहीं होगा, नए नए म्यूटेशन आते रहेंगे, सारे म्यूटेशन खतरनाक नहीं होते लेकिन कुछ हो सकते हैं। नए नए म्यूटेशन आते रहेंगे लेकिन उससे डरना नहीं है, हर तरह के वायरस से निपटने में मास्क बचाता है, ऐसे में नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है।''

वहीं, डॉ मोहन जोशी ने कहा कि इस वायरस के संक्रमण की दर बहुत ज्यादा है और परिवार में अगर एक व्यक्ति संक्रमित होता है तो पूरे परिवार के संक्रमण होने का खतरा पहले के मुकाबले ज्यादा है। 24-48 घंटे में पूरा परिवार पॉजिटिम मिल रहे हैं, महाराष्ट्र में पूरी बिल्डिंग एक साथ पॉजिटिव हो रही है। नौजवान ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं इसकी वजह है कि वे नियमों का ठीक तरह से पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें पारिवारिक जरूरतों के लिए घर से बाहर निकलना पड़ रहा है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X