1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Rajat Sharma’s Blog: पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन से मोदी ने तय की यूपी अभियान की रूपरेखा

Rajat Sharma’s Blog: पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन से मोदी ने तय की यूपी अभियान की रूपरेखा

एक बात तो साफ है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी योगी के काम पर और मोदी के नाम पर चुनाव लड़ेगी।

Rajat Sharma Rajat Sharma
Published on: November 17, 2021 17:40 IST
Rajat Sharma Blog, Rajat Sharma Blog on Purvanchal Expressway, Narendra Modi- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV India TV Chairman and Editor-in-Chief Rajat Sharma.

पूर्वी उत्तर प्रदेश में मंगलवार को भारत के सबसे लंबे एक्सप्रेसवे का उद्घाटन कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को दिखा दिया कि विकास के मुद्दे पर सियासत कैसे होती है। 341 किमी लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लखनऊ से शुरू होता है, और अयोध्या, अमेठी एवं आजमगढ़ सहित 9 जिलों से गुजरते हुए गाजीपुर में नेशनल हाइवे-3 में जाकर मिल जाता है। भारतीय वायु सेना के लिए बनाई गई 3.2 किलोमीटर लंबी इमरजेंसी एयर स्ट्रिप पर मिराज, सुखोई, जगुआर फाइटर जेट और सुपर हरक्यूलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट ने सामरिक शक्ति का शानदार नजारा पेश करते हुए लैंड किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री के अलावा उत्तर प्रदेश के राज्यपाल और मुख्यमंत्री भी मौजूद थे।

एयर शो का मकसद यह संदेश देना था कि एक्सप्रेसवे को परिवहन के साथ-साथ जंग जैसे हालात में हवाई पट्टी के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी के अभियान को भी टेक ऑफ करवा दिया।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव यह दावा कर सकते हैं कि एक्सप्रेस-वे पर काम उनके कार्यकाल में शुरू हुआ था और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर फाइटर जेट्स की लैंडिंग उनके मुख्यमंत्री रहते हुए हुई थी। वहीं, कांग्रेस के नेता कह सकते हैं कि उनकी पार्टी के शासन वाले राजस्थान के बाड़मेर में नेशनल हाइवे की एयर स्ट्रिप पर वायुसेना के विमान पहले ही लैंड कर चुके हैं। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती दावा कर सकती हैं कि उत्तर प्रदेश में एक्सप्रेसवे बनाने की शुरुआत उनके शासनकाल में हुई थी, तो इसमें नया क्या है? बीजेपी की सरकार ने एक एक्सप्रेसवे बना दिया तो इसका इतना ढोल क्यों पीट रही है?

पीएम मोदी ने इसका जवाब दिया। मोदी ने याद दिलाया कि उत्तर प्रदेश के पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए विकास उनके घरों तक ही सीमित था।  उन्होंने कहा कि अच्छी सड़कों की कमी की वजह से उत्तर प्रदेश के शहर व्यावहारिक तौर पर एक दूसरे से कटे हुए थे। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे के शुरू होने से पूर्वी उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिले अब सूबे की राजधानी लखनऊ से जुड़ जाएंगे।

मोदी ने कहा कि 22 हजार करोड़ रुपये की लागत से बने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से पड़ोसी राज्य बिहार के लोगों को भी फायदा होगा। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि इस एक्सप्रेसवे को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरे पर्फेक्शन और ईमानदारी के साथ पूरा करना कोई आसान काम नहीं था। उन्होंने कहा, जब उन्होंने 3 साल पहले एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था तो उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वह इस एक्सप्रेसवे पर एयरफोर्स के प्लेन से उतरेंगे। उन्होंने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को यूपी की ‘शान’ और ‘कमाल’ बताया।

मोदी की यह बात तो सही है कि विकास अच्छी सड़कों के जरिए ही आता है। गुजरात और पंजाब में अच्छी सड़कों के कारण तेजी से औद्योगीकरण हुआ और इन राज्यों ने तरक्की की। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सड़कों के मामले में बहुत पिछड़े थे, लेकिन अब दोनों राज्यों में बेहतर सड़कें बनाई गई हैं। मोदी ने आरोप लगाया कि यूपी की पिछली सरकारों ने जानबूझकर सड़कों पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने पूर्वी यूपी को माफिया, और यहां के लोगों को भयानक गरीबी के हवाले कर दिया था।

प्रधानमंत्री ने यूपी में बीजेपी के प्रचार अभियान की लाइन और लेंथ तय कर दी है। उन्होंने राजनीतिक विरोधियों के जख्मों पर नमक छिड़कते हुए कहा कि 2016 तक यूपी में 'राहजनी' हुआ करती थी, लेकिन अब नई 'राहें' बन रही हैं। उन्होंने कहा कि हाईवे पर लूटपाट करने वाले अब जेलों में हैं, पहले यूपी में अंधेरा रहता था, लेकिन अब हर गांव रोशन है, हर घर में शौचालय है, हर घर में पानी की सप्लाई है, हर घर में नल है और हर नल में जल है।

एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ और वायुसेना प्रमुख के साथ एयरफोर्स के विमानों को इमरजेंसी एयर स्ट्रिप पर उतरते देखा।

45 मिनट तक चले इस शानदार एयरशो में मिराज, सुखोई, जगुआर लड़ाकू विमानों ने सुपर हरक्यूलिस और AN-32 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के साथ एयर स्ट्रिप पर लैंड किया। वहां मौजूद विशिष्ठ अतिथियों के सामने लड़ाकू विमानों ने कई बार लैंडिंग और टेक-ऑफ किया।

मिराज, सुखोई और जगुआर सहित 5 लड़ाकू विमानों ने एक ऐरोहेड फॉर्मेशन में उड़ान भरी। इसके बाद मिराज, सुखोई और जगुआर लड़ाकू विमानों ने टच एंड गो लैंडिंग की। वहीं सुखोई-30 विमान ने एयर स्ट्रिप के काफी नजदीक हवा में कलाबाजी करते हुए उड़ान भरी तो वहां मौजूद लोगों ने जमकर तालियां बजायीं।

एक्सप्रेसवे पर किरण विमान द्वारा 2 सुखोई लड़ाकू विमानों के नेतृत्व में फ्लाईपास्ट के साथ एयर शो का समापन हो गया। यह हाल के दिनों में एक्सप्रेसवे पर वायुसेना के विमानों की चौथी लैंडिंग थी। इसके पहले यमुना एक्सप्रेसवे, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे और बाड़मेर के पास नेशनल हाइवे 925 पर वायुसेना के विमान लैंड कर चुके थे।

एक बात तो साफ है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी योगी के काम पर और मोदी के नाम पर चुनाव लड़ेगी। अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है और ऐसे में चुनावों में भगवान राम का नाम भी लिया जाएगा। योगी ने मंगलवार को इसका संकेत भी दिया। उन्होंने मंच पर जब मोदी का स्वागत किया तो उन्हें राम मंदिर का एक मॉडल भेंट किया। योगी ने अपने भाषण का समापन ‘जय श्री राम’ के नारे से किया, जो कि 90 के दशक में राम जन्मभूमि मंदिर आंदोलन का पसंदीदा नारा रहा है।

हालांकि मोदी ने सिर्फ विकास की बात की, इन्फ्रास्ट्रक्चर की बात की, गरीबों को मुफ्त राशन, मुफ्त दवा और मुफ्त वैक्सीन की बात की। उन्होंने सेना के मॉर्डनाइजेशन और देश की सुरक्षा की बात की। मोदी ने कहा कि सिर्फ विकास नहीं, देश की सुरक्षा भी जरूरी है, सेना की मजबूती भी जरूरी है। मोदी ने इल्जाम लगाया कि विरोधी दलों की सरकारों ने इन मुद्दों की तरफ ज्यादा ध्यान ही नहीं दिया। (रजत शर्मा)

देखें: ‘आज की बात, रजत शर्मा के साथ’ 16 नवंबर, 2021 का पूरा एपिसोड

bigg boss 15