Thursday, July 25, 2024
Advertisement

Street Dogs: एक राज्य में 18 लाख तो एक में '0', आवारा कुत्तों के मामले टॉप पर ये राज्य, देशभर में 1.53 करोड़ आबादी, आंकड़ों में देखें अपने राज्य का हाल

केरल से कांग्रेस नेता थॉमस चाजिकादानी के सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ने इन आकड़ों को जारी किया है। आंकड़े दो साल पहले हुई पशुधन गणना के हवाले से जारी किए गए हैं।

Written By: Shilpa
Updated on: August 03, 2022 12:44 IST
stray dogs- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV stray dogs

Highlights

  • देशभर में घटी आवारा कुत्तों की आबादी
  • यूपी में सबसे ज्यादा कम हुए हैं कुत्ते
  • देश के कुछ हिस्सों में एक भी कुत्ता नहीं

Street Dogs: भारत की सड़कों पर आवारा कुत्तों की आबादी 2019 में कम होकर 1.53 करोड़ रह गई है, जबकि ये संख्या 2012 में 1.71 करोड़ थी। ये जानकारी लोकसभा में मंगलावर को मत्स्यपालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला ने दी है। केरल से कांग्रेस नेता थॉमस चाजिकादानी के सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ने इन आकड़ों को जारी किया है। आंकड़े दो साल पहले हुई पशुधन गणना के हवाले से जारी किए गए हैं।

18 लाख: देशभर में 2012-2019 के बीच आवारा कुत्तों की आबादी में 10 फीसदी की कमी हुई है और यह 18 लाख तक घटी है। 

21 लाख: उत्तर प्रदेश में आवारा कुत्ते सबसे कम हुए हैं। ये आंकड़ा 2012 में 41.79 लाख से कम होकर 2019 में 20.59 लाख तक हुआ है, यानी 21 लाख कुत्ते कम हुए हैं।

3.7 लाख: उत्तर प्रदेश के बाद जहां आवारा कुत्तों की आबादी सबसे कम हुई है, वह राज्य आंध्र प्रदेश (तेलंगाना को मिलाकर) है। यहां 2012 में आवारा कुत्ते 12.3 लाख थे, जो 2019 में कम होकर 8.6 लाख रह गए। जिन 17 राज्यों में आवारा कुत्तों की संख्या 1 लाख या फिर इससे अधिक है, उनमें से 8 में इनकी आबादी कम हुई है। यूपी और आंध्र प्रदेश (तेलंगाना सहित) के अलावा, अन्य छह राज्य थे: बिहार (3.4 लाख की गिरावट), असम (3 लाख), तमिलनाडु (2 लाख), मध्य प्रदेश (2 लाख), झारखंड (98,000) और पश्चिम बंगाल (17 लाख) हैं।

stray dogs

Image Source : INDIA TV
stray dogs

2.6 लाख: यह कर्नाटक की गलियों में कुत्तों की संख्या में हुई वृद्धि है। जो किसी भी राज्य के मुकाबले सबसे अधिक है। शीर्ष 17 राज्यों में, राजस्थान में 1.25 लाख और ओडिशा (87,000), गुजरात (85,000), महाराष्ट्र (60,000), छत्तीसगढ़ (51,000), हरियाणा (42,000), जम्मू और कश्मीर (38,000), और केरल (21,000) है।

0: केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप में दो पशुधन गणनाओं में से किसी में भी सड़कों पर एक भी कुत्ते का जिक्र नहीं है। 2019 की जनगणना में, दो अन्य राज्यों में कोई आवारा कुत्ते नहीं पाए गए: दादरा और नगर हवेली (2012 में 2,173 से भारी गिरावट) और मणिपुर (जहां 2012 में 23 आवारा कुत्तों की गिनती की गई थी)। मिजोरम में, 2012 में गिनती शून्य थी; 2019 में यह बढ़कर 69 हो गई।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement