1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. कांग्रेस ने ISF मुद्दे पर आनंद शर्मा को लिया आड़े हाथ, मिला यह जवाब

कांग्रेस ने ISF मुद्दे पर आनंद शर्मा को लिया आड़े हाथ, मिला यह जवाब

कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा को परोक्ष तौर पर आड़े हाथ लेते हुए मंगलवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में पार्टी का गठबंधन एक धर्मनिरपेक्ष मोर्चा है जो बीजेपी से लड़ने के लिए बनाया गया है। कांग्रेस ने साथ ही पार्टी में सभी से आग्रह किया कि वे इसमें बिना किसी शर्त के शामिल हों।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 02, 2021 23:19 IST
Congress hits out at Anand Sharma for his comments on ISF- India TV Hindi
Image Source : PTI कांग्रेस ने आनंद शर्मा को परोक्ष तौर पर आड़े हाथ लेते हुए कहा कि बंगाल में पार्टी का गठबंधन एक धर्मनिरपेक्ष मोर्चा है।

नयी दिल्ली: कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा को परोक्ष तौर पर आड़े हाथ लेते हुए मंगलवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में पार्टी का गठबंधन एक धर्मनिरपेक्ष मोर्चा है जो बीजेपी से लड़ने के लिए बनाया गया है। कांग्रेस ने साथ ही पार्टी में सभी से आग्रह किया कि वे इसमें बिना किसी शर्त के शामिल हों। शर्मा ने पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के साथ गठबंधन की आलोचना की थी। शर्मा ने मुस्लिम धर्मगुरु अब्बास सिद्दीकी के नेतृत्व वाले इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के साथ पार्टी के गठजोड़ की सोमवार को आलोचना करते हुए कहा था कि यह पार्टी की मूल विचारधारा तथा गांधीवादी और नेहरूवादी धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है और पार्टी सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई में चयनात्मक नहीं हो सकती है।

शर्मा की आलोचना के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने बीजेपी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि वह अपने राजनीतिक विरोधियों को सांप्रदायिक करार देकर दुष्प्रचार कर रही है और खुद को धर्मनिरपेक्ष होने का दावा कर रही है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पूरा विचार यह है कि बंगाल में यह एक बड़ा मोर्चा जहां तक संभव हो बीजेपी के खिलाफ एक अच्छा राजनीति मुकाबला देने के लिए है, विशेष तौर पर विकृत राजनीति के खिलाफ और इसलिए हममें से प्रत्येक, मेरे वरिष्ठों, सम्मानित और मूल्यवान सहयोगियों में से हर एक को पूरे दिल से और बिना शर्त इस लड़ाई में शामिल होना चाहिए ताकि बीजेपी के इस दुष्प्रचार का मुकाबला हम मिलकर करें।’’

उन्होंने कहा कि उस मोर्चे की एक पार्टी - माकपा ने अपने कोटे से आईएसएफ को सीटें देने का फैसला किया है। शर्मा ने कोलकाता में एक रैली में आईएसएफ नेता के साथ मंच साझा करने के लिए पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अधीर रंजन चौधरी से सोमवार को स्पष्टीकरण मांगा था जिसके बाद अधीर रंजन चौधरी ने उन पर हमला किया।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा, "हम एक राज्‍य के प्रभारी हैं और कोई भी फैसला बिना अनुमति के नहीं करते हैं।" गौरतलब है कि वाम मोर्चा- गठबंधन में आईएसएफ को भी शामिल किया गया है। कभी मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी रहे फुरफुरा शरीफ दरगाह के मौलाना पीरजादा अब्‍बास सिद्दीकी ने हाल ही में यह पार्टी बनाई है।

अधीर रंजन के बयानों के बाद आनंद शर्मा ने कहा, ''मैंने जो भी कहा है वो मेरी चिंता को व्यक्त करता है क्योंकि हमें कई शंकाएं हैं। हमारा जीवन कांग्रेस के लिए समर्पित रहा है। मैं राजनीतिक संवाद में सभ्यता को महत्व देता हूं। संसद और संसद के बाहर बीजेपी से लड़ने में मेरा रिकॉर्ड है। मुझे कुछ भी स्पष्टीकरण नहीं देना है, सबको पता है मेरे बारे में।'' उन्होंने कहा कि मैंने जो कुछ भी कहा वह सब संगठन के भले के लिए कहा हूं।

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X