Wednesday, July 24, 2024
Advertisement

VIDEO: 'परिवार में 2 नहीं 4 बच्चे होने चाहिए...बुड्ढों का देश ना बन जाए'-RSS प्रचारक का बड़ा बयान

आरएसएस प्रचारक सतीश कुमार ने अजीबोगरीब बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हर परिवार में दो नहीं चार बच्चे होने चाहिए। 2047 तक देश में जवानों की संख्या ज्यादा होनी चाहिए, भारत कहीं बुड्ढों का देश ना बन जाए।

Edited By: Kajal Kumari @lallkajal
Updated on: June 19, 2024 9:38 IST
rss leader amazing statement- India TV Hindi
Image Source : SOCIAL MEDIA आरएसएस नेता का अजीबोगरीब बयान

आरएसएस प्रचारक सतीश कुमार ने अजीबोगरीब बयान दे दिया है। उन्होंने कहा है कि अब  छोटा नही बड़ा सुखी परिवार हो, परिवार में  दो नहीं, 4 बच्चे होने चाहिए। स्वदेशी जागरण मंच के जयपुर प्रान्त कार्यक्रम में सतीश कुमार ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि मैं ये बात रिसर्च के आधार पर बोल रहा हूं।  स्वदेशी संस्थान ने दो बड़े रिसर्च किये हैं, दुनिया के देशों की स्टडी की है। उस हिसाब से  2047 तक देश मे जवानो की संख्या ज्यादा होनी चाहिए। 2027 में हम सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेंगे, इसके लिए जवानों की संख्या बढ़ानी होगी।

...नहीं तो भारत बुड्ढों का देश बन जाएगा

RSS प्रचारक ने कहा कि 2 से 3 बच्चे घर में अच्छे होते हैं। भारत को युवा-गतिमान देश चाहिए, ऐसा ना हुआ तो साल 2047 में भारत बुड्ढों का देश बनकर रह जाएगा। भारत को बुड्ढों का देश नहीं रहना। पहले बोलते थे छोटा परिवार सुखी परिवार, अब हम कहते हैं नहीं, बड़ा परिवार सुखी परिवार। उन्होंने कहा कि ऐसा भी नहीं कि पांच-पांच, छह-छह, सात सात बच्चे होने चाहिए, ये अव्यवहारिक बात है। हमने कहा जो इंटरनेशनल स्टैंडर्ड है-हमारे यहां भी ऐसा ही हो- टू या टू प्लस। यानी दो या तीन बच्चे, घर में रहते अच्छे। घर को रखते अच्छे...देश को रखते अच्छे।

देखें वीडियो

कहा-स्टडी में हुआ है खुलासा

सतीश कुमार ने कहा, इसीलिए पांच छह हों ये मैं नहीं कह रहा हूं। लेकिन दो या तीन ज़रूर हों, कोई चार कर सके तो अच्छा है। ये वैसे नहीं कह रहा हूं, ये काफी सारी रिसर्च करने के बाद और आपको जानकारी दे दूं। हमने दो बड़े रिसर्च पेपर स्वदेशी शोध संस्थान में जनसंख्या पर लाए हैं, दुनिया के एक एक देश की स्टडी कर रहे हैं। जिसका टीएफआर ज्यादा था तब जीडीपी क्या थी। जिसका डाउन हुआ तो जीडीपी डाउन हुई, समय रहता तो पूरी डिटेल बताता।

 

 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement