1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. बदला लेने की धमकी देने वाला तुर्की आया घुटनों पर, अमेरिका से लगाई यह गुहार

बदला लेने की धमकी देने वाला तुर्की आया घुटनों पर, अमेरिका से लगाई यह गुहार

प्रतिबंधों पर वक्त आने पर बदला लेने की धमकी देने वाला तुर्की अब अमेरिका से बातचीत करने की गुहार लगा रहा है। तुर्की के रक्षा मंत्री ने नए अमेरिकी प्रशासन से बातचीत करने और मिसाइल सिस्टम की खरीदारी को लेकर देश पर प्रतिबंध लगाने के निर्णय की समीक्षा करने की अपील की।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 14, 2021 20:42 IST
Turkey urges 'review' of US sanction decision over S-400 defence systems- India TV Hindi
Image Source : PTI प्रतिबंधों पर वक्‍त आने पर बदला लेने की धमकी देने वाला तुर्की अब अमेरिका से बातचीत करने की गुहार लगा रहा है।

अंकारा: रूसी एस-400 मिसाइल सिस्‍टम को लेकर लगाए गए प्रतिबंधों पर वक्‍त आने पर बदला लेने की धमकी देने वाला तुर्की अब अमेरिका से बातचीत करने की गुहार लगा रहा है। तुर्की के रक्षा मंत्री ने नए अमेरिकी प्रशासन से तुर्की के साथ बातचीत करने और एस-400 मिसाइल सिस्‍टम की खरीदारी को लेकर देश पर प्रतिबंध लगाने के निर्णय की समीक्षा करने की अपील की। यह अपील तब की गई है जब अमेरिका ने स्पष्ट कर दिया है कि जब तक तुर्की रूसी रक्षा प्रौद्योगिकी का त्याग नहीं करता तब तक प्रतिबंधों को नहीं हटाया जाएगा। 

जारी है एस-400 की दूसरी खेप हासिल करने पर रूस के साथ बातचीत

बुधवार देर रात पत्रकारों से बात करने के दौरान तुर्की के रक्षा मंत्री हुलुसी अकर से जब पूछा गया कि क्या अमेरिकी दबाव के बीच तुर्की रूसी एस-400 मिसाइल सिस्‍टम को छोड़ने पर विचार करेगा, तो उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि ऐसी नौबत आने से पहले इस मुद्दे का हल हो जाएगा। अकर ने यह भी कहा कि एस-400 की दूसरी खेप हासिल करने पर रूस के साथ बातचीत जारी है। 

पहली बार किया गया नाटो के सहयोगी देश के खिलाफ कानून का इस्तेमाल
दिसंबर में, अमेरिका ने सीएएटीएसए नामक एक अमेरिकी कानून के तहत चार तुर्की अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया, जिसका मकसद रूसी प्रभाव को कम करना है। प्रतिबंध में तुर्की के रक्षा उद्योग के लिए निर्यात लाइसेंस पर प्रतिबंध भी शामिल है। पहली बार कानून का इस्तेमाल नाटो के सहयोगी देश को दंडित करने के लिए किया गया है। 

और गहरा हो गया अमेरिका और तुर्की के बीच के दरार
इन प्रतिबंधों ने अमेरिका और तुर्की के बीच के दरार को और गहरा कर दिया है। दोनों देशों के बीच सीरिया और अन्य जगहों पर तुर्की की सैन्य कार्रवाई समेत कई तरह के मुद्दों पर पहले से कई विवाद हैं। अकर ने कहा, ‘‘इस तरह से चीजों को खराब नहीं करना चाहिए। आइए मिल बैठकर बात करें और समस्या का समाधान करें।’’ हालांकि, अमेरिकी अधिकारियों ने तुर्की के साथ बातचीत की संभावना को खारिज कर दिया है। उन्होंने यह भी कहा है कि प्रतिबंधों को तब तक नहीं हटाया जा सकता जब तक तुर्की की धरती पर रूसी वायु-रक्षा प्रणाली की मौजूदगी है। 

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment