Sunday, May 19, 2024
Advertisement

इस्लामिक चरमपंथियों ने तैयार किया आतंक का नया मॉड्यूल, जर्मनी में आतंकवादी हमले से पहले 4 गिरफ्तार

इस्लामिक चरमपंथियों ने दुनिया के अलग-अलग देशों में आतंकी हमले कराने के लिए नया तरीका खोज निकाला है। खूंखार आतंकवादी अब आतंक के नये मॉड्यूल के रूप में किशोर-किशोरियों की फौज तैयार कर रहे हैं। ताकि इन्हीं के जरिये आतंकी हमला कराया जा सके। जर्मनी में हमले की योजना बनाते ऐसे 4 किशोर गिरफ्तार किए गए हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: April 13, 2024 17:24 IST
जर्मनी पुलिस ने 4 इस्लामी चरमपंथी किशोरों को किया गिरफ्तार।- India TV Hindi
Image Source : AP जर्मनी पुलिस ने 4 इस्लामी चरमपंथी किशोरों को किया गिरफ्तार।

बर्लिनः इस्लामिक कट्टरपंथियों ने आतंकी हमले करने का अब बिलकुल नया तरीका खोज निकाला है। इसके लिए आतंकवादियों ने नया मॉड्यूल तैयार किया है। इसके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। दरअसल इस्लामिक कट्टरपंथियों ने अब विभिन्न देशों में आतंकी हमले कराने के लिए किशोरों की फौज तैयार की है।  जर्मनी में इस्लामिक चरमपंथी हमला करने की योजना बनाने के संदेह में ऐसे ही 4 किशोरों को गिरफ्तार किया गया है। प्राधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। डुसेल्डोर्फ शहर के अभियोजकों ने बताया कि तीन संदिग्धों में 15 और 16 साल की दो लड़कियां तथा 15 साल का लड़का शामिल है जो पश्चिमी नॉर्थ राइन-वेस्टफालिया राज्य के विभिन्न हिस्सों से ताल्लुक रखते हैं।

यह जर्मनी का सबसे घनी आबादी वाला राज्य है। एक अदालत ने ईस्टर सप्ताहांत में उनके लिए वारंट जारी किया था जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। जर्मन समाचार एजेंसी ‘डीपीए’ ने बताया कि चौथा संदिग्ध 16 वर्षीय लड़का है जिसे दक्षिणपश्चिमी बाडेन-वुर्टेमबर्ग राज्य से गिरफ्तार किया गया। अभियोजकों ने एक बयान में कहा कि पश्चिमी जर्मनी में हिरासत में लिए गए तीन लोगों पर खुद को ‘‘इस्लाम से प्रेरित आतंकवादी हमले’’ को अंजाम देने के लिए तैयार घोषित करने और इस तरह के हमले की योजना बनाने का संदेह है। उन्होंने बताया कि वे संदिग्धों की कम उम्र तथा जांच जारी रहने के कारण और जानकारियां नहीं दे सकते हैं।

इस्लामिक स्टेट में शामिल हुई 16 वर्षीय एक लड़की

आतंकियों ने किशोर लड़के और लड़कियों की फौज तैयार करना शुरू किया है। नॉर्थ राइन-वेस्टफालिया के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी एवं राज्य के गृह मंत्री हर्बर्ट रुल ने बताया कि 16 वर्षीय लड़की के जर्मनी छोड़कर इस्लामिक स्टेट में शामिल होने की संदिग्ध योजना का पता लगने के बाद इस मामले की जांच शुरू की गयी। डीपीए ने बताया कि लड़की के मोबाइल फोन में चैट पर उसके गृह नगर इसरलोह्न में गिरजाघरों और सभाओं के साथ ही डोर्टमुंड, डुसेल्डोर्फ या कोलोग्ने में संभावित हमलों के बारे में पता चला जिसके बाद अन्य संदिग्धों को पकड़ा गया। (एपी) 

यह भी पढ़ें

मले की आशंका से हाई अलर्ट पर इजरायल, ईरान के दोस्त रूस ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण कर और बढ़ाई हलचल

दुनिया में बढ़ते तीसरे विश्वयुद्ध के खतरे को लेकर भारत-अमेरिका सतर्क, विदेश सचिव क्वात्रा पहुंचे वाशिंगटन

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement