National Film Awards 2022: ‘सोरारई पोटरु’ के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले सूर्या ने किया था कभी कपड़े की फैक्ट्री में काम, महज 1000 रुपए थी तनख्वाह

National Film Awards 2022: सोरारई पोटरु’ के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले सूर्या को तो आज हर कोई जानता है, लेकिन एक समय ऐसा भी था जब उन्होंने कपड़े की फैक्ट्री में काम किया था।

Poonam Yadav Written By: Poonam Yadav @@R154Poonam
Updated on: July 22, 2022 18:07 IST
सूर्या ने किया था कभी कपड़े की फैक्ट्री में काम- India TV Hindi News
Image Source : INSTAGRAM सूर्या ने किया था कभी कपड़े की फैक्ट्री में काम

Highlights

  • फिल्मों में नहीं आना चाहते थे सूर्या
  • कपड़े की फैक्ट्री में कर चुके हैं काम
  • साल 1997 में किया फिल्मों में डेब्यू

National Film Awards 2022: साउथ फिल्मों के सुपरस्टार सूर्या को फिल्म ‘सोरारई पोट्रु' के लिए बेस्ट एक्टर के नेशनल अवॉर्ड से नवाज़ा गया है ।आज नेशनल फिल्म अवॉर्ड 2022 की घोषण की गई और इस दरम्यान इस फिल्म के लिए सूर्या को बेस्ट एक्टर से नवाज़ा गया है।

अपना मुकाम बनाने के लिए की कड़ी मेहनत

साउथ फिल्मों के सुपरस्टार सूर्या को आज भले ही सोरारई पोटरु’ के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला, लेकिन एक समय था जब उन्हने इस इंडट्री में पहचान बनाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी थी। फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े होने के बावजूद उन्होंने बहुत स्ट्रगल किया है।। सूर्या तमिल एक्टर शिवकुमार के बेटे हैं लेकिन उन्होंने अपने दम पर इंडस्ट्री में पहचान बनाई। 

कपड़ों की फैक्ट्री में किया काम 

सूर्या को फिल्मों में काम करने का ऑफर तकरीबन 20 साल की उम्र में ही मिल गया था। उन्हें 1995 में फिल्म 'असाई' में लीड रोल का ऑफर मिला लेकिन सूर्या को फिल्मों में कोई दिलचस्पी नहीं थी जिस वजह से उन्होंने वह ऑफर ठुकरा दिया। फ़िल्मी दुनिया में कोई ख़ास रूचि नहीं होने के कारण, उन्होंने कपड़े की फैक्ट्री में काम करना शुरू कर दिया था।

Alia Bhatt Spotted: ब्लैक शर्ट में आलिया भट्ट ने छुपाया बेबी बंप, प्रेग्नेंसी में भी काम कर रही हैं नीतू कपूर की बहू

1000 थी पहली कमाई 

जिन दिनों सूर्या कपड़े की फैक्ट्री में काम करते थे, उस दौरान उन्होंने वहां के लोगों से अपनी पहचान छुपाकर रखी कि वह एक्टर शिवकुमार के बेटे हैं। करीब 8 महीने तक उन्होंने कपड़ा फैक्ट्री में काम किया और इस फैक्ट्री में काम के बदले उन्हें एक हजार रुपए हर महीने मिलते थे।

मणिरत्नम की फिल्म से हुई शुरुआत 

साल 1997 में उन्हें उन्हें निर्देशक वसंत की फिल्म 'नेररुक्कू नेर' अप्रोच की गयी । इस फिल्म के प्रोड्यूसर मणिरत्नम थे। मणिरत्नम की वजह से वो इस फिल्म के लिए मना नहीं कर पाए और साउथ इंडस्ट्री में उन्होंने अपना डेब्यू किया। डेब्यू के बाद सूर्या को इस इंडस्ट्री की अहमियत समझ में आयी। फिर उन्होंने साउथ फिल्मों में अपना नाम बनाने के लिए कड़ी मेहनत की और एक लंबा सफर तय किया। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि, 'शुरुआती दिनों में मुझे काफी दिक्कतों का सामना करना पडा। आत्मविश्वास, फाइटिंग और डांसिंग में कमी के चलते फिल्मों में सीन्स के दौरान मुझे काफी परेशानी होती थी। उस दौरान मेरे मेंटर रघुवरन ने मदद की और बताया कि किस तरह से अपने पिता से अलग पहचान बना सकते हैं।

National Film Awards 2022: अजय देवगन और सूर्या को मिला बेस्टर एक्टर का नेशनल अवॉर्ड, इस फिल्म ने मारी बाजी

 

सोरारई पोटरु की कहानी

जिस फिल्म 'सोरारई पोटरु' के लिए सूर्या को अवॉर्ड  मिला है, वो बहुत बड़ी हिट हुई थी। फिल्म साल 2020 में रिलीज़ हुई थी। यह फिल्म लोगों को बहुत पसंद आई। इस फिल्म में एक ऐसे युवा की कहानी दिखाई गयी है, जो अपने सपने को साकार करने के लिए अपना जी जान लगा देता है। 

Latest Bollywood News

navratri-2022