1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. लंग्स के बाद कोरोना का आंखों पर अटैक, स्वामी रामदेव से जानिए आंखों को कैसे रखें स्वस्थ

लंग्स के बाद कोरोना का आंखों पर अटैक, स्वामी रामदेव से जानिए आंखों को कैसे रखें स्वस्थ

आंखों का लाल होना, पानी आना, तेज दर्द या जलन या यूं कहें कंजेक्टिवाइटिस.. कोरोना के लक्षण हो सकते हैं।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: April 26, 2021 13:23 IST
yoga for eyes coronavirus new symptoms- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV लंग्स के बाद कोरोना का आंखों पर अटैक, स्वामी रामदेव से जानिए आंखों को कैसे रखें स्वस्थ 
आंखें हमारे शरीर का सबसे नाजुक अंग है, लेकिन लंग्स, हार्ट, किडनी और पेट के बाद अब कोरोना आंखों पर भी अटैक कर रहा है। दरअसल, बुखार, खांसी, सांस में तकलीफ के साथ-साथ कोरोना के नए स्ट्रेन के लक्षण अब आंखों पर भी नज़र आने लगे हैं। इसका आंखों पर बुरा असर पड़ रहा है। 
 
आंखों का लाल होना, पानी आना, तेज दर्द या जलन या यूं कहें कंजेक्टिवाइटिस.. कोरोना के लक्षण हो सकते हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, मुंह और नाक की तरह ही आंख में भी कोरोना के वायरस का गेटवे है, जिसके जरिए वायरस शरीर में एंट्री कर सकता है। इसी की वजह से कई कोरोना मरीजों की आंखों में तकलीफ पाई गई है। 
 
 
 
इतना ही नहीं, कोरोना का खतरनाक वायरस आंखों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन कर रहा है, जिससे आंखों में सूजन और घुंघलेपन की शिकायत भी आ रही है। वहीं, कई मरीजों की आंखों की रोशनी भी पूरी तरह से खत्म हो गई, ये भी शिकायत देखने को मिली है। ऐसे में कोरोना के कहर के बीच आंखों को हेल्दी रखना बहुत जरूरी है। साथ ही कोरोना से बचने के और भी उपाय हैं, जिनके बारे में स्वामी रामदेव ने बताया है। 
 
कोरोना के लक्षण:
 
  1. बुखार
  2. खांसी
  3. सीने में दर्द
  4. सांस में तकलीफ
  5. थकान
  6. बदन दर्द
  7. पेट में दर्द
  8. डायरिया
  9. सिर में दर्द
  10. त्वचा में रैशेज
 
आंखों में कोरोना के लक्षण:
 
  • लाल होना
  • दर्द होना
  • जलन
  • पानी आना 
 
कोरोना से फंगल इंफेक्शन:
 
  • ब्लैक फंगल
  • धुंधलापन
  • कमजोर नज़र 
 
आंखों के लिए योगाभ्यास:
 
  1. भुजंगासन
  2. सर्वांगासन
  3. योगमुद्रासन
  4. शशकासन
  5. गोमुखासन
  6. उत्तानपादासन
  7. पवनमुक्तासन
  8. नौकासन
  9. सेतुबंधासन
  10. मंडूकासन
 
सर्वांगासन के फायदे:
 
  • तनाव और चिंता से मुक्ति मिलती है। 
  • एकाग्रता बढ़ती है।
  • याद की हुई चीजें भूलते नहीं।
 
हलासन के फायदे:
 
  • दिमाग शांत होता है। 
  • थायराइड की बीमारी ठीक होती है। 
  • स्ट्रेस और थकान मिटाता है। 
 
मस्त्यासन के फायदे:
 
  • गर्दन की मसल्स में खिंचाव आता है। 
  • गर्दन की मसल्स मजबूत होती हैं।
  • थायराइड की परेशानी दूर होती है।
  • कमर दर्द की परेशानी ठीक होती है। 
 
शशकासन के फायदे:
 
  • डायबिटीज और बीपी कंट्रोल होता है। 
  • तनाव और चिंता दूर होती है।
  • चिड़चिड़ापन दूर करता है।
  • लिवर और किडनी के रोग दूर होते हैं।
 
योगमुद्रासन के फायदे:
 
  • कब्ज की समस्या दूर होती है। 
  • गैस से छुटकारा मिलता है।
  • पाचन की परेशानी दूर होती है।
 
प्राणायाम से पेट परफेक्ट:
 
  1. अनुलोम विलोम
  2. कपालभाति
  3. भस्त्रिका
  4. भ्रामरी
  5. उज्जायी
  6. उद्गीथ
 
अनुलोम विलोम के फायदे:
 
  • नाक और सीने की समस्या दूर होती है। 
  • तनाव और चिंता दूर होती है।
  • वजन घटाने के लिए बहुत कारगर है।
  • दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है।
  • अस्थमा के रोग को दूर करता है। 
 
भस्त्रिका के फायदे:
 
  • नाक और सीने की समस्या दूर होती है। 
  • तनाव और चिंता दूर होती है।
  • वजन घटाने के लिए बहुत कारगर है।
  • दिल को स्वस्थ रखता है।
 
उज्जायी प्राणायाम के फायदे:
 
  • दिमाग को शांत करता है। 
  • शरीर में गर्माहट आती है।
  • ध्यान लगाने की क्षमता बढ़ती है।
  • दिल के रोगों में फायदेमंद है। 
 
हलासन के फायदे:
 
  • दिमाग शांत होता है।
  • थायराइड की बीमारी ठीक होती है।
  • स्ट्रेस और थकान मिटाता है।
  • रीढ़ की हड्डी में खिंचाव आता है।
  • डायबिटीज कंट्रोल होती है। 
 
चक्की आसन के फायदे:
 
  • अच्छी नींद में फायदेमंद है। 
  • पीठ की अच्छी एक्सरसाइज है। 
  • तनाव कम करने में कारगर है। 
  • पेट कम करने में मददगार है। 
 
कपालभाति के फायदे:
 
  • बंद सांस नली खुल जाती है।
  • सांस लेना आसान हो जाता है।
  • नर्व मजबूत बनते हैं।
  • शरीर के ब्लड फ्लो में सुधार होता है। 
 
त्राटक क्रिया:
 
त्राटक क्रिया बिंदू, तारा, सूर्य, चंद्रमा, दीपक और मोमबत्ती आदि पर किया जाता है, लेकिन आप दीपक से इसकी शुरुआत करें। सबसे पहले एक एकांत और शांत जगह चुने। इसके बाद आंखों के बिल्कुल सामने थोड़ी दूर दीपक रखें। किसी भी आसन में आराम से बैठ जाएं। सिर, गर्दन, पीठ को सीधा रखें। अंधेरे में ध्यान की मुद्रा केंद्रित करें। आंखों को बराबर दीपक में लाएं। दीपक की रोशनी में ध्यान दें। इसे तब तक देखते रहें जब तक आपकी आंखे थक न जाए। पलक न झपकने दें। इसके बाद आंखे बंद कर लें। फिर अपनी आंखों को ठंडे पानी से धो लें। इसे आप रोजाना या सप्ताह में 1-2 बार कर सकते हैं। 
 
त्राटक करने के स्वास्थ्य लाभ:
 
  • नकारात्मक विचारों से मुक्ति मिलती है। 
  • एकाग्रता बढ़ती है। 
  • गुस्सा कम आने में करे मदद। 
  • खोई हुई रोशनी वापस लाए
  • मानसिक शांति मिलती है। 
  • सिरदर्द, माइग्रेन आदि से निजात मिलता है। 
  • अनिद्रा की शिकायत खत्म होती है।
  • आंखों की रोशनी तेज होती है। 
  • मस्तिष्क की कार्यक्षमता में वृद्धि होती है।
 
थकान कमजोरी दूर करने के लिए करें ये काम:
 
  • सुबह-सुबह जड़ी बूटियों का रस फायदेमंद। 
  • लौकी, गाजर, चुकंदर, पालक, और टमाटर का सूप पिएं। 
  • बादाम, अखरोट, मुनक्का, अंजीर और खजूर- रात में भिगोकर सुबह सिलबट्टे पर पीस लें। 
  • दूध में मिलाकर रोजाना पीने से ताकत मिलेगी। 
  • तिल, नारियल, सोया, बादाम और अखरोट फायदेमंद। 
  • अनार, पपीता, सेब और मौसमी फल खाने से लाभ। 
  • आंवला, एलोवेरा, व्हीटग्रास, गिलोय और तुलसी लें। 
 
मसल्स-बॉडी पेन के लिए:
 
  • अश्वगंधा, शतावर, सफेद मुसली, कोच-बला बीज। 
  • सबका पाउडर बना लें।
  • 1-1 ग्राम रोजाना लें।
  • स्पृलुना कैप्सूल भी थकान-दर्द में लाभदायक है। 
  • चंद्रप्रभा और ऑर्थोग्रीट का सेवन करें। 
 
तेज बुखार:
 
  • कोरोना संक्रमण के दौरान बुखार में गिलोय घनवटी, सुदर्शन घनवटी और ज्वरनाशकवटी फायदेमंद है। 
  • खाने के बाद एक-एक गोली तीन बार लें। 
 
त्रिफला के लाभ:
 
  • इसमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। 
  • एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं।
  • रोज सुबह त्रिफला का जूस पिएं।
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है। 
 
इम्युनिटी के लिए:
 
  • गिलोय, तुलसी, अश्वगंधा 
  • खाने के बाद 1-1 गोली लें। 
  • खाली पेट श्वसारी वटी 1 गोली सुबह-शाम लें। 
 
गोल्डन मिल्क:
 
  • दूध में हल्दी डालकर उबालें। 
  • रात में सोने से पहले पिएं।
  • इम्युनिटी को बढ़ाता है।
Click Mania
Modi Us Visit 2021