1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. सौरव गांगुली पर राजनीति में आने का दबाव था: माकपा नेता

सौरव गांगुली पर राजनीति में आने का दबाव था: माकपा नेता

भट्टाचार्य अस्पताल में गांगुली का हालचाल जानने पहुंचे थे। उन्होंने कहा, ‘‘हमें उन पर दबाव (राजनीति में आने के लिए) नहीं डालना चाहिए। मैंने पिछले सप्ताह उन्हें कहा था कि उन्हें राजनीति में नहीं आना चाहिए और उन्होंने मेरे विचारों को खारिज नहीं किया था।’’

Bhasha Bhasha
Updated on: January 04, 2021 9:33 IST
Sourav Ganguly was under pressure to enter politics says CPI (M) leader सौरव गांगुली पर राजनीति में - India TV Hindi
Image Source : TWITTER/ICC Sourav Ganguly was under pressure to enter politics says CPI (M) leader सौरव गांगुली पर राजनीति में आने का दबाव था: माकपा नेता

कोलकाता. माकपा के वरिष्ठ नेता अशोक भट्टाचार्य ने कहा है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली पर राजनीति में आने का दबाव था। भट्टाचार्य के इस बयान से रविवार को विवाद खड़ा हो गया। शनिवार को गांगुली को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ऐसी अटकलें थीं कि पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी इस साल अप्रैल-मई में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल होंगे। हालांकि गांगुली ने राजनीति में आने को लेकर अपनी मंशा कभी स्पष्ट नहीं की।

पढ़ें- गाजियाबाद श्मशान हादसा: अबतक तीन गिरफ्तार, ठेकेदार फरार, 24 लोगों की मौत

शनिवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद गांगुली की एंजियोप्लास्टी की गयी। कोलकाता के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। गांगुली के लंबे समय से पारिवारिक मित्र रहे भट्टाचार्य ने कहा, ‘‘कुछ लोग गांगुली का राजनीतिक रूप से इस्तेमाल करना चाहते हैं। संभवत: इससे वह दबाव में थे। वह राजनीतिक मिजाज के नहीं हैं। उन्हें एक बेहतरीन खिलाड़ी के तौर पर जाना जाए।’’

पढ़ें- इस्लामी आतंकवादियों का तांडव! 2 साथियों की मौत का बदला लेने के लिए कर दी 100 गांव वालों की हत्या

भट्टाचार्य अस्पताल में गांगुली का हालचाल जानने पहुंचे थे। उन्होंने कहा, ‘‘हमें उन पर दबाव (राजनीति में आने के लिए) नहीं डालना चाहिए। मैंने पिछले सप्ताह उन्हें कहा था कि उन्हें राजनीति में नहीं आना चाहिए और उन्होंने मेरे विचारों को खारिज नहीं किया था।’’ राज्य के पूर्व मंत्री के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘‘कुछ लोग अपनी तुच्छ मानसिकता के कारण हर चीज में राजनीति देखते हैं। गांगुली के लाखों प्रशंसकों की तरह हमलोग भी उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं।’’

पढ़ें- अगले दो घंटे में इन इलाकों में हो सकती है बारिश, मौसम विभाग ने जताया अनुमान

तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्य में मंत्री शोभनदेव भट्टाचार्य ने कहा, ‘‘सौरव गांगुली को पार्टी (तृणमूल कांग्रेस) में लाने के लिए कभी प्रयास नहीं किया गया। एक उम्दा खिलाड़ी के रूप में हमें उन पर गर्व है।’’

पढ़ें- क्या आज बन जाएगी सरकार और किसानों के बीच बात?

तृणमूल कांग्रेस के नेता ने भी अस्पताल जाकर गांगुली से मुलाकात की थी। गांगुली के साथ खेल चुके पूर्व खिलाड़ी और राज्य में मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला, दिवंगत बीसीसीआई अध्यक्ष जगनमोहन डालमिया की बेटी तृणमूल विधायक वैशाली डालमिया, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई अन्य लोग गांगुली से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी शनिवार को अस्पताल जाकर गांगुली का हालचाल जाना। गांगुली ने पिछले सप्ताह राजभवन में राज्यपाल से शिष्टाचार भेंट की थी। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X