1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. फैशन और सौंदर्य
  5. 'कम नहाओ, खूबसूरत बनो'

'कम नहाओ, खूबसूरत बनो'

कम नहाकर भी खूबसूरत बना जा सकता है। हर रोज नहाना जरूरी नहीं है।

India TV Lifestyle Desk Written by: India TV Lifestyle Desk
Published on: April 19, 2022 9:36 IST
less bath- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK कम नहाओ, खूबसूरत बनो

बचपन से हम सुनते आ रहे हैं- ''रोज नहाओ साफ रहो, अच्छे अपने आप रहो।'' लेकिन क्या हो अगर कोई आपसे कहे कि बिना नहाए आपकी स्किन और भी खूबसूरत हो सकती है। जर्मनी के एक लेटेस्ट आर्टिकल में ये बात कही गई है कि "स्किप अ शॉवर, इम्प्रूव योर स्किन माइक्रोबायोम" - यह शनिवार को जर्मनी के बिल्ड अखबार द्वारा प्रकाशित लेटेस्ट आर्टिकल का टेकअवे है। जिसमें कम नहाने के कथित स्वास्थ्य लाभों को बढ़ावा दिया गया है, ये आर्टिकल ऐसे समय में आया है जब देश में सभी रूसी ऊर्जा आयातों पर कुल प्रतिबंध की संभावना पर चर्चा हो रही है।

चिलचिलाती धूप में निकलने से पहले फॉलो करें ये टिप्स कभी नहीं होगा त्वचा को नुकसान

टाइटल में लिखा है कि 'शरीर के ये 4 अंग धो लें बहुत है- बाकी त्वचा खुद को साफ करती है', लेख जर्मनी के अर्थव्यवस्था मंत्री रॉबर्ट हेबेक की हालिया सलाह का हवाला देते हुए शुरू होता है, जिन्होंने अपने साथी देशवासियों और महिलाओं को रूसी ऊर्जा पर निर्भरता कम करने में मदद करने के लिए उनके हीटिंग, सौना और शॉवर कम करने की गुजारिश की। दावा है कि ये स्वच्छता संबंधी बलिदान न केवल देश के लिए अच्छा है, बल्कि लोगों की त्वचा में भी सुधार ला सकते हैं।

कम नहाने के मामले को, पत्रकारों ने त्वचा विशेषज्ञ येल एडलर से डिस्कस किया।

सिर्फ फेफड़े खराब ही नहीं, सिगरेट पीने से है इन जानवेला बीमारियों का खतरा, जानिए कैसे छुड़ाएं ये बुरी आदत

लेख बताता है कि त्वचा में रहने वाले कुछ बैक्टीरिया फायदेमंद होते हुए भी आमतौर पर कम मात्रा में मौजूद होते हैं। कोई व्यक्ति अगर नियमित स्नान करता है तो अच्छे बैक्टीरिया भी खत्म हो जाते हैं। अगर आप हर रोज नहीं नहाएंगे तो अच्छे बैक्टीरिया को "बढ़ने का मौका" मिलता है। इस तरह, स्किन खुद को साफ करती है।"

स्किन स्पेशलिस्ट ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है "तीन सप्ताह के बाद गंध गायब हो जाती है और त्वचा एक तरह की स्व-सफाई प्रक्रिया शुरू कर देती है।" डॉ एडलर ने बताया कि "इन अच्छे जीवाणुओं के पास केवल तभी मौका होता है जब त्वचा को कम से कम तीन सप्ताह का आराम मिलता है"।

पैरों पर दिख रहे हैं ये बदलाव तो तुरंत डॉक्टर से करें संपर्क हो सकते हैं इस खतरनाक बीमारी के संकेत

त्वचा विशेषज्ञ ने सुझाव दिया कि साबुन या शैम्पू के बिना कभी-कभी स्नान नाजुक त्वचा माइक्रोबायम को भी बर्बाद नहीं करेगा।

"लेस इज मोर" एडलर ने समझाया।

अपने पूरे शरीर को पानी से डुबाने के बजाय, लेख जर्मनों को निम्नलिखित चार भागों पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह देता है: नीचे, बगल, पैर और कमर, क्योंकि ये मानव शरीर के सबसे गंध वाले क्षेत्र हैं। हाथ एक और प्रमुख अपवाद हैं, त्वचा विशेषज्ञ ने कहा, बाथरूम जाने के बाद या भोजन से पहले उन्हें अच्छी तरह से धोना अभी भी महत्वपूर्ण है।

एडलर ने तर्क दिया कि अत्यधिक स्नान और अत्यधिक साबुन के उपयोग के कारण होने वाली त्वचा की सभी प्रॉब्लम को कम नहाकर और कम साबुन का प्रयोग करक 20% तक ठीक किया जा सकता है।