1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. वास्तु टिप्स: बच्चे के स्टडी रूम में कराएं इस कलर का पेंट, लगेगा पढ़ाई में मन

वास्तु टिप्स: बच्चे के स्टडी रूम में कराएं इस कलर का पेंट, लगेगा पढ़ाई में मन

अगर आपका बच्चा पढ़ाई को लेकर कॉन्सनट्रेट नहीं है तो जरूरत है बदलाव की, उनके पढ़ाई के कमरे में। कुछ चीज़ें हैं जिनमें बदलाव करके आप अपने बच्चे की मदद कर सकते हैं।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: June 06, 2020 10:56 IST
स्टडी रूम- India TV Hindi
Image Source : INSTRAGRAM/PERSPEQT स्टडी रूम

वास्तु शास्त्र में आज आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए बच्चों के कमरे के बारे में। अगर आपका बच्चा पढ़ाई को लेकर कॉन्सन्ट्रेट नहीं है तो जरूरत है बदलाव की, उनके पढ़ाई के कमरे में। कुछ चीज़ें हैं जिनमें बदलाव करके आप अपने बच्चे की मदद कर सकते हैं। 

पहली बात तो ये कि बच्चों के सोने का और पढ़ाई का कमरा अलग-अलग होना चाहिए। स्टडी रूम में सबसे पहले डेकोरेशन का पूरा ख्याल रखना चाहिए। जिससे बच्चे का पढ़ने में मन लगा रहे। कमरे में कलर बैलेंस ठीक होना चाहिए। 

वास्तु टिप्स: कभी भी दीपक, मोमबत्ती या माचिस की तीलियां इस तरह न बुझाएं, जानें कारण

ज्यादा चमकदार और भड़कीला रंग स्टडी रूम के लिये ठीक नहीं है। कलर ब्राइट हो, लेकिन लाइट भी होना चाहिए। जैसे निंबूआ कलर या फिर सफेद और क्रीम रंग का पेंट करवाएं। छत पर भी सफेद या क्रीम कलर ही करवाएं। इससे कमरे का माहौल अच्छा बना रहेगा।

वास्तु टिप्स: घर में उत्तर दिशा में ही लगाएं भगवान शिव की फोटो, इस तरह की तस्वीर कभी न रखें 

याददाश्त और एकाग्रता बढ़ाने के लिए करें ये योगासन

वास्तु के अलावा अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे की एक्रागता के साथ उसका दिमाग तेज हो तो आप योग की मदद ले सकते हैं। स्वामी रामदेव के अनुसार रोजाना योग करने से बच्चों की एक्रगता बढ़ने के साथ उनका शरीर एनर्जी से भरपूर रहेगा। 

शीर्षासन- बच्चों रोजाना कम से कम 1 मिनट करें। इससे आपकी मेमोरी , आईक्यू लेवल बढ़ता है। ये आंखों के लिए भी अच्छा माना जाता है। इस आसन को करने से बालों जुड़ी समस्या से निजात मिलता है। 

सर्वांगासन- अगर बच्चा शीर्षासन नहीं कर पा रहा है तो सर्वांगासन कर सकता हैं। इसके भी शीर्षासन जैसे ही लाभ मिलते हैं।

चक्रासन- इस आसन को करने से वजन कम होने के साथ-साथ फुल बॉडी एक्सरसाइज होती है। इस आसन को नियमित रूप से करने से  बच्चों की हाइट बढ़ाने के साथ आंखों की रोशनी तेज होती है।

पश्चिमोत्तासन- इस आसन को करने से शरीर हेल्दी रहने के साथ फूर्तिला रहता है। इसके अलावा इस आसन को करने से किडनी की समस्या, हड्डियों के दर्द की समस्या से छुटकारा मिलने के साथ हाइट बढ़ाने में मदद करता है। 

सिर दर्द और दांतों के दर्द को छूमंतर कर देगा ये आयुर्वेदिक तेल, जानिए घर पर इसे कैसे बनाएं 

वृक्षासन- इस आसन को करने से कॉन्सट्रेशन बढ़ता है, शरीर को लचीला बनाने के साथ दिमाग को एकाग्र करता है। पैरों की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

हलासन- इस आसन को ये नाम किसान के हल के समान आकृति होने के कारण मिला है, जो मिट्टी को खेती से पहले खोदने के काम आता है  इस आसन को करने बच्चों की हाइट बढ़ती हैं। इसके साथ ही पूरा शरीर लचीला बनता है। 

गरुड़ासन- इस आसन को करने से फ्लैट लेग की समस्या ठीक हो जाती है। बच्चों की एक्रागता बढ़ती है। इसके साथ ही  दोनों घुटनों के बीच गैप बनता है।

पादहस्तासन- इस आसन को करे से सिर में रक्त संचार बढ़ता है। जिससे दिमाग तेजी से काम करता है। 

नटराजासन- इस आसन को करने से बॉडी और दिमाग का बैलेंस बनता है। जिससे बच्चा एकाग्र होने के साथ तेज होता है। 

 
पक्षी आसन- इस आसन को करने से पूरे शरीर का ठीक से बैलेंस बनता है। 

दंड बैठक- अगर किसी युवा को एलर्जी की समस्या हैं तो कम से कम 5 मिनट रोजाना दंड बैठक करें। 

साधारण दंड- इसे भी लंबी-लंबी सांस के साथ 25-50 बार कर सकते हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment