पश्चिम बंगाल में भाजपा को तृणमूल के मुकाबले तीन गुना डाक मत मिले

चुनाव आयोग के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि राज्य सरकार के कर्मचारियों ने तृणमूल की तुलना में भाजपा को तरजीह दिया है। उल्लेखनीय है कि तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनकी तुलना भौंकने वालों से की थी।  चुनाव ड्यूटी में तैनात सुरक्षाकर्मी और राज्य सरकार के कर्मचारी अपने मत डाक मतपत्रों से देते हैं।

Bhasha Reported by: Bhasha
Published on: May 24, 2019 22:45 IST
भाजपा को तृणमूल के...- India TV Hindi News
Image Source : PTI भाजपा को तृणमूल के मुकाबले तीन गुना डाक मत मिले

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 303 सीटें जीत लीं। पश्चिम बंगाल में भाजपा ने अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की। पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी को 40.25 फीसदी वोट मिला। इस बार पश्चिम बंगाल में भाजपा को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की अपेक्षा तीन गुना डाक मत मिले हैं। 

चुनाव आयोग के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि राज्य सरकार के कर्मचारियों ने तृणमूल की तुलना में भाजपा को तरजीह दिया है। उल्लेखनीय है कि तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनकी तुलना भौंकने वालों से की थी।  चुनाव ड्यूटी में तैनात सुरक्षाकर्मी और राज्य सरकार के कर्मचारी अपने मत डाक मतपत्रों से देते हैं। 

भाजपा को डाक मतपत्रों के माध्यम से 73,541 मत मिले जबकि तृणमूल को केवल 25,793 वोट मिले। वाम मोर्चे को लगभग 7,377 मत मिले वहीं कांग्रेस को लगभग 5,770 मत मिले। नोटा के पक्ष में 5,143 मत पड़े। प्रदेश भाजपा के नेता कालीचरण शॉ ने कहा कि यह अपेक्षा के अनुरूप है। राज्य में सुरक्षाकर्मियों ने भाजपा को वोट दिया है। राज्य सरकार के कर्मचारी महंगाई भत्ते के मुद्दे पर लंबे समय से परेशान हैं। ममता ने सितंबर 2017 में राज्य सरकार के कर्मचारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कर्मचारियों की आलोचना की थी। 

raju-srivastava