ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. इलेक्‍शन न्‍यूज
  5. उम्मीदवारों की पहली लिस्ट से साफ है, बीजेपी महिलाओं की हितैषी नहीं: आराधना मिश्रा

उम्मीदवारों की पहली लिस्ट से साफ है, बीजेपी महिलाओं की हितैषी नहीं: आराधना मिश्रा

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों में से 107 के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची शनिवार को जारी की जिसमें 10 महिलाओं को टिकट मिला है।

Vineet Kumar Singh	Edited by: Vineet Kumar Singh @JournoVineet
Published on: January 15, 2022 21:02 IST
Aradhana Misra, Aradhana Misra Congress, Aradhana Misra BJP List- India TV Hindi
Image Source : FACEBOOK.COM/ARADHANAMISRAOFFICIAL कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा 'मोना' ने बीजेपी पर महिला विरोधी होने का आरोप लगाया।

Highlights

  • आराधना मिश्रा 'मोना' ने कहा कि बीजेपी हमेशा से महिला विरोधी राजनीति करती रही है।
  • कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि बीजेपी कभी भी महिलाओं का हित नहीं साध सकती।
  • कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी की लिस्ट में सिर्फ रसूखदार महिलाओं को ही जगह मिली है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस दल की नेता आराधना मिश्रा 'मोना' ने राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर महिला विरोधी होने का आरोप लगाया। मिश्रा ने शनिवार को कहा कि बीजेपी हमेशा से महिला विरोधी राजनीति करती रही है और वह कभी भी महिलाओं का हित नहीं साध सकती। उन्होंने कहा कि यह बात उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए जारी बीजेपी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट से साफ जाहिर है। मिश्रा ने कहा कि बीजेपी की लिस्ट में सिर्फ रसूखदार महिलाओं को ही जगह मिली है।

‘बीजेपी हमेशा से महिला विरोधी राजनीति करती रही है’

मिश्रा ने जारी एक बयान में कहा, ‘बीजेपी हमेशा से महिला विरोधी राजनीति करती रही है, जबकि कांग्रेस पार्टी महिलाओं के सम्मान, सुरक्षा के लिए हमेशा साथ खड़ी रही है और उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार के हर दमनकारी नीति का मुखर विरोध किया है। बीजेपी की सरकार कभी भी महिलाओं का हित नहीं साध सकती, यह बात उसकी विधानसभा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट से साफ जाहिर हो रही है।' बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों में से 107 के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची शनिवार को जारी की जिसमें 10 महिलाओं को टिकट मिला है और 4 महिला विधायकों के टिकट काट दिए हैं।

‘अभियान का मूल उद्देश्य महिलाओं का सशक्तिकरण’
मिश्रा ने अपने बयान में आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी की सूची में सिर्फ रसूखदार महिलाओं को जगह मिली है जबकि कांग्रेस पार्टी ने न सिर्फ अपनी 40 प्रतिशत सीटें महिलाओं को देने की प्रतिज्ञा पूरी की है, बल्कि अपनी पहली सूची में असमानता, अन्याय के खिलाफ संघर्ष कर रही महिलाओं को विधानसभा में चुनकर आने और अपनी बात को पूरे प्रदेश के सामने प्रमुखता से रखने का मौका दिया है। उन्होंने कहा कि ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ अभियान की शुरुआत से ही बीजेपी वाले इस पर हमले कर रहे हैं, क्योंकि इस अभियान का मूल उद्देश्य महिलाओं का सशक्तिकरण है। (भाषा)

elections-2022